News Nation Logo
Banner

मध्‍य प्रदेश के बाद BJP का अगला निशाना राजस्‍थान! तीन दर्जन विधायकों के संपर्क में होने का दावा

राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत और उपमुख्‍यमंत्री सचिन पायलट के संबंध पहले से भी खराब दौर में है, जिसका फायदा बीजेपी उठाना चाहती है.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 11 Mar 2020, 08:56:49 AM
Ashok Gehlot, Sachin Pilot

MP के बाद BJP का अगला निशाना राजस्‍थान! तीन दर्जन विधायक संपर्क में (Photo Credit: Twitter)

नई दिल्‍ली:

मध्‍य प्रदेश में कमलनाथ सरकार (Kamalnath Govt) के नीचे से जमीन खिसका देने के बाद बीजेपी का अगला निशाना राजस्‍थान हो सकता है. राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और उपमुख्‍यमंत्री सचिन पायलट के संबंध पहले से भी खराब दौर में है, जिसका फायदा बीजेपी उठाना चाहती है. अब राजस्‍थान बीजेपी के सूत्रों ने बड़ा दावा कर कांग्रेस के होश उड़ा दिए हैं. राजस्‍थान बीजेपी के सूत्रों का दावा है कि कांग्रेस के तीन दर्जन से अधिक विधायक उनके संपर्क में हैं. अगर इस दावे पर भरोसा किया जाए तो कमलनाथ सरकार के बाद राजस्‍थान की गहलोत सरकार पर बीजेपी अगला स्‍ट्राइक कर सकती है.

यह भी पढ़ें : मध्य प्रदेश के बागी विधायकों को मनाने का जिम्‍मा डीके शिवकुमार को, बोले- जल्‍द लौट आएंगे

सीएम अशोक गहलोत की शिकायत कर चुके हैं सचिन पायलट 

राजस्‍थान के डिप्‍टी सीएम सचिन पायलट की तरह उनके गुट के विधायक भी अशोक गहलोत और उनकी कार्यप्रणाली से नाराज बताए जा रहे हैं. विधानसभा में पायलट कैंप के कई विधायक सरकार पर निशाना साध चुके हैं. यह भी कहा जा रहा है कि सचिन पायलट ने कांग्रेस आलाकमान से मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत की शिकायत कर चुके हैं. राजस्‍थान में सरकार बनने के बाद से ही अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच संबंध ठीक नहीं रहे हैं. इस बीच बीजेपी सूत्रों ने तीन दर्जन विधायकों के संपर्क में होने का दावा कर सनसनी फैला दी है.

यह भी पढ़ें : BJP को सता रहा कमलनाथ के जवाबी मास्‍टरस्‍ट्रोक का डर, विधायकों को भेजा गया गुड़गांव

राज्‍यसभा चुनाव को लेकर भी मची है रार
26 मार्च को राजस्थान (Rajsthan) से राज्यसभा की तीन सीटों के लिए चुनाव होना है. मौजूदा विधायकों की संख्‍या के आधार पर कांग्रेस के खाते में दो सीटें आनी तय मानी जा रही है. राज्‍यसभा चुनाव के प्रत्‍याशी के रूप में तारिक अनवर, राजीव अरोड़ा, भंवर जितेंद्र सिंह और गौरव वल्लभ आदि के नामों की चर्चा है. एक-दो दिनों में प्रत्‍यााशियों के नामों पर मुहर लग जाएगी. 13 मार्च तक उम्‍मीदवार नामांकन फाइल कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें : संकट से निपटने के लिए कांग्रेस बना रही है बड़ा 'गेम प्लान', जानें क्या होगा कमलनाथ मास्टर स्ट्रोक?

अशोक गहलोत राजीव अरोड़ा को राज्‍यसभा भिजवाने पर अड़े हुए हैं, लेकिन पायलट खेमा उनके नाम पर सहज नहीं है. सूत्र बता रहे हैं कि सचिन पायलट ने दिल्ली में आलाकमान से मिलकर राजीव अरोड़ा को लेकर अपनी नाराज़गी जता दी है. अरोड़ा मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत के करीबी माने जाते हैं. अभी वे प्रदेश में पार्टी के उपाध्यक्ष हैं और पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष रह चुके हैं.

राजस्‍थान विधानसभा का गणित
राजस्‍थान विधानसभा में कुल 200 सीटें हैं और सरकार बनाने के लिए 101 विधायकों की जरूरत होती है. 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 99 सीटों पर जीत हासिल की थी. सहयोगी और निर्दलीय विधायकों की मदद से कांग्रेस ने आसानी से बहुमत का जादुई आंकड़ा पार कर लिया था. वहीं BJP को महज 73 सीटे ही मिल पाई थीं. इन दोनों दलों के अलावा बसपा के 6 विधायक जीतकर आए थे.

First Published : 11 Mar 2020, 08:34:39 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.