News Nation Logo
Banner

तबलीगी जमात को लेकर तसलीमा नसरीन ने किया चौंकाने वाला दावा, कहा 'आतंक के साथ अप्रत्यक्ष संबंध'

तस्लीमा नसरीन ने ट्वीट कर कहा तब्लीगी जमात एक इस्लामी कट्टरपंथी आंदोलन है. 1926 में हरियाण के मेवात से शुरू हुआ. 150 देशों के 80 मिलियन मुसलमान जमात में भाग लेते हैं. उजबेकिस्तान, ताजिकिस्तान, कज़खस्तान ने इस पर प्रतिबंध लगा रखा है. जमात का आतंक के साथ कुछ अप्रत्यक्ष संबंध है.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 31 Mar 2020, 08:20:43 PM
Taslima Nasreen

तसलीमा नसरीन। (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

मंगलवार को दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन दरगाह कैंपस से तबलीगी जमात के करीब के करीब 200 कार्यकर्ताओं को क्वारंटीन किया गया है. ये सभी लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकते हैं. देश में एक पक्ष जमात के समर्थन में तो वहीं एक पक्ष जमात के विरोध में दिख रहा है. अब तस्लीमा नसरीन ने एक ट्वीट कर तब्लीगी जमात पर बड़ा आरोप लगाए हैं. नसरीन ने तबलीगी जमात के आतंकियों से अप्रत्यक्ष संबंध होने की बात कही है.

तस्लीमा नसरीन ने ट्वीट कर कहा 'तब्लीगी जमात एक इस्लामी कट्टरपंथी आंदोलन है. यह 1926 में हरियाण के मेवात से शुरू हुआ. 150 देशों के 8 करोड़ मुसलमान जमात में भाग लेते हैं. उजबेकिस्तान, ताजिकिस्तान, कज़खस्तान ने इस पर प्रतिबंध लगा रखा है. जमात का आतंक के साथ कुछ अप्रत्यक्ष संबंध है.'

वीजा की होगी जांच

आमतौर पर, भारत आने वाले तब्लीग़ जमात से जुड़े सभी विदेशी नागरिक पर्यटक वीजा पर आते हैं. गृह मंत्रालय द्वारा पूर्व में जारी दिशा-निर्देश के अनुसार जमात के इन विदेशी कार्यकर्ताओं को पर्यटक वीजा पर मिशनरी काम में शामिल नहीं होना चाहिए. इस संबंध में सभी राज्य पुलिस इन सभी विदेशी जमात कार्यकर्ताओं के वीजा की श्रेणियों की जांच करेगी और वीजा शर्तों के उल्लंघन के मामले में आगे की कार्रवाई करेगी.

First Published : 31 Mar 2020, 07:02:14 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×