News Nation Logo

सपा सांसद के राम मंदिर निर्माण बयान पर बीजेपी पर राजनीतिक बहस हुई शुरू

पार्टी अध्यक्ष की इस विचारधारा से अलग सपा के राज्यसभा सांसद सुरेंद्र नागर ने रामभक्ति दिखाई है और ये रामभक्ति सीधे तौर पर बीजेपी की विचारधारा से प्रेरित नजर आती है.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 08 Oct 2018, 11:04:45 PM

नई दिल्ली:  

समाजवादी पार्टी (सपा) के राज्यसभा सांसद सुरेंद्र नागर ने अपनी भावनाएं जाहिर करते हुए लोकसभा चुनाव से पहले राम मंदिर निर्माण शुरू होने का जो बयान दिया है, उसे लेकर न सिर्फ राजनीतिकबयानबाजी शुरू हुई है, बल्कि सपा के सामने भी असहज स्थिति पैदा कर दी है. दरसअल बीजेपी की रामभक्ति से मुकाबला करने के लिए सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की ओर से सैफई में चक्रधारी भगवान कृष्ण की विशालकाय मूर्ति स्थापित कराई गई है.

इसके साथ ही अगली बार सरकार बनने पर इटावा में लॉयन सफारी के पास भगवान विष्णु के नाम पर शहर बसाने और इस शहर में कंबोडिया के अंगकोरवाट मंदिर की तर्ज पर एक भव्य विष्णु मंदिर बनाने का एेलान भी किया है.

पार्टी अध्यक्ष की इस विचारधारा से अलग सपा के राज्यसभा सांसद सुरेंद्र नागर ने रामभक्ति दिखाई है और ये रामभक्ति सीधे तौर पर बीजेपी की विचारधारा से प्रेरित नजर आती है.

यहीं वजह है कि लोकसभा चुनाव से ठीक पहले बीजेपी की नीतियों का परोक्ष समर्थन करने से सपा के लिए असहज स्थिति पैदा हो गई है और पार्टी इसे उनकी निजी विचारधारा बता रही है.

और पढ़ें: समाजवादी पार्टी के सांसद ने कहा, 6 महीने के भीतर राम मंदिर का होगा निर्माण

वहीं बीजेपी ने सपा सांसद की रामभक्ति पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि पहले उन्हें अपनी पार्टी के संरक्षक से रामभक्तों पर अयोध्या में गोली चलवाने के लिए माफी मांगने की बात करनी चाहिए.

First Published : 08 Oct 2018, 11:04:41 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.