News Nation Logo

मानहानि मुकदमा: राम जेठमलानी अब नहीं लड़ेंगे केजरीवाल का केस, मांगी 2 करोड़ बकाया फीस

राम जेठमलानी ने केजरीवाल को खत लिखकर आरोप लगाया है कि निजी बैठकों में वह जेटली के खिलाफ और भी ज्यादा अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल करते रहे हैं।

News Nation Bureau | Edited By : Vineet Kumar | Updated on: 26 Jul 2017, 01:56:40 PM
अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो)

highlights

  • अरुण जेटली ने किया था अरविंद केजरीवाल सहित छह आप नेताओं पर किया था मानहानि का मुकदमा
  • केजरीवाल ने जेठमलानी को जेटली के खिलाफ अभद्र भाषा के इस्तेमाल का निर्देश देने के आरोपों से किया था इंकार
  • दिल्ली सरकार ने इसी साल जेठमलानी को 3.5 करोड़ का किया था भुगतान

नई दिल्ली:

वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के मानहानि से जुड़े केस नहीं लड़ेंगे। साथ ही जेठमलानी ने दिल्ली के सीएम से 2 करोड़ से ज्यादा के बकाए अपने फीस की मांग भी की है। साथ ही राम जेठमलानी ने मांग की है कि उन्होंने जो खत केजरीवाल को भेजा है, उसे वे सार्वजनिक करें।

केजरीवाल पर मानहानि के मुकदमे केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने दायर किए थे।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक केजरीवाल की ओर से राम जेठमलानी को जेटली के खिलाफ कोर्ट में अपमानजनक भाषा का उपयोग करने के कथित निर्देश देने से इंकार करने के बाद वरिष्ठ वकील ने यह कदम उठाया है। राम जेठमलानी ने केजरीवाल को खत लिखकर आरोप लगाया है कि निजी बैठकों में वह जेटली के खिलाफ और भी ज्यादा अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल करते रहे हैं।

यह भी पढ़ें: उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी पर साधा निशाना, बोले- झूठे वादे कर चुनाव जीत सकते हैं युद्ध नहीं

बता दें कि जेठमलानी ने 17 मई को सुनवाई के दौरान जेटली के खिलाफ अभद्र भाषा का उपयोग किया था। जेठमलानी ने कोर्ट में केजरीवाल और पांच दूसरे 'आप' नेताओं के खिलाफ 10 करोड़ के मानहानि मुकदमे की सुनवाई के दौरान जेटली को अपराधी कहा था।

इसके बाद जेटली ने पूछा था कि क्या इन शब्दों का इस्तेमाल मुवक्किल के निर्देश पर हुआ था। तब जेठमलानी ने हामी भरी और जेटली ने फिर 10 करोड़ का एक और मानहानि का मुकदमा ठोक दिया था। नए मुकदमे के बाद केजरीवाल ने दिल्ली हाई कोर्ट में एक हलफनामा दायर कर कहा था कि उन्होंने ऐसा कोई निर्देश अपने वकील को नहीं दिया था।

बहरहाल, केजरीवाल के इंकार के बाद अब जेठमलानी ने केजरीवाल से अपने बकाए फीस की भी मांग की है। दिल्ली सरकार ने इसी साल फरवरी में जेठमलानी के 3.5 करोड़ फीस का भुगतान किया था।

यह भी पढ़ें: गुजरात में बाढ़ से 83 मौतें, पीएम मोदी ने 500 करोड़ रुपये का दिया राहत पैकेज

इस पूरे विवाद पर दिल्ली के सीएम कार्यालय ने कोई भी प्रतिक्रिया देने से इंकार किया है और कहा है कि उन्हें जेठमलानी के मुकदमा छोड़ने की जानकारी नहीं है।

जेटली ने दिसंबर 2015 में अरविंद केजरीवाल, राघव चड्ढ़ा सहित छह आप नेताओं पर मानहानि का केस किया था। केजरीवाल ने जेटली पर आरोप लगाया था कि उन्होंने दिल्‍ली जिला क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) के अध्‍यक्ष के 13 साल के कार्यकाल में कई वित्‍तीय गड़बडि़यां कीं।

यह भी पढ़ें: PICS: देशभर में महिलाएं हरियाली तीज को इस तरह से कर रही हैं सेलिब्रेट

First Published : 26 Jul 2017, 09:55:30 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो