News Nation Logo
Banner

AAP संकट: केजरीवाल और जैन के खिलाफ कपिल मिश्रा जाएंगे ACB, अन्ना बोले- सपना टूट गया

कपिल मिश्रा से शनिवार शाम दिल्ली का जल संसाधन मंत्रालय ले लिया गया था। इसके बाद से ही वह बगावती तेवर में हैं।

IANS | Edited By : Vineet Kumar | Updated on: 08 May 2017, 07:31:08 AM
कपिल मिश्रा के आरोप से दिल्ली की राजनीति में हलचल (फाइल फोटो)

highlights

  • कपिल मिश्रा ने लगाया है केजरीवाल पर दो करोड़ लेने का आरोप
  • एसीबी ऑफिस जाकर कपिल मिश्रा कराएंगे केजरीवाल और जैन के खिलाफ शिकायत दर्ज
  • अन्ना हजारे केजरीवाल पर आरोपों के बाद बोले, 'दुखी हूं', विश्वास और योगेंद्र यादव बोले- भरोसा नहीं किया जा सकता

नई दिल्ली:

दिल्ली कैबिनेट से हटाए जा चुके कपिल मिश्रा ने टैंकर घोटाले को लेकर एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) जाने का ऐलान कर दिया है। कपिल ने बताया है कि वह सोमवार सुबह 11 बजे एसीबी के ऑफिस जाएंगे।

कपिल मिश्रा ने कहा है कि वह टैंकर घोटाले को लेकर विभव पटेल और आशीष तलवार का नाम एसीबी के सामने रखेंगे। कपिल ने कहा, 'मैं सोमवार) सुबह 11 बजे के करीब एसीबी के पास जाऊंगा और केजरीवाल तथा जैन के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाऊंगा..मुझे किसी से कोई डर नहीं है। मेरे साथ ईश्वर है। यह कोई राजनीतिक कदम नहीं है, बल्कि भ्रष्टाचार के खिलाफ उठाई गई आवाज है।'

कपिल मिश्रा से शनिवार शाम दिल्ली का जल संसाधन मंत्रालय ले लिया गया था। इसके बाद से ही वह बगावती तेवर में हैं। इस बीच केजरीवाल के एंटी करप्शन आंदोलन में अगुवा रहे सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने कहा कि मौजूदा घटनाक्रम से उनका सपना टूट गया है।

केजरीवाल पर घूस के आरोप से शुरू हुआ 'आप' का रविवार

बर्खास्त जलमंत्री कपिल मिश्रा ने रविवार को दावा किया कि उन्होंने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन से दो करोड़ रुपये लेते देखा था। 'आप' ने जहां मिश्रा के आरोप का खंडन किया है, वहीं भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और कांग्रेस ने केजरीवाल से तत्काल इस्तीफा देने के लिए कहा है।

मिश्रा ने आप मंत्रिमंडल से बर्खास्त किए जाने के अगले दिन रविवार को कहा, 'शुक्रवार को मैंने जैन को केजरीवाल के घर पर उन्हें पैसे देते देखा था। मैंने केजरीवाल से पैसे के बारे में पूछा, लेकिन उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।'

बीजेपी नेता और पूर्वी दिल्ली नगर निगम की पूर्व महापौर अन्नपूर्णा मिश्रा के बेटे कपिल ने संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने उपराज्यपाल अनिल बैजल को इस बारे में सूचित कर दिया है और वह सभी जांच एजेंसियों को भी इस बारे में पूरा ब्योरा देंगे।

मिश्रा ने इसके अलावा जैन पर केजरीवाल के एक रिश्तेदार को 50 करोड़ रुपये के एक भूमि सौदे में मदद देने का आरोप भी लगाया है। मिश्रा ने कहा, 'जैन ने मुझे उस सौदे के बारे में खुद बताया था। मुझे लगता है कि जैन को जल्द ही जेल जाना पड़ेगा।'

केजरीवाल और सत्येंद्र जैन की चुप्पी

केजरीवाल और सत्येंद्र जैन ने अब तक मिश्रा द्वारा लगाए गए आरोपों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है, हालांकि उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास ने जरूर केजरीवाल का बचाव किया है।

सिसोदिया ने कपिल के आरोप को खारिज करते हुए कहा, 'केजरीवाल पर लगाया गया आरोप बेबुनियाद है। अपने ही मंत्री से पैसे लेने के आरोप पर कोई विश्वास नहीं करेगा। इस आरोप का कोई आधार नहीं है।'

सिसोदिया ने कहा कि गौर करने वाली बात है कि कपिल मिश्रा ने मंत्री पद से हटाए जाने के बाद आरोप लगाया है।

केजरीवाल को विश्वास और योगेंद्र का मिला साथ?

केजरीवाल पर आरोप लगने के बाद कुछ दिनों से क्रांति और सुधार की बात कर रहे कुमार विश्वास जरूर केजरीवाल के समर्थन में दिखे। विश्वास ने ट्वीट कर कहा कि केजरीवाल का सबसे बड़ा दुश्मन भी उनके भ्रष्ट होने की कल्पना नहीं कर सकता।

विश्वास ने कहा, 'अगर कहीं कुछ गलत हुआ है, तो उन्हें पार्टी के अंदर इस बात को उठाना चाहिए था। लेकिन बिना किसी सबूत के सार्वजनिक तौर पर इस तरह के आरोप लगाना सही नहीं है।'

विश्वास ने कहा कि पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति इस मसले पर आगे की कार्रवाई के बारे में निर्णय लेगी। वहीं, स्वराज इंडिया के संस्थापक योगेंद्र यादव ने कहा, 'मैं केजरीवाल के अंदर सत्ता की भूख, घमंड और तानाशाही होने की बात मान सकता हूं लेकिन घूस लेने के आरोपों के लिए ठोस सबूत होने चाहिए।'

यह भी पढ़ें: RCB Vs KKR: सुनील नारायण का तूफानी अर्धशतक, कोलकाता नाइट राइडर्स ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को 6 विकेट से हराया

केजरीवाल से इस्तीफे की मांग

बीजेपी ने केजरीवाल के इस्तीफे की मांग की है, वहीं कांग्रेस ने उनके खिलाफ आपराधिक कार्यवाही शुरू करने की मांग की है। भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा, 'केजरीवाल को मुख्यमंत्री के पद पर बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। उन्हें तत्काल इस्तीफा दे देना चाहिए।'

अन्ना का दुख

केजरीवाल के एंटी करप्शन आंदोलन में अगुवा रहे सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने वहीं घटनाक्रम पर दुख व्यक्त किया है।

हजारे ने महाराष्ट्र के अपने गांव में पत्रकारों से कहा, 'केजरीवाल दिल्ली में भ्रष्टाचार के खिलाफ चलाए गए आंदोलन के चलते ही मुख्यमंत्री बने। और आज, जब उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लग रहे हैं, मैं बयान नहीं कर सकता कि मुझे कितना दुख हो रहा है।'

यह भी पढ़ें: 'बिग बॉस 10' की एक्स कंटेस्टेंट मोनालिसा-विक्रांत सिंह गोवा में मना रहे हनीमून, फोटो वायरल

First Published : 07 May 2017, 11:05:00 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.