News Nation Logo
Banner

कांग्रेस में मचे घमासान के बीच छलका राहुल गांधी का दर्द, बोले- पार्टी नेताओं ने ही मेरी आलोचना की

इन दिनों देश कांग्रेस पार्टी अंदरुनी कलह से जूझ रही है, जो सड़कों पर खुलकर सामने आ चुकी है और अब पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का भी दर्द इसपर छलक उठा है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 03 Mar 2021, 08:39:03 AM
Congress Leader Rahul Gandhi

राहुल गांधी (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

इन दिनों देश कांग्रेस पार्टी अंदरुनी कलह से जूझ रही है, जो सड़कों पर खुलकर सामने आ चुकी है और अब पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का भी दर्द इसपर छलक उठा है. राहुल गांधी मंगलवार को कॉर्नेल यूनिवर्सिटी के एक ऑनलाइन कार्यक्रम में वर्चुअली शामिल हुए. इस कार्यक्रम में संवाद के दौरान कांग्रेस में मचे कलह को लेकर राहुल गांधी का दर्द छलक उठा. राहुल ने कहा कि मैं कांग्रेस में अंदरुनी लोकतंत्र को बढ़ावा देने की बात कई सालों से कर रहा हूं. इसके लिए मेरी ही पार्टी के लोगों ने मेरी आलोचना की थी. उन्होंने कहा कि मैंने अपनी पार्टी के लोगों से कहा कि पार्टी में अंदरुनी लोकतंत्र लाना निश्चित तौर पर जरूरी है. यह मेरा आपसे सवाल है.

यह भी पढ़ें : गुजरात निकाय चुनाव में AIMIM का धमाकेदार प्रदर्शन, कांग्रेस की छीनी जमीन

'कांग्रेस का मतलब आजादी के लिए लड़ने वाली संस्था'

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल ने कहा, 'मैं एक दशक से कांग्रेस में आंतरिक लोकतंत्र का पक्षधर रहा हूं. मैंने युवा और छात्र संगठन में चुनाव को बढ़ावा दिया. मैं पहला व्यक्ति हूं, जिसने पार्टी में लोकतांत्रिक चुनावों को महत्वपूर्ण माना है.' उन्होंने कहा कि हमारे लिए कांग्रेस का मतलब आजादी के लिए लड़ने वाली संस्था, जिसने भारत को संविधान दिया. वह बोले कि हमारे लिए लोकतंत्र और लोकतांत्रिक प्रक्रियाएं बरकरार रखना महत्वपूर्ण है. 

देखें : न्यूज नेशन LIVE TV

आपातकाल पर भी रखीं अपनी बातें

इस दौरान राहुल गांधी ने दादी इंदिरा गांधी द्वारा लगाए गए आपातकाल पर भी अपनी बातें रखीं. उन्होंने आपातकाल को गलत बताया. राहुल ने कहा कि ये दादी की गलती थी, मगर पार्टी ने इसका फायदा नहीं उठाया. इसके साथ ही राहुल ने इसका बचाव किया. उन्होंने कहा कि जो अभी हो रहा है और जो उस समय हो रहा था, दोनों में काफी बड़ा फर्क है. कांग्रेस पार्टी ने कभी भी भारत के संवैधानिक ढांचे को हथियाने की कोशिश नहीं की. पार्टी का डिजाइन इसकी अनुमति नहीं देता है. अगर हम चाहें भी तो ऐसा नहीं कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें : हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला- प्राइवेट Jobs में सूबे के लोगों को 75 प्रतिशत आरक्षण

बीजेपी और आरएसएस पर साधा निशाना

कार्यक्रम में राहुल ने बीजेपी और आरएसएस पर भी जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा, 'वर्तमान सरकार भारत की लोकतांत्रिक प्रणाली को नुकसान पहुंचा रही है. भारत में हर संस्था की स्वतंत्रता पर हमला किया जा रहा है. आरएसएस हर जगह घुसपैठ कर रही है.' उन्होंने कहा कि दशकों तक कांग्रेस लोकतंत्र के लिए लड़ती आई है तभी हमारी पार्टी के भीतर लोकतंत्र को लेकर चर्चा होती है. बाकी किसी भी पार्टी में चाहे वह बीजेपी, बसपा और सपा हों कहीं भी पार्टी के भीतर लोकतंत्र की बात नहीं होती.  

First Published : 03 Mar 2021, 08:39:03 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.