News Nation Logo

रिलायंस ने राहुल गांधी के आरोपों को बताया गलत, कहा-UPA सरकार ने 1 लाख करोड़ के दिए थे ठेके

राहुल गांधी के आरोपों का जवाब रिलायंस ग्रुप ने रविवार को दिया. राहुल गांधी ने एक इंटरव्यू में अनिल अंबानी के क्रोनी कैपिटलिस्ट( राजनीतिक साठगांठ से काम करने वाला पूंजीपति) का आरोप लगाया.

PTI | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 05 May 2019, 09:48:00 PM
अनिल अंबानी और राहुल गांधी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

राहुल गांधी के आरोपों का जवाब रिलायंस ग्रुप ने रविवार को दिया. राहुल गांधी ने एक इंटरव्यू में अनिल अंबानी के क्रोनी कैपिटलिस्ट( राजनीतिक साठगांठ से काम करने वाला पूंजीपति) का आरोप लगाया. जिस पर रिलायंस की ओर से कहा गया कि यूपीए शासन के दौरान ग्रुप को 1 लाख करोड़ रुपये के ठेके मिले, क्या कांग्रेस सरकार बेईमान कारोबारी का साथ दे रही थी? ग्रुप ने यह भी कहा कि राहुल 'मिथ्याचार, दुष्प्रचार और दुर्भावना प्रेरित झूठ' को जारी रखे हुए हैं.

गौरतलब है कि राफेल सौदे को लेकर राहुल गांधी लगातार सरकार पर हमलावर हैं और रिलायंस को फायदा पहुंचाए जाने का आरोप लगा रहे हैं. रिलायंस ग्रुप ने राहुल गांधी के ताजा बयान पर कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने अपने दावों का कोई आधार नहीं बताया है ना ही उन्होंने बदनाम करने वाले प्रचार को उचित ठहराने के लिए कोई विश्वसनीय सूबत दिए हैं.
राहुल गांधी ने हाल ही में मीडिया को दिए बयान में अनिल अंबानी को क्रोनी कैपिटलिस्ट और बेईमान बताया. रिलायंस ग्रुप ने कहा कि गांधी झूठा और बदनाम करने वाला अभियान चला रहे हैं. ग्रुप की ओर से जारी बयान में कहा गया, 'उन्होंने हमारे चेयरमैन अनिल धीरूभाई अंबानी पर क्रोनी कैपटलिस्ट और बेईमान बिजनसमैन होने का आरोप लगाया, यह स्पष्ट रूप से बिल्कुल गलत है.'

इसे भी पढ़ें: राजकुमार के समझदार होने के इंतजार में कांग्रेस ने 10 साल तक देश पर एक्टिंग प्रधानमंत्री थोपा: पीएम मोदी

रिलायंस ग्रुप ने यह भी कहा है कि 2004-2014 के बीच कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार के 10 सालों के दौरान अनिल अंबानी के नेतृत्व वाले ग्रुप को पावर, टेलिकॉम, रोड, मेट्रो जैसे इन्फ्रास्ट्रक्चर सेक्टर्स में 1 लाख करोड़ रुपये के ठेके दिए गए. समूह ने राहुल गांधी से यह भी स्पष्ट करने को कहा है कि क्या उनकी सरकार 10 सालों तक एक कथित क्रोनी कैपटलिस्ट और बेईमान बिजनसमैन का समर्थन करती रही?

इसके साथ ही यह भी कहा गया कि राहुल के ही शब्दों को अधार बनाकर रिलायंस समूह इस मौके पर उनसे यह स्पष्ट करने का अनुरोध करता है कि क्या उनकी अपनी सरकार 10 साल तक एक कथित क्रोनी कैपिटलिस्ट और बेईमान कारोबारी की मदद कर रही थी.

First Published : 05 May 2019, 09:48:00 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.