News Nation Logo

देश की बहस में आज देखें, क्या हैदराबाद में निजाम कल्चर से छुटकारा मिलना चाहिए?

एक दिसंबर को हैदराबाद नगर निगम का चुनाव होना है. केंद्र की सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी ने इस चुनाव को जीतने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया और पार्टी के स्टार प्रचारकों को चुनाव प्रचार के लिए मैदान में उतार दिया.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 30 Nov 2020, 11:27:21 PM
desh ki bahas

देश की बहस में दीपक चौरसिया (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

देश के सर्वाधिक लोकप्रिय टीवी डिबेट शो 'देश की बहस' में आज हम वरिष्ठ पत्रकार दीपक चौरसिया के साथ 'क्या हैदराबाद में निजाम कल्चर से छुटकारा मिलना चाहिए?' मुद्दे पर टीवी पर आए मेहमानों के साथ डिबेट कर रहे हैं. आपको बता दें कि कल यानि कि एक दिसंबर को हैदराबाद नगर निगम का चुनाव होना है. केंद्र की सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी ने इस चुनाव को जीतने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया और पार्टी के स्टार प्रचारकों को चुनाव प्रचार के लिए मैदान में उतार दिया. आज का डिबेट शो हैदराबाद में निजाम कल्चर खत्म करने को लेकर हो रहा है. आइए आपको बताते हैं कि इस दौरान किस मेहमान ने क्या कुछ कहा. 

हिन्दुस्तान नाम का इस्तेमाल आज से नहीं हो रहा है ये सदियों से इस्तेमाल हो रहा है ये उर्दू जुबान हैः शांतनु गुप्ता, राजनीतिक विश्लेषक

हो सकता है ये लोग कभी भारत भी बोलने से मना कर दें ये कहकर कि ये महाभारत के चंद्रवंशी राजा के नाम पर रखा गया हैः शांतनु गुप्ता, राजनीतिक विश्लेषक
जब 1947 में जब अंग्रेज गए तो दिल्ली की सड़कों के नाम भी बदले गए किसी रोड का नाम किंग्स रोड था किसी का नाम क्वींस रोड थाः शांतनु गुप्ता, राजनीतिक विश्लेषक\
कब तक आप वोटबैंक पालेंगे अब तो नैरेटिव बदल दीजिए और देख लीजिए क्या असर है मौजूदा समय मेंः शांतनु गुप्ता, राजनीतिक विश्लेषक

--------
नाम बिलकुल बदला जाना चाहिए क्योंकि हमारे जो पुरानी संस्कृति है उसे जिंदा करना चाहिएः राम मिश्रा, दर्शक
ये जो बोल रहे हैं कि नाम बदलने से विकास नहीं होता है उन्हें यहां आकर देखना चाहिए क्या परिवर्तन हुए हैंः राम मिश्रा, दर्शक
हम अपने बच्चों को जब बताते हैं कि भगवान श्रीराम अयोध्या में पैदा हुए थे तो बच्चे पूछते हैं अयोध्या कहां हैः राम मिश्रा, दर्शक


सबसे पहले तो ये है कि वो पार्टियां अपना मेनिफेस्टो देती हैं जो झूठ बोलती हैं जैसे कि जनता के खाते में 15 लाख वाली बातः मौलाना अली कादरी, सीरत उन नबी चेयरमैन
हैदराबाद बाढ़ में जो काम एआईएमआईएम ने कर दिखाया वो टीआरएस भी नहीं कर सकीः मौलाना अली कादरी, सीरत उन नबी चेयर मैन
हमारी पार्टी के विधायक अकबरूद्दीन ओवैसी लगातार शहर में बाढ़ ग्रस्त इलाकों में गश्त की और लोगों की मदद कीः मौलाना अली कादरी, सीरत उन नबी चेयर मैन

हर अक्रांता ने शहरों के नाम बदले जिसके पीछे सबसे बड़ा कारण था कि वहां की संस्कृति को नष्ट करनाः प्रोफेसर कपिल
कुछ लोगों ने हैदराबाद में धर्मविरोधी बातें करके बिहार में भी जाकर चुनाव जीत लिया वो धर्म-अधर्म की बात करते हैंः प्रोफेसर कपिल
आप लोग एक बात और याद कीजिए कि जो आप नाम लेते हैं आपका इतिहास इराक, ईरान और सीरिया में दिखाई दिया हैः प्रोफेसर कपिल

कादरी साहब हों या कोई भी हो इन्हें ये बात तो माननी ही पड़ेगी कि इनकी पार्टी का नाम मुसलमानों के लिए रखा हैः विजय शंकर तिवारी

हिन्दू समाज को अपमानित करने के लिए इन लोगों ने 25 हजार मंदिरों को तोड़ा हैः सतीश अग्रवाल, दर्शक
हैदराबाद में भी इन लोगों ने कई हजार मस्जिदों को तोड़ा और वहां पर मस्जिदें बनाई हैंः सतीश अग्रवाल, दर्शक
अयोध्या का मामला आप सभी देख रहे हैं कि कैसे वहां राम मंदिर को तोड़कर मस्जिद बना दिया गया थाः सतीश अग्रवाल, दर्शक

बिलकुल बदला जाना चाहिए मैं देख रही हूं कि हैदराबाद का भी इतिहास बदलने वाला हैः हंसा पुरोहित, दर्शक
हैदराबाद का नाम भी बदलना चाहिए और वहां की हर चीज भी बदलनी चाहिएः हंसा पुरोहित, दर्शक
कभी वल्लभ भाई पटेल को एक पान खिलाकर हैदराबाद के निजाम ने वहां बदलाव किया था आज हमारे गृहमंत्री अमित शाह ने ओवैसी को एक मीठा पान खिलाकर हैदराबाद का नाम बदलने का प्रस्ताव रखा हैः हंसा पुरोहित, दर्शक

First Published : 30 Nov 2020, 08:26:46 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.