News Nation Logo
Banner

क्या देशभर में लॉकडाउन पर विचार हो? दीपक चौरसिया के साथ देखिये #DeshKiBahas

देश में एक बार फिर कोरोना तेजी से फैल रहा है. कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने बैठक कर बड़ा फैसला लिया है. पीएम मोदी ने कहा कि ऑक्सीजन प्लांट के पास कोरोना सेंटर बनेंगे.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 03 May 2021, 09:22:47 PM
dkb

देश की बहस (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

देश में एक बार फिर कोरोना तेजी से फैल रहा है. कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने बैठक कर बड़ा फैसला लिया है. पीएम मोदी ने कहा कि ऑक्सीजन प्लांट के पास कोरोना सेंटर बनेंगे. MBBS फाइनल ईयर छात्रों की कोरोना में ड्यूटी लगेगी.  MBBS छात्र हल्के लक्षण वाले मरीज़ों की मॉनटरिंग करेंगे. B.Sc/Gnm पास नर्स की भी कोरोना में ड्यूटी लगाई जाएगी. अब 31 अगस्त से पहले NEET परीक्षा नहीं होगी. देश में 1500 ऑक्सीजन प्लांट लगाने पर काम जारी है. नाइट्रोजन प्लांट से ऑक्सीजन बनाई जाएगी. सौ दिन पूरे करने वाले हेल्थ वर्करों को सरकारी नौकरियों में वरीयता दी जाएगी. क्या देशभर में लॉकडाउन पर विचार हो? दीपक चौरसिया के साथ देखिये #DeshKiBahas... यहां पढ़ें मुख्य अंश.

