logo-image
लोकसभा चुनाव

जब उत्तर भारतीयों पर शीला दीक्षित के बयान ने मचाया था बवाल, जानें क्या कहा था

साल 2007 में एक कार्यक्रम के दौरान शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) के उत्तर भारतीयों पर दिए गए एक विवादित बयान के चलते काफी बवाल झेलना पड़ा था.

Updated on: 21 Jul 2019, 08:29 AM

नई दिल्ली:

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) का शनिवार को दिल्ली स्थित एस्कॉटर्स अस्पताल में निधन हो गया. शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) 15 साल तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रही थीं. लगातार तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री रह चुकीं शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) कुछ समय से बीमार चल रहीं थीं. कांग्रेस की वरिष्ठ नेता का दौर विवादों से भरा रहा है. साल 2007 में एक कार्यक्रम के दौरान शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) के उत्तर भारतीयों पर दिए गए एक विवादित बयान के चलते काफी बवाल झेलना पड़ा था.

साल 2007 में तीन फ्लाईओवर के उद्धाटन सामारोह में पहुंची शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) ने कहा था,' दिल्ली को एक समृद्ध शहर के रूप में देखा जाता है. बिहार, यूपी और अन्य स्थानों से लोग यहां आते हैं. हम क्या कर सकते है? हम उन्हें रोक नहीं सकते. उन्हें रोकने के लिए कोई कानून नहीं है.'

और पढ़ें: अरविंद केजरीवाल के वो 5 आरोप जिसने हाशिये पर ला खड़ा किया शीला दीक्षित का राजनीतिक करियर

शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) ने कहा,' हम हर साल सुविधाओं में इजाफा करते हैं लेकिन हर साल करीब 5 लाख लोग यूपी-बिहार से दिल्ली आते हैं तो ऐसे में हम क्या कर सकते हैं.'

शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) के इस बयान को लेकर काफी हंगामा हुआ और बाद में शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) ने माफी मांगते हुए कहा कि उनके बयान को राजनीतिक फायदे के लिए गलत तरीके से पेश किया गया.

शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) ने कहा,' रोजगार की तलाश में दिल्ली आकर बसने वाले लोगों के दिल को ठेस पहुंचाने का उनका कोई इरादा नहीं था.'

और पढ़ें: दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का लंबी बीमारी के बाद 81 साल की उम्र में निधन

गौरतलब है कि उनके इस बयान को लेकर दिल्ली बीजेपी नेता डॉ हर्षवर्धन ने कहा था कि उन्होंने 40 लाख लोगों के सम्मान को ठेस पहुंचाई है जो दिल्ली में आकर उसके लिए लगातार काम करते हैं. शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) ने उत्तर भारतीयों की भावनाओं का मजाक उड़ाया है.