News Nation Logo
Banner

शरद पवार ने दिल्ली पहुंचते ही छोड़ा नया शिगूफा, कहा- शिवसेना का मुझे नहीं पता

शरद पवार ने दिल्ली पहुंचे ही एक नया शिगूफा छेड़ दिया है. उन्होंने यह कहकर महाराष्ट्र की सियासी हलचल और बढ़ा दी है कि उन्हें शिवसेना के बारे में कुछ पता नहीं है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 18 Nov 2019, 12:17:38 PM
सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे शरद पवार.

सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे शरद पवार. (Photo Credit: एजेंसी)

highlights

  • सोनिया गांधी से मुलाकात करने दिल्ली पहुंचे शरद पवार.
  • शिवसेना का पता नहीं कहकर बढ़ाई राजनीतिक गर्मी.
  • महाराष्ट्र में गहराता दिख रहा राजनीतिक संकट.

New Delhi:

महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी के समर्थन से नई सरकार के गठन और सूबे के मुख्यमंत्री पद पर किसी शिवसैनिक के बैठने का शिवसेना का सपना हाल के दिनों में पूरा होता नहीं दिख रहा है. शिवसेना को समर्थन के मसले पर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात और बात करने पहुंचे एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने दिल्ली पहुंचे ही एक नया शिगूफा छेड़ दिया है. उन्होंने यह कहकर महाराष्ट्र की सियासी हलचल और बढ़ा दी है कि उन्हें शिवसेना के बारे में कुछ पता नहीं है. गौरतलब है कि शिवसेना को समर्थन के मसले पर सोमवार शाम 4 बजे पवार की सोनिया गांधी से मुलाकात होनी है.

यह भी पढ़ेंः न्यायमूर्ति शरद अरविंद बोबडे ने CJI पद की शपथ ली, देश के 47वें मुख्य न्यायाधीश बने

शिवसेना ने एनसीपी के आगे किया समर्पण
न्यूनतम साझा कार्यक्रम और सरकार के गठन का फॉर्मूला तय नहीं हो सकने के कारण ही शिवसेना 17 नवंबर को सरकार बनाने का दावा पेश नहीं कर सकी थी. बीजेपी संग सरकार गठन के मसले पर औपचारिक 'तलाक' होने के बाद एनसीपी ने समर्थन के लिए सबसे पहली शर्त यही रखी थी कि शिवसेना बीजेपी से अपने तरह के संबंध और गठजोड़ को खत्म करे. सरकार और पार्टी का सीएम बनाने को आतुर शिवसेना ने इसके बाद बगैर देर किए केंद्रीय मंत्रिमंडल में अपने एकमात्र मंत्री अरविंद सावंत से इस्तीफा दिला दिया था.

यह भी पढ़ेंः JNU Student Protest: छात्रों ने संसद भवन तक शुरू किया विरोध मार्च, धारा-144 लागू, भारी पुलिसबल तैनात

कांग्रेस में दुविधा बरकरार
इसके बाद एनसीपी ने शिवसेना को समर्थन की गेंद कांग्रेस के पाले में डाल दी थी. अंदरखाने से जुड़े सूत्र बताते हैं कि सोनिया गांधी सिवसेना को समर्थन के मसले पर दुविधा में हैं. यही वजह है कि अभी तक कोई ठोस बयान पार्टी की तरफ से नहीं आया है. इस बीच एनसीपी ने भी संकेत दिए थे कि वह अपने विधायकों संग बैठक करने के बाद दिल्ली में सोनिया गांधी से सोमवार को चर्चा करेंगे.

यह भी पढ़ेंः Parliament Winter Session: पीएम मोदी ने कहा वाद हो, विवाद हो लेकिन सार्थक संवाद हो

एनसीपी-कांग्रेस का रुख तय नहीं
इसी कड़ी में सोमवार को एनसीपी प्रमुख शरद पवार दिल्ली पहुंचे. यह अलग बात है कि उन्होंने यहां पहुंचते ही एक नया शिगूफा छोड़ दिया. उन्होंने कहा, 'सोनिया गांधी से मुलाकात होगी. उसके बाद ही बात होगी. शिवसेना का मुझे पता नहीं, मुझे कांग्रेस के बारे में पता है. शिवसेना-बीजेपी ने साथ चुनाव लड़ा था. वह अपना रास्ता खुद तय करें हम अपनी राजनीति करेंगे.' जाहिर है शरद पवार के इस बयान ने महाराष्ट्र में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ा दी है. इस बयान से तो यही लगता है कि शिवसेना के समर्थन के मसले पर एनसीपी और कांग्रेस ने अभी कोई रुख फाइनल नहीं किया है.

First Published : 18 Nov 2019, 12:17:38 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो