logo-image
लोकसभा चुनाव

Rajiv Gandhi death anniversary: पीएम मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दी श्रद्धांजलि, कांग्रेस नेताओं ने भी किया नमन

Rajiv Gandhi Death Anniversary: पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की आज 33वीं पुण्यतिथि है. इस मौके पर पीएम मोदी समेत कांग्रेस के तमाम नेताओं ने पूर्व पीएम को श्रद्धांजलि दी.

Updated on: 21 May 2024, 10:05 AM

highlights

  • पूर्व पीएम राजीव गांधी की 33वीं पुण्यतिथि
  • पीएम मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दी श्रद्धांजलि
  • राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने भी किया नमन

New Delhi:

Rajiv Gandhi Death Anniversary: आज पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 33वीं पुण्यतिथि हैं. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें श्रद्धांजलि दी. इसके साथ ही कांग्रेस के तमाम दिग्गज नेताओं ने भी पूर्व पीएम को 'वीर भूमि' पहुंचकर नमन किया. पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि के मौके पर पीएम मोदी ने अपने आधिकारिक एक्स हैंडल से ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, 'हमारे पूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी जी की पुण्य तिथि पर उन्हें मेरी श्रद्धांजलि."

ये भी पढ़ें: Lok Sabha Election: भगवान जगन्नाथ को लेकर संबित पात्रा की फिसली जुबान, जानें अब क्यों मांग रहे माफी

वहीं कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने भी पूर्व पीएम को श्रद्धांजलि दी. उन्होंने दिल्ली स्थित राजीव गांधी की स्मारक वीर भूमि पहुंचकर उन्हें नमन किया. इनके अलावा कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम, पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने भी वीर भूमि पहुंचकर पूर्व पीएम राजीव गांधी को श्रद्धांजलि दी.

वीर भूमि पर प्रार्थना सभा का आयोजन

बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि के मौके पर उनकी स्मृति में वीर भूमि पर प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया. इसके साथ ही कांग्रेस ने अपने आधिकारिक एक्स हैंडल से लिखा, "शांति, सद्भाव और प्रगति के पुरोधा श्री राजीव गांधी जी को कोटिश: नमन." 

1991 में हुई थी पूर्व पीएम राजीव गांधी की हत्या

बता दें कि राजीव गांधी साल 1984 से लेकर साल 1989 तक भारत के प्रधानमंत्री रहगे. 21 मई 1991 को तमिलनाडु के श्रीपेरंबुदूर में एक चुनाव प्रचार के दौरान लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे) के सदस्यों ने उनकी हत्या कर दी. उनकी हत्या को मानव बम लगाकर किया गया था. पूर्व पीएम की हत्या के दो दिनों बाद तक किसी को ये बात समझ नहीं आई कि आखिर राजीव गांधी की हत्या क्यों, कैसे और किसने की.

दो दिनों तक जांच की गई. जिसमें पता चला कि उनकी हत्या के पीछे एक महिला का हाथ था. ये महिला मानव बम बनकर वहां पहुंची थी. वह पूर्व पीएम राजीव गांधी के पैर छूने के बहाने झुकी और उसके बाद उसने अपनी कमर में लगे बम का ट्रिगर दबा दिया. इस धमाके में राजीव गांधी समेत 18 लोगों की मौत हो गई.

ये भी पढ़ें: ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी के निधन पर भारत में आज राजकीय शोक, आधा झुका रहेगा राष्ट्रीय ध्वज