News Nation Logo

SDPI का विरोध करने पर RSS कार्यकर्ता की हत्या, बीजेपी का केरल बंद आज

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की केरल रैली से जुड़ा हुआ है, जो रविवार को हुई थी. उस दौरान भी एसडीपीआई वालों ने भड़काऊ नारे लगाए थे.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 25 Feb 2021, 10:42:28 AM
RSS murder

पीएफआई का राजनीतिक संगठन है एसडीपीआई, जिस पर है हत्या का आरोप. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

अलप्पुझा :

केरल (Kerala) में भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े लोगों पर राजनीतिक हिंसा का कहर जारी है. विगत दिनों अलप्पुझा में दो गुटों के बीच हुए संघर्ष में एक आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई. जानकारी के मुताबिक ‘सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (SDPI)’ ने एक रैली निकाली थी, जिसमें हिंसा हुई. इसमें 6 लोग घायल भी हुए हैं. इस हिंसा में 22 वर्षीय आरएसएस (RSS) कार्यकर्ता नंदू कृष्णा की हत्या कर दी गई. घटना के विरोध में भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने आज सुबह से शाम तक केरल बंद का आयोजन किया है. पुलिस ने इस मामले में एसडीपीआई कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज कराने का आश्वासन दिया है.

भड़काऊ नारे के विरोध में की गई हत्या
बताते हैं कि नंदू कृष्णा वायलार में संघ का स्थानीय प्रमुख था. आरएसएस के शाखा प्रमुख नंदू को इलाज के लिए एर्नाकुलम अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उसकी मौत हो गई. इस घटना के बाद पुलिस ने सुरक्षा कड़ी कर दी है क्योंकि भाजपा ने गुरुवार को दिन भर हड़ताल आहूत की है. यह घटना रात को नागामकुलंगरा रेलवे स्टेशन पर हुई. रैली दोपहर में ही निकाली गई थी, लेकिन शाम को विरोध प्रदर्शन के बाद हिंसा हुई. बताया जा रहा है कि  रैली में कुछ आपत्तिजनक टिप्पणी की गई थी, जिसके खिलाफ हिंदू कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे थे. नंदू के एक साथी पर भी चाकू से वार किया गया, जिनका इलाज चल रहा है. गौरतलब है कि एसडीपीआई ‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया’ का ही राजनीतिक संगठन है

यह भी पढ़ेंः गांधी परिवार के नजदीकी रहे अशोक तंवर आज लॉन्च करेंगे नई पार्टी

योगी आदित्यनाथ की रैली का कर रहे थे विरोध
सारा मामला उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की केरल रैली से जुड़ा हुआ है, जो रविवार को हुई थी. उस दौरान भी एसडीपीआई वालों ने भड़काऊ नारे लगाए थे और उसके बाद विरोध प्रदर्शन किए जा रहे थे. ये सभी सीएम योगी के खिलाफ बहिष्कार अभियान चला रहे थे. संघ ने भड़काऊ बयानबाजी पर आपत्ति जताई तो कार्यकर्ताओं पर हमला कर दिया गया. संघ के 3 अन्य कार्यकर्ता भी घायल हुए हैं. हाल ही में मलप्पुरम के तेनियापलम में पीएफआई की रैली में कुछ लोगों ने संघ की यूनिफॉर्म पहनी थी. परेड में आरएसएस की यूनिफार्म में शामिल लोगों को जंजीर से भी बांधा गया था. इस रैली के कई वीडियो और फोटो सामने आए थे, जिसमें देखा जा सकता है कि इस दौरान अल्लाह-हू-अकबर, ला इलाहा इल्लल्लाह मुहम्मदुर रसूलुल्लाह जैसे कई अन्य इस्लामी नारे लगाए गए.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 25 Feb 2021, 10:35:34 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.