News Nation Logo

सीरम ने बताया, पूरे देश में लगेगा वैक्सीनेशन में इतना वक्त

देश में कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए वैक्सीनेशन अभियान जोरों पर चल रहा है. इस बीच सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने पूरे देश में वैक्सीनेशन को लेकर बड़ी बात कही है.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 18 May 2021, 07:33:40 PM
vaccinated

सीरम ने बताया, पूरे देश में लगेगा वैक्सीनेशन में इतना वक्त (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

देश में कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए वैक्सीनेशन अभियान जोरों पर चल रहा है. इस बीच सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने पूरे देश में वैक्सीनेशन को लेकर बड़ी बात कही है. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने कहा कि हम दुनिया के 2 सबसे अधिक आबादी वाले देशों में से हैं, इतनी बड़ी आबादी के लिए टीकाकरण अभियान 2-3 महीनों के भीतर पूरा नहीं किया जा सकता है, क्योंकि इसमें कई कारक और चुनौतियाँ शामिल हैं. पूरी दुनिया की आबादी को पूरी तरह से टीका लगने में 2-3 साल लगेंगे.

केंद्र वैक्सीन को कारगर बनाने के लिए पाक्षिक कार्यक्रम पर कर रहा काम : पीएम
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 से अधिक प्रभावित 46 जिलों के जिलाधिकारियों (डीएम) के साथ पहली बातचीत में मंगलवार को कहा कि केंद्र सरकार वैक्सीन आपूर्ति को कारगर बनाने, टीकाकरण और अपव्यय को रोकने के लिए एक पाक्षिक कार्यक्रम पर काम कर रही है. प्रधानमंत्री ने आठ राज्यों के मुख्यमंत्रियों और अधिक प्रभावित क्षेत्रों के डीएम के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस पर बातचीत करते हुए उन्हें बताया, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय टीकाकरण के संबंध में व्यवस्थाओं और प्रक्रियाओं को लगातार सुव्यवस्थित कर रहा है, ताकि बड़ी रणनीति बनाई जा सके.

20 मई को 10 राज्यों के 54 जिलों के जिलाधिकारियों के साथ होगा

इस बीच, प्रधानमंत्री ने कहा कि बहुत बड़े पैमाने पर कोरोनावायरस वैक्सीन की आपूर्ति बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं. मोदी ने आगे कहा कि टीकाकरण कोविड से लड़ने का एक सशक्त माध्यम है, इसलिए हमें इससे जुड़े हर भ्रम को एकजुट होकर दूर करना होगा. मोदी ने कहा, यह देखते हुए कि छूत की जांच के लिए हमारे कवच में तीन मुख्य हथियार हैं, ये स्थानीय नियंत्रण क्षेत्रों, आक्रामक परीक्षण और स्थानीय आबादी को विशेष रूप से अस्पताल के बिस्तर जैसे चिकित्सा संसाधनों की उपलब्धता के संदर्भ में सही और सटीक जानकारी दे रहे हैं.

प्रधानमंत्री ने बाद में दवाओं और उपकरणों की कालाबाजारी पर नकेल कसने की जरूरत पर जोर देते हुए कहा, यदि आपको लगता है कि राज्य या केंद्र स्तर पर स्थापित रणनीतियों में बदलाव या नवाचार करने की आवश्यकता है, तो कृपया आगे बढ़ें और सुझाव मेरे या मेरे कार्यालय के साथ साझा करने में संकोच न करें.मोदी ने कहा, उन जगहों से सीखें, जहां इंफेक्शन कर्व (संक्रमण वक्र) नीचे की ओर जाता दिख रहा है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 18 May 2021, 07:08:59 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो