logo-image
लोकसभा चुनाव

मोदी सरकार (PM Narendra Modi) ने गांधी परिवार (Gandhi Family) से वापस ली एसपीजी (SPG) सुरक्षा, गृह मंत्रालय ने की समीक्षा

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कांग्रेस की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की सुरक्षा की समीक्षा करते हुए SPG को वापस लेने की सिफारिश की है.

Updated on: 08 Nov 2019, 04:23 PM

नई दिल्‍ली:

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कांग्रेस की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की सुरक्षा की समीक्षा करते हुए SPG को वापस लेने की सिफारिश की है. सूत्रों का कहना है कि यह सिफारिश अगर मान ली गई तो सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को Z+ CPPF की सुरक्षा प्रदान की जाएगी. इससे पहले मोदी सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की एसपीजी सुरक्षा वापस ले ली थी.

सितंबर में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी) कवर को हटाए जाने के कुछ दिनों बाद उन्हें डाउनग्रेडेड जेड प्लस वर्ग के तहत सीआरपीएफ कमांडो का सुरक्षा कवर मुहैया करा दिया गया था.

सिंह और उनकी पत्नी गुरशरण कौर के पास उनके मोतीलाल नेहरू रोड स्थित आवास और देशभर में कहीं भी जाने के दौरान उनके साथ हमेशा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 35 जवान सुरक्षा घेरे में रहेंगे. कुल मिलाकर, उनकी सुरक्षा के लिए 50 सशस्त्र कमांडो रहेंगे, जिन्‍हें अलग-अलग शिफ्टों में तैनात किया जाएगा.

यह भी पढ़ें : डर क्यों है? कर्नाटक मॉडल महाराष्ट्र में काम नहीं करेगा, शिवसेना नेता संजय राउत बोले

बताया जा रहा है कि अब गांधी परिवार के सदस्‍य सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के लिए भी यही सीआरपीएफ कमांडो का सुरक्षा कवर मुहैया कराई जाएगी.

क्या है SPG सुरक्षा ?

  • पीएम मोदी और गांधी परिवार की सुरक्षा करती है
  • देश की सबसे पेशेवर और आधुनिक सुरक्षा बल है
  • जवानों का चयन पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्स से होता है
  • जवान FNF-2000 असॉल्ट राइफल से लैस होते हैं
  • जवानों के पास ग्लोक-17 पिस्टल भी होती है
  • जवानों को सीक्रेट सर्विस एजेंट्स की तरह ही ट्रेनिंग दी जाती है
  • SPG के काफिले में एक दर्जन गाड़ियां होती हैं
  • इंदिरा गांधी की हत्या के बाद SPG के गठन की प्रक्रिया शुरू हुई