News Nation Logo
Banner

राहुल गांधी बोले- उन लोगों की जरूरत नहीं, जो RSS की विचारधारा पर...

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Congress Leader Rahul Gandhi) ने शुक्रवार को पार्टी छोड़कर जाने वाले नेताओं पर हमला बोला है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 16 Jul 2021, 04:54:14 PM
rahul gandhi

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • राहुल ने कांग्रेस सोशल मीडिया सेल के लिए नियुक्त किए गए वालंटियर्स को किया संबोधित
  • कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड के सांसद ने भाजपा पर साधा निशाना

नई दिल्ली:

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Congress Leader Rahul Gandhi) ने शुक्रवार को पार्टी छोड़कर जाने वाले नेताओं पर हमला बोला है. उन्होंने शुक्रवार को कांग्रेस सोशल मीडिया सेल के लिए नियुक्त किए गए वालंटियर्स को संबोधित करते हुए कहा कि बहुत से निडर लोग हैं, जो कांग्रेस में नहीं हैं. उन्हें अंदर लाया जाना चाहिए और बीजेपी से डरने वाले कांग्रेसियों को बाहर का दरवाजा दिखाया जाना चाहिए. हमें उन लोगों की जरूरत नहीं है जो आरएसएस की विचारधारा में विश्वास करते हैं. हमें निडर लोगों की जरूरत है.

यह भी पढ़ें : T20 विश्व कप : ICC के ऐलान के साथ ही पाकिस्तान की हार की भविष्यवाणी 

आपको बता दें कि कांग्रेस सांसद राहुल गांधी मोदी सरकार को निशाना साधने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं. वे कभी महंगाई पर तो कभी वैक्सीनेशन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरते रहते हैं. राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी के फेक न्यूज से कांग्रेसियों को डरने की जरूरत नहीं है. अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहते हैं कि उत्तर प्रदेश में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोरोना हालात पर नियंत्रण करने के लिए अच्छा काम किया है तो उन पर हंसिए. अगर पीएम मोदी कहते हैं कि भारत के क्षेत्र में चीन नहीं घुसा है तो उनपर हंसिए.  

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने वालंटियर्स को संबोधित करते हुए कहा कि अब लोगों ने बीजेपी द्वारा फैलाए जा रहे फेक न्यूज पर विश्वास करना बंद कर दिया है, इसलिए किसी को बीजेपी से अब डरने की जरूरत नहीं है.

आपको बता दें कि इससे पहले राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा था कि जुलाई आ गया है, वैक्सीन नहीं आई. उन्होंने कहा था कि कोई भी परिवार वित्त मंत्री के आर्थिक पैकेज को रहने, खाने, मेडिकल बिल, स्कूल फीस पर खर्च नहीं कर सकता है. पैकेज नहीं, सिर्फ एक और धोखा है. उनकी टिप्पणी सीतारमण द्वारा 6,28,993 करोड़ रुपये के आठ राहत उपायों की घोषणा के एक दिन बाद आई है. 

यह भी पढ़ें : ट्रेन की बुकिंग करना हुआ आसान इस तरह करें मिनटों में बुकिंग

उन्होंने कहा था कि पेट्रोल-डीज़ल टैक्स वसूली के छोटे से हिस्से से कोविड पीड़ित परिवारों को हर्जाना दिया जा सकता है- ये उनकी ज़रूरत है, अधिकार है. आपदा में जन सहायता के इस अवसर से मोदी सरकार को पीछे नहीं हटना चाहिए.

First Published : 16 Jul 2021, 04:26:18 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.