News Nation Logo

BREAKING

Banner

महाराष्ट्र की राजनीति में आया नया मोड़, शिवसेना के संजय राउत NCP चीफ शरद पवार से मिले

महाराष्ट्र की राजनीति में आया नया मोड़, संजय राउत NCP चीफ शरद पवार से मिले

By : Sushil Kumar | Updated on: 31 Oct 2019, 09:06:14 PM
संजय राउत

संजय राउत (Photo Credit: ANI)

मुंबई:

महाराष्ट्र की राजनीति में एक नया मोड़ आ गया है. बीजेपी-शिवसेना के बीच कुर्सी को लेकर जारी घमासन के बीच राजनीति की नई तस्वीर देखने को मिल रही है. शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने NCP चीफ शरद पवार से मुलाकात की है. संजय राउत ने शरद पवार से उसके आवास पर मुलाकात की है. उन्होंने कहा कि वे दिवाली के अवसर पर उन्हें बधाई देने गया था. इसके आगे उन्होंने कहा कि हमलोगों ने महाराष्ट्र की राजनीति पर भी चर्चा की. 

यह भी पढ़ें- RSS की 2 दिवसीय बैठक खत्म, कहा- राम मंदिर पर जो भी फैसले आए उसे सभी लोग खुले मन से स्वीकार करें

महाराष्ट्र में जिस 50-50 फॉर्मूले को लेकर शिवसेना-भाजपा के बीच तकरार चल रहा है, वह बिहार से निकला है. साल 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा ने बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के बीच सीटों के बंटवारे में इस फॉर्मूले को आजमाया था. इसी को हथियार बनाते हुए शिवसेना अब तीसरी बार भाजपा पर दबाव बना रही है. एक केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 50-50 फॉमूर्ला सबसे पहले लोकसभा चुनाव के दौरान बिहार में सामने आया था. इसी फॉर्मूले के आधार पर बिहार में राजग की घटक भाजपा और जदयू के बीच सीटों का बंटवारा हुआ था. इसके बाद से शिवसेना प्रमुख उद्धव लोकसभा से लेकर विधानसभा चुनाव तक इसी फॉर्मूले के दम पर सीटों के लिए दबाव बनाते रहे, लेकिन अब मुख्यमंत्री के पद के लिए दावा ठोकना 50-50 फॉर्मूले की गलत व्याख्या है.

यह भी पढ़ें- RPSC FDO AFDO Admit Card 2019: RPSC ने जारी किया एडमिट कार्ड, इस लिंक से करें डाउनलोड

महाराष्ट्र में इस बार बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, कांग्रेस को 44 और एनसीपी को 54 सीट मिली है. शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी साथ मिलकर सरकार बनाना चाहते हैं. संजय राउत और शरद पवार की मुलाकात महाराष्ट्र की राजनीति को नई दिशा दे सकती है. महाराष्‍ट्र में सरकार बनाने के लिए शिवसेना से चल रही खींचतान के बीच बीजेपी के राज्‍यसभा सांसद संजय काकड़े ने दावा किया था कि शिवसेना के 45 विधायक उनके संपर्क में हैं. बीजेपी सांसद संजय काकड़े के इस बयान से राजनीतिक हलकों में खलबली मच गई. हालांकि कुछ जानकार इसे बीजेपी की ओर से प्रेशर पॉलिटिक्‍स करार दे रहे हैं. इस बार शिवसेना के 56 विधायक चुनकर आए हैं.

यह भी पढ़ें- NCC गर्ल कैडेट को पोर्न क्लिप भेजता था मेजर जनरल रैंक का अधिकारी, अब होगा कोर्ट मार्शल

बीजेपी के राज्‍यसभा सांसद संजय काकड़े ने दावा किया था कि शिवसेना के 56 में से 45 विधायक बीजेपी के साथ सरकार बनाने को इच्‍छुक हैं और वे लगातार फोन कर रहे हैं. उनका कहना है कि उन्‍हें भी सरकार में शामिल किया जाए. संजय काकड़े ने कहा, शिवसेना के अब्दुल सत्तार विपक्ष में बैठने की बात कर रहे हैं. वो कांग्रेस से शिवसेना में आए हैं, इसलिए उन्‍हें विपक्ष में बैठने की आदत हो गई है. आज के समय में शिवसेना के सभी मंत्रियों को सरकार में रहने की आदत बन गई है.

First Published : 31 Oct 2019, 08:31:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो