News Nation Logo
कोविड के खिलाफ लड़ाई में भी भारत और रूस के बीच सहयोग: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत में 85 फीसदी पात्र आबादी को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगा दी गई है: मनसुख मंडाविया दिल्ली में इस साल डेंगू से अब तक 15 मरीजों की मौत बीते 6 साल में डेंगू से मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा शाही ईदगाह मस्जिद की जगह पर भव्य श्रीकृष्ण मंदिर के निर्माण के लिए संकल्प यज्ञ किया गया ओमिक्रोन के अलर्ट के बीच पटना में 100 विदेशियों की तलाश भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से हराकर टेस्ट मैच श्रृंखला 1-0 से जीती टीम इंडिया ने घर में लगातार 14वीं टेस्ट सीरीज जीती न्यूजीलैंड पर 372 रनों से जीत रनों के लिहाज से भारत की टेस्ट मैचों में सबसे बड़ी जीत है उत्तराखंड के चमोली में देवल ब्लॉक के ब्रह्मताल ट्रेक मार्ग पर बर्फबारी हुई रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर के साथ नई दिल्ली में बैठक की

अफगानिस्तान में शिया हत्याओं पर सुन्नी मौलवियों की चुप्पी की निंदा

अफगानिस्तान में शिया हत्याओं पर सुन्नी मौलवियों की चुप्पी की निंदा

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 16 Oct 2021, 02:15:02 PM
Silence of

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

लखनऊ/मुंबई: अफगानिस्तान की दो शिया मस्जिदों में एक सप्ताह के भीतर हुए बम विस्फोटों में कई नमाजियों की मौत के बाद भारत में शिया मुस्लिम मौलवियों ने इन लक्षित हत्याओं पर सुन्नी मौलवियों की चुप्पी की आलोचना की है। अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद इस तरह की घटनाओं में वृद्धि हुई है।

फोन पर आईएएनएस से बात करते हुए, लखनऊ के शीर्ष शिया धर्मगुरु कल्बे जव्वाद ने कहा, कोई सुन्नी मुस्लिम मौलवी हत्याओं की निंदा करने के लिए सामने नहीं आया है। जब भी ऐसी कोई घटना होती है तो हमने उनका समर्थन किया है .. और यह पहली बार नहीं हो रहा है, जबकि पिछले 25 वर्षो से ऐसा हो रहा है।

उन्होंने कहा, अगर भारत और पाकिस्तान के सुन्नी उलेमा हत्याओं की निंदा करना शुरू कर देते हैं, तो ऐसी घटनाएं नहीं होंगी। लेकिन उनकी चुप्पी हत्याओं का मौन समर्थन है।

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि हत्याएं पिछले तीन दशकों से शियाओं का सफाया करने के लिए अमेरिकी इजराइल, सऊदी अरब और पाकिस्तान की साजिश का परिणाम हैं।

मौलवी ने कहा कि इस्लामिक स्टेट (आईएस), तालिबान और अन्य आतंकी संगठन यूएस इजरायल और सऊदी अरब के समर्थन से काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि तालिबान ने शियाओं को धोखा दिया है।

मुंबई के एक अन्य मौलवी मौलाना अशरफ जैदी ने आईएएनएस को फोन पर बताया कि घटनाएं निंदनीय हैं और उन्होंने भारत सरकार से मामले को संयुक्त राष्ट्र में ले जाने का अनुरोध किया।

उन्होंने कहा, मैं अपनी सरकार से पाकिस्तान और अफगानिस्तान दोनों देशों में शियाओं के उत्पीड़न मामले को एक संवेदनशील देश के रूप में अमेरिका ले जाने का अनुरोध करता हूं, हमें इस तरह की घटना पर अपना ध्यान देना चाहिए।

इस्लामिक स्टेट (आईएस) आतंकी समूह ने शनिवार को दावा किया कि उसकी खुरासान शाखा (आईएस-के) ने एक दिन पहले कंधार में शिया मस्जिद के अंदर दोहरे बम विस्फोट किए, जिसमें 63 लोगों की जान चली गई, जबकि 83 अन्य घायल हो गए।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 16 Oct 2021, 02:15:02 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.