  • मेरा सोचना है कि लॉकडाउन होना चाहिए लेकिन पहले जिन राज्यों में मामले ज्यादा है वहां होना चाहिएः डॉ सुनीला गर्ग, सलाहकार, ICMR
  • जिन राज्यों में 15 फीसदी से ज्यादा मामले आने लगे हैं वहां पर पहले लॉकडाउन लगाया जाना चाहिएः डॉ सुनीला गर्ग, सलाहकार, ICMR
  • मैं बिलकुल इस बात को मानती हूं कि लॉकडाउन अंतिम विकल्प होना चाहिएः डॉ सुनीला गर्ग, सलाहकार, ICMR
  • दिल्ली और उत्तर प्रदेश में भी कंपनियों के बड़े ऑफिसर ऑफिस आ रहे हैं: डॉ सुनीला गर्ग, सलाहकार, ICMR 
  • जिन राज्यों में पॉजिटिविटी रेट बहुत ज्यादा है वहां पर पहले लॉकडाउन लगाना चाहिएः डॉ सुनीला गर्ग, सलाहकार, ICMR
  • हमें लॉकडाउन लगाते समय माइग्रेंट वर्कर्स का ध्यान भी रखना होगाः डॉ सुनीला गर्ग, सलाहकार, ICMR
  • महामारी के समय में हमें बहुत सावधानी से लॉकडाउन जैसा गंभीर निर्णय लेना चाहिएः डॉ सुनीला गर्ग, सलाहकार, ICMR
  • निःसंदेह राज्य सरकारे देरी तो कर ही चुकीं हैं लेकिन देर आए दुरुस्त आएः टीएस सिंह देव, स्वास्थ्य मंत्री, छत्तीसगढ़
  • छत्तीस गढ़ में मेरा अनुभव है कि अगर शायद पहले लॉकडाउन लगा होता तो स्थिति कुछ और होतीः टीएस सिंह देव, स्वास्थ्य मंत्री, छत्तीसगढ़
  • पिछले 28 दिनों में रिकवरी के बाद सिर्फ 5 जिले ऐसे मिले हैं जिनमें संक्रमण 15 प्रतिशत के भीतर हैः टीएस सिंह देव, स्वास्थ्य मंत्री, छत्तीसगढ़
  • अभी भी हर जिला एक जैसा नहीं है अगर जिले में 4 विकास खंड है तो कहीं पर दो में स्थिति बेहतर है तो दो में स्थिति गंभीर हैः टीएस सिंह देव, स्वास्थ्य मंत्री, छत्तीसगढ़
  • इस दौरान अगर किसी इलाके में स्थिति और भी गंभीर है तो वहां पर कंटेनमेंट जोन घोषित करके वहां पर लॉकडाउन कर देना चाहिएः टीएस सिंह देव, स्वास्थ्य मंत्री, छत्तीसगढ़
  • हम जितनी देर करेंगे लॉकडाउन पर फैसला लेने का उतना ही खतरा बढ़ता जाएगा देश परः टीएस सिंह देव, स्वास्थ्य मंत्री, छत्तीसगढ़
  • एक ही जूता हर पैर में नहीं फिट होता है लेकिन ध्यान तो रखना पड़ता हैः टीएस सिंह देव, स्वास्थ्य मंत्री, छत्तीसगढ़
  • मैं राजनीति से हटकर इस विषय पर बात करना चाहता हूंः टीएस सिंह देव, स्वास्थ्य मंत्री, छत्तीसगढ़
  • आज की तुलना में पिछले साल कुछ भी नहीं था लेकिन तब मामले भी कम थे और हमारे पास लॉकडाउन के अलावा कोई विकल्प भी नहीं थाः टीएस सिंह देव, स्वास्थ्य मंत्री, छत्तीसगढ़
  • इस बार का कोरोना वायरस पिछले साल की तुलना में चारगुना ज्यादा खतरनाक है मामले 4, 5 से 10 गुना तक ज्यादा आ रहे हैंः टीएस सिंह देव, स्वास्थ्य मंत्री, छत्तीसगढ़
  • मुझे नहीं लगता है कि पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन लगना चाहिएः जफर इस्लाम, राष्ट्रीय प्रवक्ता, भाजपा 
  • क्योंकि कहीं-कहीं ही लॉकडाउन की जरूरत हैै तो कहीं कहीं पर मामले गंभीर नहीं हैः जफर इस्लाम, राष्ट्रीय प्रवक्ता, भाजपा
  • मुझे नहीं लगता है कि संपूर्ण लॉकडाउन कोविड को रोकने का विकल्प नहीं हो सकता हैः जफर इस्लाम, राष्ट्रीय प्रवक्ता, भाजपा
  • 2020 का लॉकडाउन बिना किसी तैयारी के किया गया था जिसे सरकार ने लोगों पर थोपा थाः अलका लांबा, राष्ट्रीय प्रवक्ता, कांग्रेस
  • लेकिन आज यानि कि 2021 में स्थिति पिछले साल की तुलना में कहीं ज्यादा ही गंभीर हैः अलका लांबा, राष्ट्रीय प्रवक्ता, कांग्रेस
  • मैं आपसे सिर्फ अपना अनुभव बता रही हूं दिल्ली में लॉकडाउन में कोई सुधार नहीं आया हैः अलका लांबा, राष्ट्रीय प्रवक्ता, कांग्रेस
  • हमारे यहां 36 राज्य हैं जिनमें से 10 राज्यों में हालात बहुत ही खराब हो चुके हैं यहां पर संपूर्ण लॉकडाउन लगना चाहिएः अलका लांबा, राष्ट्रीय प्रवक्ता, कांग्रेस
  • मुझे लगता है कि पीएम को सर्वदलीय बैठक बुलाकर सभी मुख्यमंत्रियों से बैठक करके सुप्रीम कोर्ट के माध्यम से फैसला लेना चाहिएः अलका लांबा, राष्ट्रीय प्रवक्ता, कांग्रेस
  • मैं ऐसा सोचता हूं कि कंप्लीट लॉकडाउन नहीं लगना चाहिएः संजीव खेमका, दर्शक वाराणसी
  • सभी राज्यों को अधिकार दिया गया है तो फिर वो अपने अपने हिसाब से लॉकडाउन पर विचार कर सकते हैंः संजीव खेमका, दर्शक वाराणसी

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 03 May 2021, 07:43:58 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.