News Nation Logo
Banner

SII ने 600 रुपये प्रति डोज वैक्सीन बेचने पर दी सफाई, बताई ये वजह

कंपनी द्वारा जारी किए गए बयान में कहा गया है कि भारत सहित दुनिया के अन्य देशों के लिए सरकारी खरीद खातिर वैक्सीन की कीमत बहुत ही कम रखी गई है, क्योंकि वॉल्यूम की संख्या काफी बड़ी है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 24 Apr 2021, 05:30:30 PM
adaar poonawala

आदार पूनावाला (Photo Credit: फाइल )

highlights

  • एसआईआई ने की वैक्सीन के दामों की घोषणा
  • 600 रुपये में प्राइवेट अस्पतालों को मिलेगी वैक्सीन
  • सीरम इंस्टीट्यूट ने जारी किए वैक्सीन के दाम

नयी दिल्ली:

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के चेयरमैन आदार पूनावाला ने कोरोना वैक्सीन की कीमतें प्राइवेट अस्पतालों के लिए तय कर दी हैं. प्राइवेट अस्पतालों को एसआईआई की कोरोना वैक्सीन 600 रुपये प्रतिडोज मिलेगी. आदार पूनावाला ने बाताया कि वैक्सीन की कीमतें अभी भी बहुत सी अन्य उपचारों की तुलना में कम हैं इसके अलावा ये वैक्सीन कोविड संक्रमण को रोकने और इस जानलेवा बीमारी से बचने के लिए लेना आवश्यक है. आपको बता दें कि इसके पहले बुधवार को सीरम इंस्टीट्यूट ने अपनी कोविशील्ड वैक्सीन की कीमतों की घोषणा कर दी थी. 

कंपनी द्वारा जारी किए गए बयान में कहा गया है कि भारत सहित दुनिया के अन्य देशों के लिए सरकारी खरीद खातिर वैक्सीन की कीमत बहुत ही कम रखी गई है, क्योंकि वॉल्यूम की संख्या काफी बड़ी है. बाजार की शर्तों और हमारी न्यूमोक्कल वैक्सीन सहित प्राइवेट मार्केट में कई वैक्सीन ऊंची कीमतों पर बेची जा रही है, हालांकि सरकार के लिए इसकी फ्री मार्केट में बेची जा रही कीमत का एक तिहाई रखा गया है.

 

कंपनी द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि वैक्सीन की वैश्विक कीमत की तुलना भारत के साथ गलत तरीके से की जा रही है. आज के समय में बाजार में कोविशील्ड सबसे सस्ती वैक्सीन है. शुरुआत में इस वैक्सीन की कीमत बेहद कम रखी गई थी, क्योंकि इसके लिए कई देशों ने हमें फंडिंग की थी, ताकि तत्कालीन समय रिस्क उठाते हुए इस वैक्सीन को जल्दी से जल्दी विकसित किया जा सके. इसके साथ ही टीकाकरण कार्यक्रम के लिए भारत सहित सभी सरकारों को शुरू में कोविशील्ड बेहद कम कीमतों पर सप्लाई की गई है.

आपको बता दें कि इसके पहले बुधवार को एसआईआई ने आगे कहा था कि, वह भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय और वित्त मंत्रालय भारत के वैक्सीन ड्राइव को तेज करने के ऐलान किए जाने का स्वागत करती है. वहीं एसआईआई ने आगे कहा कि सरकार के दिशा-निर्देश राज्य सरकारों, प्राइवेट अस्पतालों और वैक्सीनेशन सेंटर को खरीद की सीधे अनुमति वैक्सीन के उत्पादन को तेज करने में मदद करेगी. दूसरी तरफ विश्व की अन्य वैक्सीन के दामों से तुलना के बारे में कहा गया है कि हमारी वैक्सीन दुनिया की बाकी वैक्सीन की तुलना में उचित मूल्य पर उपलब्ध होगी. रूस, अमेरिका और चीन की वैक्सीनों के दाम की जानकारी देते हुए बताया है कि अमेरिका की वैक्सीन 1500 रुपये प्रति डोज , रूस की वैक्सीन 750 रुपये प्रति डोज और चीन की वैक्सीन भी 750 रुपये प्रति डोज की है.

First Published : 24 Apr 2021, 04:51:41 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.