News Nation Logo

किसान आंदोलन: कृषि कानूनों पर गठित कमेटी ने बंद लिफाफे में सुप्रीम कोर्ट को सौंपी रिपोर्ट

कृषि कानूनों पर गठित कमेटी ने बंद लिफाफे में सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को अपनी रिपोर्ट दाखिल कर दी है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 31 Mar 2021, 03:36:11 PM
Supreme Court

कृषि कानूनों पर गठित कमेटी ने बंद लिफाफे में SC में सौंपी रिपोर्ट (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • कृषि कानूनों पर कमेटी ने सौंपी रिपोर्ट
  • बंद लिफाफे में सुप्रीम कोर्ट को सौंपी रिपोर्ट
  • सुप्रीम कोर्ट ने किया था कमेटी का गठन

नई दिल्ली:

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का आंदोलन कई महीने बीत जाने के बाद भी लगातार जारी है. तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसान दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं. कृषि कानूनों पर कई दौर की बातचीत के बाद भी कोई समाधान नहीं निकला. न किसान पीछे हटने को तैयार हैं, न ही सरकार कानूनों को वापस लेने को राजी है. इस बीच कृषि कानूनों पर गठित कमेटी ने बंद लिफाफे में सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को अपनी रिपोर्ट दाखिल कर दी है. अब इस रिपोर्ट पर 5 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी.

यह भी पढ़ें : मोदी सरकार का बड़ा फैसला, फूड प्रोसेसिंग सेक्टर के लिए PLI स्कीम को मंजूरी

तीन कृषि कानूनों पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त की गई तीन सदस्यीय कमेटी ने सुप्रीम कोर्ट को बंद लिफाफे में अपनी रिपोर्ट जमा की. कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि इस मामले का हल निकालने के लिए करीब 85 किसान संगठनों से बात की गई है. आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने 12 जनवरी को इस कमेटी का गठन किया था. जिसमें कृषि विशेषज्ञ अशोक गुलाटी, डॉ. प्रमोद कुमार जोशी और अनिल धनवत शामिल हैं. सुप्रीम कोर्ट ने 4 सदस्यीय टीम बनाई थी, लेकिन किसान नेता भूपिंदर सिंह मान ने इससे खुद को अलग कर लिया था.

यह भी पढ़ें : परमबीर सिंह को पड़ी फटकार, बॉम्बे हाईकोर्ट ने पूछा- क्यों दर्ज नहीं कराई FIR

दरअसल, केंद्र सरकार द्वारा लागू कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) कानून 2020, कृषक (सशक्तीकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा करार कानून 2020 और आवश्यक वस्तु (संशोधन) कानून 2020 को वापस लेने और न्यूनतम समर्थन मूल्य पर फसलों की खरीद की कानूनी गारंटी देने की मांग कर रहे हैं. किसान 26 नवंबर से इन कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं. किसानों ने उसी दिन से दिल्ली आने वाली सीमाओं को अवरुद्ध कर दिया, जिसके बाद इन मार्गों से दिल्ली में प्रवेश मुश्किल हो गया. हालांकि आपको बता दें कि फिलहाल सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों पर रोक लगा रखी है. 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 31 Mar 2021, 03:36:11 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो