News Nation Logo
Banner

इमरान खान की राह पर पाक के उच्चायुक्त, पीएम मोदी के समर्थन में कही यह बात

सोहैल महमूद ने लोकसभा चुनाव के बाद भारत के साथ फिर से बाचतीत शुरू होने की आशा कर रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Yogesh Bhadauriya | Updated on: 14 Apr 2019, 08:33:18 PM
पाक के निवर्तमान उच्चायुक्त सोहैल महमूद

पाक के निवर्तमान उच्चायुक्त सोहैल महमूद

नई दिल्ली:

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान के पीएम मोदी का समर्थन करने के बाद अब पाक के निवर्तमान उच्चायुक्त सोहैल महमूद भी अब पीएम मोदी के समर्थन में ताजा बयान दिया है. सोहैल महमूद ने लोकसभा चुनाव के बाद भारत के साथ फिर से बाचतीत शुरू होने की आशा कर रहा है. साथ ही, इस बात का जिक्र किया कि व्यवस्थित बातचीत दोनों देशों को पारस्परिक चिंताओं को समझने, लंबित विवादों का हल करने और क्षेत्र में टिकाऊ शांति तथा सुरक्षा कायम करने के रास्ते पर ले जायेगा.

यह भी पढ़ें- श्रीनगर में अलर्ट, पाकिस्तान एक बार फिर कर सकता है आतंकवादी हमला

पाकिस्तान के निवर्तमान उच्चायुक्त सोहैल महमूद ने एक साक्षात्कार में कहा कि दोनों पड़ोसी देशों के बीच संबंधों में सुधार के लिए कूटनीति एवं वार्ता अनिवार्य हैं. उन्होंने कहा, हम भारत में चुनाव के बाद फिर से बातचीत शुरू होने की आशा करते हैं. गौरतलब है कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के बालाकोट में 26 फरवरी को एक आतंकी ठिकाने पर भारतीय वायुसेना द्वारा किये गये हमले और उसके अगले ही दिन पाक की जवाबी कार्रवाई के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था.

महमूद ने कहा, सतत बातचीत और व्यवस्थित वार्ता दोनों देशों को पारस्परिक चिंताओं को समझने, लंबित विवादों का हल करने और क्षेत्र में टिकाऊ शांति, सुरक्षा तथा समृद्धि लाने में सक्षम बनायेगा. उन्होंने यह भी कहा कि भारत में पाकिस्तान के बारे में नजरिये की समीक्षा करने की जरूरत है.

महमूद ने कहा कि पाकिस्तान को वस्तुनिष्ठ रूप से और कहीं अधिक पूर्ण तरीके से हकीकत के साथ बयां करने वाले नजरिये की जरूरत है. एक ऐसा नजरिया जो शांतिपूर्ण, सहयोगी और अच्छे पड़ोसी संबंधों के लिए अवसरों को मान्यता देने में मदद करे. उन्होंने कहा, हमें अवश्य ही हमारे खुद के लिए एवं क्षेत्र के लिए टिकाऊ शांति, समान सुरक्षा और साझा समृद्धि के लिए काम करना चाहिए. उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान ने तनाव घटाने की कोशिश के तहत दो हफ्ते पहले 360 भारतीय कैदियों को सदभावना के तहत रिहा करने की घोषणा की थी. उनमें से ज्यादातर लोग मछुआरे थे.

First Published : 14 Apr 2019, 08:33:09 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो