News Nation Logo
Banner

AyodhyaVerdict: अयोध्या फैसले पर देखें पीएम नरेंद्र मोदी से लेकर राहुल गांधी तक ने क्‍या कहा

अयोध्या (Ayodhya) मामले पर शनिवार को आये सुप्रीम कोर्ट के फैसले के आलोक में सभी राजनीतिक दलों के नेताओं ने अपनी प्रतिक्रिया देने के लिए सोशल मीडिया (Social Media) साइट ट्विटर का सहारा लिया और सभी नेताओं ने लोगों से शांति औ सद्भाव बनाये रखने की अपील की .

By : Drigraj Madheshia | Updated on: 09 Nov 2019, 08:31:08 PM
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर (Photo Credit: फाइल)

दिल्ली:

अयोध्या (Ayodhya) मामले पर शनिवार को आये सुप्रीम कोर्ट के फैसले के आलोक में सभी राजनीतिक दलों के नेताओं ने अपनी प्रतिक्रिया देने के लिए सोशल मीडिया (Social Media) साइट ट्विटर का सहारा लिया और सभी नेताओं ने लोगों से शांति औ सद्भाव बनाये रखने की अपील की .आश्चर्यजनक रूप से केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के अधिकतर नेताओं ने फैसले पर व्यक्तिगत रूप से कोई ट्वीट नहीं किया बल्कि फैसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और गृह मंत्री अमित शाह के ट्वीट को रीट्वीट किया .केंद्रीय मंत्री नीतिन गडकरी ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो साझा किया जिसमें वह मीडिया को संबोधित करते देखे जा सकते हैं.उन्होंने कहा कि लोगों को उच्चतम न्यायालय के फैसले का शांति और अनुशासन के साथ आदर करना चाहिए .

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi)  ने भी आपसी सद्भाव बनाये रखने की अपील की .उन्होंने कहा, 'अदालत के निर्णय का सम्मान करने के साथ ही, हम सब लोगों को आसपसी सद्भाव बनाये रखना चाहिए .यह हम सभी भारतवासियों के बीच बंधन, विश्वास और प्रेम का समय है.” उच्च्तम न्यायालय के फैसले के बाद सद्भाव बनाये रखने की सराहना करते हुए बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कहा कि उनकी पार्टी उनसभी लोगों को सलाम करती है जिसने देश के सामाजिक, सांस्कृतिक और आध्यात्मिक ताने बाने को एकजुट होकर संरक्षित रखा .

यह भी पढ़ेंः AyodhyaVerdict: आरएसएस का बड़ा बयान, राम मंदिर ट्रस्ट में शामिल होंगे ये संगठन

शीर्ष अदालत ने शनिवार को अपने फैसले में अयोध्या (Ayodhya) में विवादित स्थल पर राम मंदिर बनाने एवं सुन्नी वक्फ बोर्ड को आयोध्या के वैकल्पिक लेकिन किसी प्रमुख स्थान पर मस्जिद निर्माण के लिए पांच एकड़ भूमि आवंटित करने का आदेश दिया था .उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या (Ayodhya) मामले पर उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुये शनिवार को कहा कि देश की एकता और सद्भावना बनाए रखने में सभी सहयोग करें .उन्होंने ट्वीट किया, 'माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्णय का स्वागत है, देश की एकता एवं सद्भाव बनाए रखने में सभी सहयोग करें.उत्तर प्रदेश में शांति, सुरक्षा और सद्भाव का वातावरण बनाए रखने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार पूर्ण रूप से प्रतिबद्ध है.'

यह भी पढ़ेंः वॉशिंगटन पोस्ट से लेकर डॉन तक ने क्‍या लिखा अयोध्‍या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले (Ayodhya Verdict) के बारे में, जानें यहां

केंद्रीय मत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शनिवार को उच्चतम न्यायालय द्वारा फैसला सुनाये जाने के बाद अपनी प्रतिक्रिया में कहा,'मैं सिर्फ इतना ही कहूंगा ‘जय श्री राम’.' जावड़ेकर ने ट्वीट कर कहा, 'अयोध्या (Ayodhya) मामले में माननीय उच्चतम न्यायालय का फैसला ऐतिहासिक, न्यायपूर्ण और संतुलित फैसला है.मुझे पूरा विश्वास है कि सभी लोग इसका स्वागत करेंगे.'

यह भी पढ़ेंः Ayodhya Verdict: अयोध्‍या पर फैसले को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने ऐसा काम किया जो पहले कभी नहीं हुआ था

केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स, सूचना प्रौद्योगिकी और संचार मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि माननीय उच्चतम न्यायालय ने आज एक ऐतिहासिक फैसला दिया है जो भारत की न्यायपालिका की गरिमा को बढ़ाने वाला है.उन्होंने ट्वीट किया, 'आज भारत की जीत हुई है.हम इस फैसले का सम्मान करते हैं.भगवान राम का जीवन मर्यादित आचरण का सर्वोच्च उदाहरण है.इसलिए हमें शांति, सद्भावना और विश्वास को और मजबूत करना चाहिए.भारत की शाश्वत सभ्यता और विकास के साथ देश शांति और समृद्धि की ओर बढ़े, यही कामना है.'

यह भी पढ़ेंः AyodhyaVerdict: राम लला को 500 साल के वनवास से मुक्‍त कराने वाले 92 वर्ष के इस शख्‍स की पूरी हुई अंतिम इच्‍छा

अयोध्या (Ayodhya) मामले पर उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने शनिवार को कहा कि इस न्यायिक निर्णय को ‘हार के हाहाकार और जीत के जुनूनी जश्न’ से बचाना चाहिए.नकवी ने एक बयान में कहा, ' दशकों पुराने अयोध्या (Ayodhya) मामले के निपटारे के लिए सर्वोच्च न्यायालय का फैसला स्वागत योग्य है.हम सभी को इसे तहेदिल से स्वीकार और इसका सम्मान करना चाहिए.अपने मुल्क की एकता, सौहार्द, भाईचारे की ताकत को मजबूत करना हम सबकी सामूहिक जिम्मेदारी है.'

यह भी पढ़ेंः Big News: अयोध्‍या पर दिए गए सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सुन्नी वक्फ बोर्ड कोई रिव्यू फाइल नहीं करेगा

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता नवाब मलिक ने लोगों से अपील की है कि वे इस मामले में और कोई विवाद पैदा नहीं करें.लोगों से शांति एवं सद्भाव बनाये रखने की अपील करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वर्षों पुराना विवाद आज समाप्त हो गया.माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि उच्चतम न्यायालय के पांच न्यायाधीशों की पीठ ने आज उस विवाद को समाप्त कर दिया जिसका इस्तेमाल सांप्रदायिक ताकतें करती आ रही थीं जिसके परिणाम स्वरूप बड़े पैमाने पर हिंसा होती थी और लोगों की जान जाती थी .

First Published : 09 Nov 2019, 08:31:08 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.