News Nation Logo
Banner

फिल्म 'पद्मावत': SC के फैसले पर करणी सेना ने उगला जहर, राजस्थान सरकार बोली- कानूनी राय लेंगे

News Nation Bureau | Edited By : Jeevan Prakash | Updated on: 18 Jan 2018, 05:32:03 PM
फिल्म 'पद्मावत' पर प्रतिबंध पर रोक (फाइल फोटो)

highlights

  • सुप्रीम कोर्ट ने 'पद्मावत' पर कुछ राज्यों में लगा प्रतिबंध हटाया
  • बीजेपी शासित राजस्थान सरकार ने कहा- सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कानूनी राय ले रहे हैं
  • राजपूत करणी सेना के प्रमुख लोकेंद्र सिंह कल्वी ने कहा, फिल्म रिलीज होने पर जनता कर्फ्यू लगा दे

नई दिल्ली:  

सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म 'पद्मावत' (पद्मावती) की रिलीज पर प्रतिबंध के गुजरात, राजस्थान और हरियाणा की सरकारों के आदेश पर गुरुवार को रोक लगा दी। आदेश के बाद राजपूत संगठन करणी सेना ने फिल्म थियेटर में आग लगाने की धमकी दी है।

करणी सेना ने कहा कि काले कुत्ते पर भरोसा किया जा सकता है लेकिन भंसाली पर नहीं।' वहीं बीजेपी के पूर्व नेता सूरज पाल अमू ने कहा है कि फिल्म पद्मावती रिलीज होगी तो देश टूटेगा।

विवादों में घिरे संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत अब 25 जनवरी को पूरे देश में रिलीज होगी। फिल्म में दीपिका पादुकोण और रणवीर सिंह लीड रोल में हैं।

फिल्म का विरोध कर रहे राज्यों ने कहा है कि पूरा फैसला पढ़ने के बाद आगे का फैसला लेंगे। राजस्थान के गृहमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर हम अधिकारियों के साथ बातचीत कर रहे हैं। जल्द ही इस बारे में हम कोई फैसला लेंगे।

और पढ़ें: 'पद्मावत' पर सुप्रीम आदेश, अब कोई और राज्य नहीं लगा सकता बैन

उन्होंने कहा, 'हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हैं। हमें इसका पालन करना होगा। मेरा विभाग आगे की कानूनी प्रक्रिया पर विचार कर रहा है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले पढ़ने के बाद हम क्या कुछ कर सकते हैं। कदम उठाए जाएंगे।'

सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ट्वीट कर कहा, 'सुप्रीम कोर्ट ने हमारा पक्ष सुने बिना फैसला दिया है। हम इस फैसले की समीक्षा करने के बाद जहां भी संभव होगा अपील करेंगे।'

वहीं भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के मध्य प्रदेश के अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर कानूनी राय लेने के बाद हम एक्शन लेंगे। नंदकुमार ने राजपूत समाज के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिलकर पद्मावत को बैन करने की मांग की थी।

और पढ़ें: ICC अवॉर्ड- विराट कोहली बने 'क्रिकेटर ऑफ द ईयर'

मध्य प्रदेश के उज्जैन पहुंचे राजपूत करणी सेना के प्रमुख लोकेंद्र सिंह कल्वी ने कहा कि फिल्म रिलीज होने पर जनता कर्फ्यू लगा दे। सिंह ने कहा, 'पूरे देश के सामाजिक संगठनों से अपील करूंगा पद्मावत नहीं चलनी चाहिए। फिल्म हॉल पर जनता कर्फ्यू लगा दे।'

लोकेंद्र सिंह ने फिल्म निर्माताओं की फिल्म को लेकर दी गई सफाई पर कहा, 'काले कुत्ते पर भरोसा किया जा सकता है लेकिन भंसाली पर नहीं।'

महाराष्ट्र के करणी सेना ने भी फिल्म रिलीज को लेकर धमकी दी है। प्रदेश सचिव जीवन सिंह सोलंकी ने कहा कि पद्मावत दिखाने वाले थियटर को आग के हवाले कर देंगे। इसके लिए सरकार और सुप्रीम कोर्ट जिम्मेदार होगा।

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता सूरज पाल अमू ने कहा, 'आज सुप्रीम कोर्ट ने लाखों-करोड़ों लोगों, लाखों-करोड़ हिंदुस्तानियों की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है। जो सुप्रीम कोर्ट का सम्मान करते हैं। हमारा संघर्ष जारी रहेगा। चाहे मुझे फांसी लगा दो। ये फिल्म रिलीज होगी तो देश टूटेगा।'

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को फिल्म प्रतिबंध पर अंतरिम रोक लगाते हुए कहा कि कानून-व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी राज्य सरकारों की है।

अदालत ने यह फैसला फिल्म के निर्माताओं - भंसाली प्रोडक्शन्स और वायाकॉम 18 मोशन पिक्चर्स की याचिका पर सुनाया है। निर्माताओं ने गुजरात, राजस्थान और हरियाणा सरकार द्वारा फिल्म की स्क्रीनिंग पर लगाए प्रतिबंध को चुनौती दी थी।

और पढ़ें: पूर्वोत्तर के 3 राज्यों में चुनावी तारीखों का ऐलान, 3 मार्च को नतीजे

First Published : 18 Jan 2018, 03:01:38 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.