News Nation Logo

एलोपैथी पर बयान को लेकर बाबा रामदेव को समन, दिल्ली HC ने दी नसीहत

एलोपैथी के खिलाफ बयानों को लेकर बाबा रामदेव मुश्किलों में फंस गए हैं. इस बयान को लेकर अब दिल्ली हाईकोर्ट ने बाबा रामदेव को समन जारी किया है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 03 Jun 2021, 01:33:49 PM
Delhi High Court

एलोपैथी पर बयान को लेकर बाबा रामदेव को समन, दिल्ली HC ने दी नसीहत (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • दिल्ली हाईकोर्ट ने जारी किया बाबा रामदेव को समन
  • दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ने लगाई है याचिका
  • हाईकोर्ट ने बाबा रामदेव को बयान पर नसीहत भी दी

नई दिल्ली:

एलोपैथी के खिलाफ बयानों को लेकर बाबा रामदेव मुश्किलों में फंस गए हैं. इस बयान को लेकर अब दिल्ली हाईकोर्ट ( Delhi High Court ) ने बाबा रामदेव को समन जारी किया है. कोरोना के इलाज में कोरोनिल के कारगर होने दावे और एलोपैथी को लेकर बाबा रामदेव की आलोचनात्मक बयान को लेकर दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ( Delhi Medical Association ) ने हाईकोर्ट में याचिका लगाई. जिस पर की याचिका। दिल्ली HC ने बाबा रामदेव को समन भेजकर जवाब मांगा है. इसके साथ ही हाईकोर्ट ने बाबा रामदेव ( Baba Ramdev ) को इस बयान को लेकर नसीहत भी दी है.

यह भी पढ़ें : Corona Virus Live Updates : कोरोना के चलते उत्तर प्रदेश में भी 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं रद्द 

दिल्ली हाई कोर्ट ने बाबा रामदेव को नसीहत देते हुए कहा है कि आप कोरोनिल का प्रचार करें, लेकिन एलोपैथी को लेकर इस तरह के बयान देने से बचें. हाईकोर्ट ने मौखिक रूप से योग गुरु रामदेव के वकील से यह भी कहा है कि वह सुनवाई की अगली तारीख यानी 13 जुलाई तक उन्हें कोई भड़काऊ बयान न देने को कहें. बता दें कि पिछले हफ्ते सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें बाबा रामदेव को कथित तौर पर एलोपैथी के खिलाफ बोलते हुए सुना जा सकता है. 

इससे पहले इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया मेडिकल एसोसिएशन रामदेव बाबा को कानूनी नोटिस थमा चुके हैं. अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सक संघ ने भी रामदेव को कानूनी नोटिस दिया और एलोपैथिक चिकित्सा पद्धति पर की गई टिप्पणी का विरोध जताया. बाबा रामदेव के खिलाफ देश के अलग अलग हिस्सों में एफआईआर भी दर्ज कराई गई हैं. दो दिन पहले ही नेशनल स्टूडेंट यूनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआई) ने बाबा रामदेव के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी.

यह भी पढ़ें : बिना परीक्षा 12वीं के रिजल्ट को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने मांगी CBSE-ICSE से इंटरनल असेसमेंट की जानकारी

इसके अलावा एक जून को देशभर में रेजिडेंट डॉक्टरों ने अस्पतालों में बाबा रामदेव के बयान के विरोध में कालीपट्टी बांधकर प्रदर्शन किया और काला दिवस मनाया था. हालांकि आपको बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के हस्तक्षेप के बाद बाबा रामदेव ने एलोपैथी को लेकर दिया बयान वापस ले लिया था. एलोपैथी चिकित्सा पद्धति को बेकार और तमाशा बताए जाने पर चिकित्सक संगठनों ने गहरी नाराजगी जाहिर की थी, जिसके बाद स्वास्थ्य मंत्री ने उनसे बयान वापस लेने का आग्रह किया था. स्वास्थ्य मंत्री ने बाबा रामदेव की सफाई को भी स्वीकार नहीं किया था. आखिरकार फिर बाबा रामदेव ने स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखकर बयान वापस लेने की बात कही थी.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 03 Jun 2021, 01:10:41 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो