News Nation Logo
Banner

राम माधव को RSS में वापस लिया गया, शाह के समय‌ बीजेपी में थे महासचिव

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता राम माधव को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ यानी आरएसएस में लौट आए हैं. वह पहले संघ से भारती जनता पार्टी में महासचिव बनकर गए थे और कश्मीर समेत कई मामलों में बड़ी भूमिका निभाई.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 20 Mar 2021, 05:05:34 PM
Ram Madhav

राम माधव को RSS में वापस लिया गया (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • आरएसएस में राम माधव वापस लौटे
  • होसबोले के बाद एक और बड़ा फैसला
  • रामलाल को अखिल भारतीय संपर्क प्रमुख बनाया गया है

नई दिल्ली :

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता राम माधव को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ यानी आरएसएस में लौट आए हैं. वह पहले संघ से भारती जनता पार्टी में महासचिव बनकर गए थे और कश्मीर समेत कई मामलों में बड़ी भूमिका निभाई. अब एक बार फिर वह पुन: संघ में लौटकर उसके सेवा कार्यों में जुटेंगे. इस पहले दत्तात्रेय होसबोले को आरएसएस का सर कार्यवाह चुना गया है. यह संघ प्रमुख के बाद दूसरा अहम पद है. सुनील आम्बेकर को अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख बनाया गया हैं. वहीं, रामलाल को अखिल भारतीय संपर्क प्रमुख बनाया गया है. 

बता दें कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की नई टीम घोषित हो गई है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में बड़ा परिवर्तन हुआ है. अरुण कुमार और राम दत्त नए सह-सरकार्यवाह (ज्वाइंट जनरल सेक्रेटरी) बने हैं, जबकि रामलाल को संघ का अखिल भारतीय संपर्क प्रमुख बनाया गया है. खास बात है कि भाजपा से राम माधव की संघ में वापसी हुई है. भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव राम माधव को संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी में स्थान मिला है. भाजपा में राष्ट्रीय महासचिव बनने से पहले राममाधव संघ में थे.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में शनिवार को दत्तात्रेय होसाबले के सरकार्यवाह(महासचिव) बनने के नई टीम की घोषणा हुई. कुल पांच सह-सरकार्यवाह बने हैं. इसमें डॉ. कृष्ण गोपाल, मुकुंद सीआर, डॉ. मनमोहन वैद्य, राम दत्त, अरुण कुमार हैं. डॉ. कृष्ण गोपाल, मुकुंद और मनमोहन वैद्य इससे पहले भी यही जिम्मेदारी देख रहे थे. अरुण कुमार और राम दत्त को नया सह-सरकार्यवाह बनाया गया है. जबकि सुरेश सोनी को सह-सरकार्यवाह की जिम्मेदारी से मुक्त कर अखिल भारतीय कार्यकारिणी में जगह दी गई है. नए सह-सरकार्यवाह बने अरुण कुमार अभी तक अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख की जिम्मेदारी देख रहे थे. इससे पहले वह संघ के थिंकटैंक जम्मू-कश्मीर अध्ययन केंद्र के निदेशक भी रहे.

बेंगुलुरु में हुई अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की बैठक में संघ में और भी कई अहम पदों पर सर्वसम्मति से पदाधिकारियों का चयन हुआ है. सह-संपर्क प्रमुख की जिम्मेदारी देख रहे रामलाल को प्रमोशन देकर अब अखिल भारतीय संपर्क प्रमुख की जिम्मेदारी मिली है. वर्ष 2019 में रामलाल की भाजपा से संघ में वापसी हुई थी. सुनील आंबेकर को आरएसएस का अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख बनाया गया है. रोमेश पप्पा और आलोक अखिल भारतीय सह-संपर्क प्रमुख बने हैं. उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के क्षेत्र प्रचारक की जिम्मेदारी महेंद्र संभालेंगे.

यह भी पढ़ें : सिर्फ 10 Points में कांग्रेस की कहानी पढ़िये पीएम मोदी की जुबानी

 

 

First Published : 20 Mar 2021, 04:44:38 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.