News Nation Logo
Banner

राफेल पर राहुल का फिर सरकार पर हमला, बोले- झूठ बोल रही हैं रक्षा मंत्री, मोदी 15 मिनट मुझसे बहस करें

राफेल मुद्दे पर कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी सोमवार को एक बार फिर आक्रामक नजर आए. उन्‍होंने कहा, लंबे भाषण के बाद भी निर्मला सीतारमन ने मेरे सवालों का जवाब नहीं दिया.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 07 Jan 2019, 02:07:00 PM
राहुल गांधी (ANI)

नई दिल्ली:

राफेल मुद्दे पर कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी सोमवार को एक बार फिर आक्रामक नजर आए. उन्‍होंने कहा, लंबे भाषण के बाद भी निर्मला सीतारमन ने मेरे सवालों का जवाब नहीं दिया. उन्‍होंने कहा, आप मेरे सवालों का जवाब दीजिए- क्‍या एयरफोर्स के सीनियर लोगों ने आपके इंटरफियरेंस पर ऑब्‍जेक्‍शन किया था या ना. उन्‍होंने कहा, सवाल बहुत सिंपल है पर पता नहीं सरकार इसका जवाब नहीं दे पा रही है.

उन्‍होंने कहा, सरकार ने दसॉ को 20 हजार करोड़ रुपये का पेमेंट कर दिया पर अब तक एक भी राफेल लड़ाकू विमान नहीं आया. अनिल अंबानी के मित्र बिना हवाई जहाज भेजे 20 हजार करोड़ रुपये ले जाते हैं, लेकिन सरकार सरकारी कंपनी HAL को उसका पैसा नहीं देते हैं. उन्‍होंने कहा, यह आपका पैसा है, यह अनिल अंबानी का नहीं. रक्षा मत्री जो रक्षा मंत्री है ही नहीं, वो तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रवक्‍ता हैं. उन्‍होंने कहा, लोकसभा में रक्षा मंत्री ने झूठ बोला. देश के चौकीदार लोकसभा में आने से डरते हैं. अगर नरेंद्र मोदी जी मेरे साथ 15 मिनट डिबेट कर जाएं तो पूरे देश को समझ आ जाएगा कि चौकीदार ने चोरी कराई है.

यह भी पढ़ें : HAL ने अपनी वित्तीय स्थिति पर दी सफाई, कांग्रेस और बीजेपी में छिड़ी जुबानी जंग

उन्‍होंने कहा, रक्षा मंत्री ने पार्लियामेंट में कहा कि एक लाख करोड़ रुपए HAL को दिए गए और आज कहा कि 26,570 करोड़ रुपए दिए हैं. मैं फिर पूछता हूं कि क्‍या जब आपने 126 को 36 में किया था क्या तब डिफेंस और एयरफोर्स के आला अफसर ने विरोध किया था या नहीं.

बता दें कि वित्तीय संकट का सामना करने की खबरें सामने आने के बाद हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) ने रविवार को कहा कि 83 हल्के लड़ाकू विमानों और 15 हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टरों के ऑर्डर अभी अंतिम चरण में हैं और उसकी वित्तीय स्थिति में सुधार की संभावनाएं हैं. एचएएल ने यह भी कहा कि उसने अपनी मौजूदा जरूरतें पूरी करने के लिए 962 करोड़ रुपए का ओवरड्राफ्ट (बैंक से धनराशि लेना) लिया था.

यह भी पढ़ें : यात्रीगण कृपया ध्यान दें, अब ट्रेन के समय से 20 मिनट पहले पहुंचना होगा स्टेशन! जानें क्यों

एचएएल ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘एचएएल को लेकर मीडिया में आई विभिन्न खबरों के मद्देनजर, यह स्पष्ट किया जाता है: एचएएल ने 962 करोड़ रुपए का ओवरड्राफ्ट लिया है. मार्च तक अनुमानित संग्रह से नगद की स्थिति में सुधार हो सकता है. एलसीए मैक1ए (83) और एलसीएच (15) अंतिम चरण में हैं.’’ कंपनी ने यह ट्वीट ऐसे समय में किया जब मीडिया में ऐसी खबरें आई कि वह वित्तीय संकट से जूझ रही है. अपने कर्मियों के वेतन भुगतान के लिए उसे उधार लेना पड़ा.

HAL ने अपनी वित्तीय स्थिति पर दी सफाई, कांग्रेस और बीजेपी में छिड़ी जुबानी जंग

First Published : 07 Jan 2019, 01:53:26 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.