News Nation Logo

रेलवे अपने अस्पतालों के लिए लगाएगा 86 ऑक्सीजन प्लांट

रेलवे एक तरफ ऑक्सीजन से भरी ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों को अलग-अलग हिस्सों में तेजी से पहुंचा रहा है, वहीं दूसरी तरफ यात्री और माल ढुलाई की आवाजाही जारी है.

IANS | Updated on: 18 May 2021, 04:46:29 PM
Indian Railway

Indian Railway (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • रेलवे ने अपनी आंतरिक चिकित्सा सुविधाओं को भी बढ़ा दिया है
  • रेलवे अस्पतालों में चार ऑक्सीजन संयंत्र काम कर रहे हैं, 52 को मंजूरी दी गई है

नई दिल्ली:

कोविड महामारी संकट से निपटने के लिए भारतीय रेलवे ने मंगलवार को कहा कि उसने देश भर में अपने अस्पतालों के लिए 86 ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित करने की योजना बनाई है और कोरोना वायरस संक्रमित रोगियों के लिए बेडों की संख्या 2,539 से बढ़ाकर 6,972 कर दी हैं. रेल मंत्रालय के प्रवक्ता डी.जे. नारायण ने कहा कि राष्ट्रीय ट्रांसपोर्टर कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं. रेलवे एक तरफ ऑक्सीजन से भरी ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों को अलग-अलग हिस्सों में तेजी से पहुंचा रहा है, वहीं दूसरी तरफ यात्री और माल ढुलाई की आवाजाही जारी है. उन्होंने कहा, 'साथ ही, रेलवे ने अपनी आंतरिक चिकित्सा सुविधाओं को भी बढ़ा दिया है." उन्होंने कहा कि पूरे भारत में 86 रेलवे अस्पतालों में बड़े पैमाने पर क्षमता वृद्धि की योजना है. उन्होंने कहा, "रेलवे अस्पतालों में चार ऑक्सीजन संयंत्र काम कर रहे हैं, 52 को मंजूरी दी गई है और 30 प्रसंस्करण विभिन्न चरणों में हैं. सभी रेलवे कोविड अस्पताल जल्द ही ऑक्सीजन संयंत्रों से लैस होंगे." नारायण ने कहा कि रेलवे जोन के महाप्रबंधकों को ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों को मंजूरी देने के लिए हर मामले में 2 करोड़ रुपये तक की राशी सौंपी गई हैं.

उन्होंने यह भी कहा कि रेलवे द्वारा कई उपाय शुरू किए गए हैं. उन्होंने कहा, "कोविड के इलाज के लिए बेडों की संख्या 2,539 से बढ़ाकर 6,972 कर दी गई है. कोविड अस्पतालों में आईसीयू बेडों को 273 से बढ़ाकर 573 कर दिया गया है." नारायण ने कहा कि रेलवे अस्पतालों में महत्वपूर्ण चिकित्सा उपकरण जैसे बीआईपीएपी मशीन, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर,ऑक्सीजन सिलेंडर आदि जोड़ने के लगातार प्रयास किए जा रहे हैं.

अधिकारी ने बताया कि रेलवे ने यह भी निर्देश जारी किया है कि कोविड प्रभावित कर्मचारियों को जरूरत के अनुसार पैनल में शामिल अस्पतालों में रेफरल आधार पर भर्ती किया जा सकता है. नारायण ने कहा, "रेलवे अस्पतालों में इस बड़े पैमाने पर क्षमता वृद्धि से चिकित्सा आपात स्थिति से निपटने के लिए बेहतर बुनियादी ढांचे की शुरूआत होगी." पिछले हफ्ते, रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष और सीईओ सुनीत शर्मा ने एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा था कि पिछले साल से कोविड के कारण कम से कम 1,952 रेलवे कर्मचारियों की मौत हो गई और 1,000 से अधिक कर्मचारी अभी भी कोविड से प्रभावित हैं. मंगलवार को, भारत ने कोविड के कारण 4,329 मौतें दर्ज कीं, जो अब तक 2.63 लाख ताजा मामलों के साथ एक दिन में सबसे ज्यादा हैं.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 18 May 2021, 04:46:29 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.