News Nation Logo
Banner

अगर SBI में है सेविंग अकाउंट तो हो जाइए सावधान, 1 अप्रैल से पैसों के लेन-देने पर देना होगा एक्स्ट्रा चार्ज

1 अप्रैल यानि की कल से देश में नए वित्तीय साल की शुरूआत होगी। नए साल के साथ ही बैंकों के नियम और कानून भी बदल जाएंगे

News Nation Bureau | Edited By : Kunal Kaushal | Updated on: 31 Mar 2017, 09:25:34 PM

नई दिल्ली:

1 अप्रैल यानि की कल से देश में नए वित्तीय साल की शुरूआत होगी। नए साल के साथ ही बैंकों के नियम और कानून भी बदल जाएंगे। देश के सबसे बड़े सार्वजनिक बैंकों में शुमार भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया 1 अप्रैल से कई नए नियम की शुरूआत कर रहा है। अब एसबीआई के सेविंग अकाउंट में जीरो बैलेंस रखने वालों को झटका लगेगा। बैंक ने बचत खाते में न्यूनतम राशि रखने के नियम को 1 अप्रैल से लागू कर दिया है

क्या हैं एसबीआई के नए नियम

1. आप अपने एसबीआई बचत खाते से अब महीने में तीन बार ही फ्री नकद लेन-देन कर पाएंगे। इसके बाद बैंक आपसे हर जमा या निकासी पर 50 रुपये का चार्ज वसूलेगी।

2. मेट्रो शहरों में बचत खाते में कम से कम 5000 हजार रुपये, शहरी शाखाओं में 3000 रुपये, छोटे शहर के बैंक खातों में 2000 रुपये और गांव के एसबीआई शाखाओं में 1000 रुपये रखना अनिवार्य होगा। अगर आप ऐसा नहीं करेंगे या खाते में तय की गई राशि से कम पैसे रखेंगे तो आपसे बैंक 200 रुपये का चार्च वसूलेगा जो आपको देने होंगे।

3. अब आप एसबीआई के एटीएम से महीने में सिर्फ 5 बार ही मुफ्त में पैसा निकाल पाएंगे। छठी बार से आपको एटीएम से हर निकासी पर 10 रुपये का एक्सट्रा चार्च देना पड़ेगा। हालांकि बाकी बैंक के एटीएम से आप सिर्फ 3 बार ही मुफ्त में पैसे निकाल पाएंगे। 3 ट्रांजैक्शन के बाद हर निकासी पर 20 रुपये का चार्ज आपसे वसूला जाएगा।

4. हालांकि अगर आपके बचत खाते में हमेशा 25000 रुपये से ज्यादा रकम रहता है तो आप जितनी बार चाहें एसबीआई के एटीएम से पैसे निकाल सकते हैं। इसके लिए आपस से कोई चार्ज नहीं वसूला जाएगा।

5. अगर आपके खाते में 25 हजार से ज्यादा पैसे रहते हैं और आप असीमित एटीएम का इस्तेमाल करते हैं तो आपसे हर तीन महीने पर 15 रुपये एसएमएस का चार्ज वसूला जाएगा।

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार ने जारी किया नया आयकर रिटर्न फॉर्म, नोटबंदी में जमा किये हैं 2 लाख रु. तो देनी होगी जानकारी

SBI में 1 अप्रैल से एक और बड़ा बदलाव होने जा रहा है और वो है राष्ट्रीय महिला बैंक समेत SBI के 5 सहयोगी बैंकों का विलय। इसके बाद इन बैंकों के कस्टमर एक अप्रैल से एसबीआई के कस्टमर होंगे। साथ ही, बैंक ने पांच साल के अंतराल के बाद फिर से खाते में न्यूनतम राशि नहीं होने पर जुर्माना वसूलने का फैसला किया है। यह जुर्माना एक अप्रैल से लागू होगा।

ये भी पढ़ें: रिलायंस जियो का नया धमाका- 'समर सरप्राइज', 15 अप्रैल तक बढ़ाई प्राइम की ऑफर सीमा

First Published : 31 Mar 2017, 08:52:00 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×