News Nation Logo
Banner

राहुल गांधी ने PM मोदी पर कसा तंज, कांग्रेस ने बुजुर्गों को बाहर का रास्ता नहीं दिखाया

राहुल गांधी ने लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और अन्य कई वरिष्ठ नेताओं को दरकिनार करने के लिए भारतीय जनता पार्टी की निंदा की.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 18 May 2019, 01:22:59 PM
Rahul Gandhi (File Pic)

highlights

  • राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर कसा तंज
  • 23 के पहले कुछ नहीं बोलूंगा - राहुल
  • चुनाव आयोग की भूमिका पक्षपातपूर्ण रही

नई दिल्ली:

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर वरिष्ठ नेताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाने पर हमला बोला और कहा कि उनकी पार्टी वरिष्ठों का सम्मान करती है और उनके अनुभव का इस्तेमाल करेगी. गांधी ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, "सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह और हमारे अन्य वरिष्ठ नेताओं के पास काफी अनुभव है. और हम उनके अनुभव का इस्तेमाल करेंगे."

वह 23 मई के चुनाव परिणाम के मद्देनजर अन्य पार्टियों के साथ बातचीत के लिए संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के आगे आने के सवाल पर जवाब दे रहे थे. राहुल ने कहा, "हम बीजेपी जैसे नहीं हैं. हम अपने वरिष्ठ नेताओं को बाहर नहीं करते. बल्कि हम अपने वरिष्ठों के अनुभवों का लाभ उठाते हैं." उन्होंने लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और अन्य कई वरिष्ठ नेताओं को दरकिनार करने के लिए बीजेपी की निंदा की.

यह पूछे जाने पर कि मोदी उनके ऊपर निजी हमले कर रहे हैं, राहुल ने कहा, "यदि मोदीजी मेरे परिवार के बारे में बुरा कहना चाहते हैं, तो यह उनका मामला है. लेकिन मैं उनके परिवार या उनके बारे में कुछ भी बुरा नहीं कहूंगा. इसके बदले मैं उन्हें प्यार लौटाऊंगा."

यह भी पढ़ें - सोनिया गांधी ने क्षेत्रीय दलों से बातचीत के लिए बनाई कोर टीम, जानिए कौन-कौन है शामिल

कांग्रेस नेता ने इस सवाल पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया कि उनकी पार्टी कितनी सीटें जीतेगी. उन्होंने कहा, "मैं कई बार कह चुका हूं कि देश के लोग यह तय करेंगे. सबकुछ लोगों के निर्णय के आधार पर तय होगा. इसलिए मैं 23 मई को जनता का निर्णय आने से पहले कुछ नहीं बोलूंगा." कांग्रेस अध्यक्ष ने निर्वाचन आयोग पर पक्षपाती होने का आरोप लगाया और कहा कि प्रधानमंत्री के लिए उसका नियम अलग है और अन्य विपक्षी नेताओं के लिए अलग नियम.

यह भी पढ़ें - लोकसभा चुनाव 2019: आखिरी चरण 19 मई को, PM मोदी समेत इन दिग्गजों की साख दांव पर

राहुल ने कहा, "यह कहने में अच्छा नहीं लग रहा, लेकिन निर्वाचन आयोग की भूमिका पक्षपातपूर्ण रही है." उसका नियम मोदीजी के लिए अलग और हमारे लिए अलग रहा है. उन्होंने कहा, "पक्षपात स्पष्ट तौर पर दिखाई दे रहा है." राहुल ने कहा, "यहां तक कि चुनाव का पूरा कार्यक्रम मोदी को लाभ पहुंचाने के लिहाज से तैयार किया है. लेकिन देश की जनता इस बात को समझती है." उन्होंने कहा कि कांग्रेस निर्वाचन आयोग में एक संस्थान के नाते भरोसा करती है.

First Published : 18 May 2019, 01:22:59 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.