News Nation Logo

Surya Grahan: देश में दिखा सूर्य ग्रहण, 27 साल बाद आया ये बड़ा मौका

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Saxena | Updated on: 25 Oct 2022, 06:53:42 PM
solar eclipse

solar eclipse (Photo Credit: @ani)

highlights

  • देश भर में आंशिक सूर्यग्रहण
  • देश के बड़े हिस्से में दिखा सूर्यग्रहण
  • यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने देखा सूर्यग्रहण

नई दिल्ली:  

देश में इस वर्ष का अंतिम सूर्यग्रहण लग गया है. भारत में यह एक तरह का आंशिक सूर्य ग्रहण है. यह सूर्य ग्रहण यूपी-बिहार, दिल्ली, बेंगलूरु, उज्जैन, कोलकाता सहित देश के कई शहरों में देखा गया. भारत के साथ ये यूरोप के कई देशों में भी दिखा. इसमें उत्तरी अफ्रीका, मध्य एशिया और एशिया के अन्य क्षेत्र हैं. आज के सूर्य ग्रहण का सूतक काल प्रात: 03 बजकर 17 मिनट से आरंभ हुआ. सूर्य ग्रहण के समापन के साथ ही सूतक काल का भी अंत हो गया. जानकारी के मुताबिक, सूर्य ग्रहण शाम 04:28 बजे से शुरू हुआ. और इसका समापन शाम करीब 6 बजे तक हो गया. इस बार सूर्य ग्रहण का कुल समय करीब 1 घंटे 40 मिनट रहा.

भारत के अलग-अलग हिस्सों में सूर्यग्रहण दिया. अमृतसर से लेकर दिल्ली, कोलकाता, नागपुर, मुंबई, बेंगलुरु जैसे शहरों में सूर्य ग्रहण दिया. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजधानी लखनऊ में सूर्यग्रहण देखा. उन्होंने कहा कि यह ब्रह्मांड की अद्भुत घटनाओं में से एक है. अमावस्या और पूर्णिमा के दिन ग्रहण की जो प्रवृति रही है उसी के क्रम में अमावस्या के अवसर पर आज सूर्य ग्रहण की घटना को देखने का एक अवसर प्राप्त हुआ है.

भुवनेश्वर, उड़ीसा में आंशिक सूर्य ग्रहण

भारत के भुवनेश्वर, उड़ीसा में आंशिक सूर्य ग्रहण दिखाई दिया. इसकी कुछ तस्वीरें सामने आई हैं. 


हरियाणा कुरुक्षेत्र में आंशिक सूर्य ग्रहण

अमृतसर, दिल्ली के बाद हरियाणा कुरुक्षेत्र में भी आंशिक सूर्य ग्रहण देखा गया. सूर्य ग्रहण के दौरान श्रद्धालुओं ने नदियों में डुबकी भी लगाई. ऐसा कहा जाता है कि ग्रहण के वक्त पवित्र नदियों में स्नान करना शुभ माना जाता है.


भारत के अधिकांश हिस्सों में दिखाई दिया सूर्य ग्रहण

दिल्ली में आंशिक सूर्य ग्रहण दिखाई दे रहा है. ये पूर्वोत्तर के कुछ हिस्सों को छोड़कर भारत के अधिकांश हिस्सों में दिखाई  दिया.


 


27 साल बाद दिपावली के बाद पड़ रहा

यह सूर्य ग्रहण 27 साल बाद दिपावली के बाद पड़ रहा है. दिल्ली, अमृतसर, कुरुक्षेत्र, हरिद्वार आदि कई शहरों में सूर्य ग्रहण दिखाई दिया.  


ग्रहण काल में भी भक्तों के दर्शन के लिए खुला मंदिर

गुजरात के शामलाजी में भगवान विष्णु मंदिर एकमात्र ऐसा मंदिर है जो ग्रहण काल ​​के दौरान भक्तों के दर्शन के लिए खुला रहता है। दीपावली और नए वर्ष में आज ग्रहण काल ​​में मंदिर भक्तों के दर्शन के लिए खुला रहता है। यह खुला रहेगा ताकि भक्त भगवान के सामने बैठकर मंत्र का जाप कर सकें। ग्रहण के दौरान भगवान सनमुख बैठकर मंत्र के जाप का विशेष महत्व होता है। ऐसा कहा जाता है कि ग्रहण के दौरान मंत्र का जाप  करने से 100 गुना फल प्राप्त होता है। ग्रहण शाम 4.35 बजे आरंभ होगा। ग्रहण मोक्ष शाम 6.26 बजे होगा। ग्रहण का कुल समय 1 घंटा 54 मिनट तक होगा। 

सभी मंदिरों के कपाट बंद कर दिए गए

सूर्य ग्रहण के सूतक काल के कारण धर्म नगरी काशी के सभी मंदिरों के कपाट बंद कर दिए गए है अब जब ग्रहण समाप्त होगा और मोक्ष काल के बाद स्नान दान के पश्चात शुद्धि के बाद मंदिरों के कपाट फिर खोले जाएंगे. 

First Published : 25 Oct 2022, 03:59:44 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.