News Nation Logo

गुजरात में दो दिनों में 6 विधायकों ने छोड़ा कांग्रेस का हाथ, सिंघवी बोले- बीजेपी कर रही है हॉर्स ट्रेडिंग

कांग्रेस ने बीजेपी पर हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप लगाया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, 'बीजेपी ने करोड़ो रुपये हॉर्स ट्रेडिंग के लिए खर्च किये हैं।'

News Nation Bureau | Edited By : Jeevan Prakash | Updated on: 28 Jul 2017, 06:33:20 PM
अमित शाह और गुजरात बीजेपी के वरिष्ठ नेता (फोटो-PTI)

highlights

  • दो दिनों में कांग्रेस के 6 नेताओं ने विधायक पद से दिया इस्तीफा, 3 बीजेपी में हुए शामिल
  • कांग्रेस बोली, बीजेपी ने करोड़ो रुपये हॉर्स ट्रेडिंग के लिए खर्च किये
  • पांच और विधायक कांग्रेस का छोड़ सकते हैं साथ, वाघेला के जाने के बाद कांग्रेस में पड़ी है फूट 

नई दिल्ली:

गुजरात विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। दो दिनों में कांग्रेस के 6 नेताओं ने पार्टी और विधायकी से इस्तीफा दिया है। खबर है कि कांग्रेस के पांच और विधायक इस्तीफा देंगे।

वहीं कांग्रेस ने बीजेपी पर हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप लगाया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, 'बीजेपी ने करोड़ो रुपये हॉर्स ट्रेडिंग के लिए खर्च किये हैं।'

सिंघवी ने कहा, 'गुजरात के एक कांग्रेस विधायक ने दावा किया है कि उन्हें बीजेपी ने 10 करोड़ रुपये का ऑफर किया था।'

वहीं राज्यसभा में शुक्रवार को गुजरात कांग्रेस के विधायकों के इस्तीफे पर हंगामा हुआ। कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा ने आरोप लगाया कि गुजरात पुलिस ने कांग्रेस विधायकों को अगवा कर उन पर दबाव बनाया कि वे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो जाएं।

इसके बाद विपक्षी सांसद सदन के बीचों बीच आ गए। उन्होंने नारेबाजी की कि 'संविधान की हत्या करना बंद करो'।

शुक्रवार को कांग्रेस के दो विधायकों -वांसदा निर्वाचन क्षेत्र से विधायक चन्नाभाई चौधरी और बालासिनोर के मानसिंह चौहान- द्वारा विधानसभा अध्यक्ष रमनलाल वोरा को अपना इस्तीफा सौंपने के बाद कांग्रेस के दिग्गज विधायक रामसिंह परमार ने भी कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया।

थासरा निर्वाचन क्षेत्र से विधायक व अमूल डेयरी के अध्यक्ष परमार ने कहा, 'मैं हालांकि बीजेपी में नहीं जाऊंगा।' सूत्रों ने कहा कि एक और विधायक सी.के. रावलजी के भी इस्तीफा देने की संभावना है, जो शंकरसिंह वाघेला के करीबी माने जाते हैं।

इससे एक दिन पहले गुरुवार को तीन अन्य विधायक कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा देकर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी में शामिल हो गए थे। एक अन्य वरिष्ठ विधायक राघवजी पटेल ने शुक्रवार को कहा कि वह अन्य पांच विधायकों के साथ इस्तीफा देने की तैयारी कर रहे हैं।

सौराष्ट्र के जामनगर (ग्रामीण) निर्वाचन क्षेत्र के विधायक राघवजी पटेल ने कहा, 'मैं बीजेपी में जाना चाहता हूं और पांच अन्य भी हैं, जो इसकी तैयारी कर रहे हैं।'

पटेल, चौधरी और चौहान को विपक्षी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री शंकरसिंह वाघेला का करीबी माना जाता है, जिन्होंने 21 जुलाई को अपने जन्मदिन पर विपक्ष के नेता पद से इस्तीफा दे दिया था। वाघेला ने आरोप लगाया था कि उन्हें पार्टी से बाहर निकालने के लिए आतंरिक षड्यंत्र रचा गया था।

सिद्धपुर से विधायक बलवंत सिंह राजपूत, विरामगाम से विधायक तेजश्री पटेल, और वीजापुर के विधायक पी. आई. पटेल ने गुरुवार दोपहर अपना इस्तीफा सौंपा और वे बीजेपी में शामिल हो गए।

बीजेपी में शामिल होने के कुछ मिनटों के भीतर राजपूत को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के बाद पार्टी के तीसरे राज्यसभा उम्मीदवार के रूप में नामित किया गया।

और पढ़ें: भारत के एनएसए अजीत डोभाल ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से की मुलाकात

First Published : 28 Jul 2017, 06:28:23 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.