News Nation Logo
29 अक्टूबर से पीएम मोदी का इटली दौरा जेल में डालने वाला आज जेल में जाने से डरने लगा: नवाब मलिक जो फर्जीवाड़ा किया गया है, वो खुल खुलकर सामने आने लगा है: नवाब मलिक पंजाब में AAP की सरकार बनी, तो प्रदेश में किसी किसान को नहीं करने देंगे खुदकुशी: अरविंद केजरीवाल शाहरुख खान की 'मन्नत' पूरी, आर्यन को बेल; अब मन्नत में मनेगी दीपावली आर्यन खान समेत तीनों आरोपियों के विदेश जाने पर रोक भारत हमेशा से एक शांतिप्रिय देश रहा है और आज भी है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह हमारा देश किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह किसी भी विवाद को अपनी तरफ़ से शुरू करना हमारे मूल्यों के ख़िलाफ़ है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की 108 करोड़ डोज़ उपलब्ध कराई गईं: स्वास्थ्य मंत्रालय कर्नाटकः कोडागू जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय में 32 बच्चे कोरोना पॉजिटिव महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वासले हुए कोरोना पॉजिटिव कोरोना अपडेटः पिछले 24 घंटे में देश में 16,156 केस आए, 733 मरीजों की मौत हुई जम्मू-कश्मीरः डोडा में खाई में गिरी मिनी बस, 8 लोगों की मौत आर्य़न खान ड्रग्स केस में गवाह किरण गोसावी पुणे से गिरफ्तार पेट्रोल और डीजल के दामों में 35 पैसे की बढ़ोतरी कैप्टन अमरिंदर सिंह आज फिर मुलाकात करेंगे गृह मंत्री अमित शाह से क्रूज ड्रग्स मामले में आर्यन खान की जमानत पर आज फिर दोपहर में सुनवाई पीएम नरेंद्र मोदी आज आसियान-भारत शिखर वार्ता को करेंगे संबोधित दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पंजाब के दो दिवसीय दौरे पर आज जाएंगे

स्वच्छ पर्यावरण का अधिकार सफलता का पल: संयुक्त राष्ट्र एजेंसी प्रमुख

स्वच्छ पर्यावरण का अधिकार सफलता का पल: संयुक्त राष्ट्र एजेंसी प्रमुख

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 09 Oct 2021, 10:30:01 AM
Right to

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नैरोबी: संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) के कार्यकारी निदेशक इंगर एंडरसन ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद द्वारा स्वच्छ, स्वस्थ और पर्यावरण के अधिकार पर प्रस्ताव को स्वीकार करना पर्यावरण न्याय के लिए एक महत्वपूर्ण पल है।

यह अधिकार 1972 के स्टॉकहोम घोषणापत्र में निहित है। पांच दशक बाद, संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के प्रस्ताव के माध्यम से इसे वैश्विक स्तर पर औपचारिक रूप से मान्यता प्राप्त देखना बहुत उत्साहजनक है।

उन्होंने एक बयान में कहा, जिनेवा में शुक्रवार को लिया गया निर्णय, व्यक्तियों और समुदायों के लिए उनके स्वास्थ्य और आजीविका के लिए बहुत सारे जोखिमों के खिलाफ एक ढाल है। स्वस्थ पर्यावरण के अधिकार की मान्यता सामाजिक और पर्यावरणीय न्याय के लिए ऐतिहासिक है।

यह एक अरब बच्चों के लिए एक संदेश है जो एक बदली हुई जलवायु के प्रभावों के अत्यधिक उच्च जोखिम में हैं। एक स्वस्थ वातावरण आपका अधिकार है। कोई भी आपसे प्रकृति, स्वच्छ हवा और पानी या एक स्थिर जलवायु नहीं ले सकता है। संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम इसे ग्रह को सभी के लिए एक सुरक्षित और निष्पक्ष घर बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम मानता है।

यूएनईपी 13,000 से अधिक नागरिक समाज संगठनों और स्वदेशी लोगों के समूहों, दुनिया भर के 90,000 से अधिक बच्चों, राष्ट्रीय मानवाधिकार संस्थानों के वैश्विक गठबंधन और निजी क्षेत्र के हितधारकों द्वारा समर्थित स्वस्थ पर्यावरण के अधिकार पर वकालत की सराहना करता है।

उस गति में योगदान देने के लिए धन्यवाद जिसने इस दिन को संभव बनाया।

संकल्प पर्यावरणीय मामलों में काम कर रहे मानवाधिकार रक्षकों के जीवन, स्वतंत्रता और सुरक्षा के अधिकारों पर जोर देता है, जिन्हें पर्यावरण मानवाधिकाररक्षक कहा जाता है।

शारीरिक हमले, नजरबंदी, गिरफ्तारी, कानूनी कार्रवाई और बदनामी अभियान नागरिक समूहों, स्वदेशी लोगों और अन्य लोगों की दैनिक वास्तविकताएं हैं। अकेले 2020 में 200 से अधिक पर्यावरण रक्षकों की हत्या कर दी गई।

एंडरसन ने कहा कि आने वाले महीनों में, यूएनईपी पर्यावरण मानवाधिकार रक्षकों और नागरिक स्थान की रक्षा और बढ़ावा देने के लिए अपनी प्रतिबद्धता को बढ़ाएगा।

हम उम्मीद करते हैं कि यह संकल्प सरकारों, विधायकों, अदालतों और नागरिक समूहों को नए सिरे से एकजुटता के लिए आम एजेंडा के पर्याप्त तत्वों को आगे बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित करेगा, जिसे संयुक्त राष्ट्र महासचिव द्वारा पिछले महीने प्रस्तुत किया गया, साथ ही साथ मानवाधिकारों पर कार्रवाई के लिए 2020 का आह्वान भी किया गया था।

उन्होंने आगे कहा, कोई भी पीछे न छूटे, क्योंकि हम संघर्ष और युवाओं को सुनने के लिए जगह के साथ एक स्वस्थ ग्रह का निर्माण कर रहे हैं। यह वे लोग हैं जिन्हें यह धरती विरासत में मिली है क्योंकि हम कई जटिल चुनौतियों का सामना कर रहे हैं जिन्हें केवल अधिकार-आधारित और बहुपक्षीय दृष्टिकोण के माध्यम से ही संबोधित किया जा सकता है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 09 Oct 2021, 10:30:01 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.