News Nation Logo
Banner

दिल्ली हिंसा को लेकर मोहन भागवत बोले- देश की जिम्मेदारी हमारी, अब अंग्रेजों को नहीं कह सकते दोषी

दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून ( Citizenship Amendment Act) को लेकर हो रहे हिंसक प्रदर्शनों के बीच आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने बड़ी बात कही है.

News Nation Bureau | Edited By : Vikas Kumar | Updated on: 28 Feb 2020, 11:59:03 AM
Mohan Bhagwat

RSS Chief Mohan Bhagwat (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून ( Citizenship Amendment Act) को लेकर हो रहे हिंसक प्रदर्शनों के बीच आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने बड़ी बात कही है. संघ प्रमुख ने कहा है कि अगर हमारे देश में कुछ भी उलटा-सीधा होता है तो हम अंग्रेजों को उसका दोष नहीं दे सकते. संघ प्रमुख ने आगे कहा कि जब हम गुलाम थे तब जैसा चलता था वैसा चलता था लेकिन अब नहीं चलेगा.

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने नागपुर में चल रहे नववर्ष 2020 कार्यक्रम में सामाजिक अनुशासन पर जोर देते हुए कहा, हम अब स्वतंत्र हो चुके हैं. आज अपने देश में अपना राज है. राज्य की स्वतंत्रता टिकी रहे और राज्य सुचारु रूप से चलता रहे इसके लिए सामाजिक और नागरिक अनुशासन बेहद आवश्यक है.

यह भी पढ़ें: एसएन श्रीवास्‍तव होंगे दिल्‍ली पुलिस के नए कमिश्‍नर, अमूल्‍य पटनायक की जगह लेंगे

उन्होंने कहा कि हमारे देश में अब जो कुछ भी होगा उसके लिए हम जिम्मेदार होंगे. इसलिए हमको कोई भी निर्णय लेने से पहले बहुत बार विचार करना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि जब गुलाम थे तब जैसा चलता था वैसा चलता था लेकिन अब नहीं चलेगा.

यह भी पढ़ें: शेयर बाजार में हाहाकार, सेंसेक्स 1,100 प्वाइंट से ज्यादा लुढ़का, करीब 4 लाख करोड़ रुपये डूबे

अपने भाषण में उन्होंने भगिनी निवेदिता का भी जिक्र करते हुए कहा, इसके बारे में स्वतंत्रता से पूर्व भगिनी निवेदिता ने हम सभी लोगों को सचेत किया था कि देशभक्ति की दैनिक जीवन में अभिव्यक्ति नागरिकता के अनुशासन को पालन करने की होती है. अपने भाषण में मोहन भागवत ने अंबेडकर के भाषणा का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि स्वतंत्रत भारत का संविधान पेश करते हुए अंबेडकर साहब ने दो भाषण संसद में पेश किए थे. इन भाषणों में उन्होंने जिन बातों का जिक्र किया था वो यही बात हैं.

First Published : 28 Feb 2020, 11:43:34 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×