News Nation Logo
Banner

दिल्‍ली हिंसा को लेकर गृह मंत्री अमित शाह पर उठे सवाल, जानें दंगे से निपटने को क्‍या-क्‍या किया

कांग्रेस की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने कार्यसमिति की बैठक के बाद प्रेस कांफ्रेंस कर दिल्‍ली दंगे के लिए सीधे-सीधे गृह मंत्री अमित शाह को जिम्‍मेदार ठहराया.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 27 Feb 2020, 09:38:35 AM
दिल्‍ली हिंसा से निपटने के लिए अमित शाह ने जानें क्‍या किया

दिल्‍ली हिंसा से निपटने के लिए अमित शाह ने जानें क्‍या किया (Photo Credit: ANI Twitter)

नई दिल्‍ली:

दिल्‍ली में हिंसा (Delhi Violence) को लेकर गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) पर सवाल उठ रहे हैं. कांग्रेस की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने कार्यसमिति की बैठक के बाद प्रेस कांफ्रेंस कर दिल्‍ली दंगे के लिए सीधे-सीधे गृह मंत्री अमित शाह को जिम्‍मेदार ठहराया. सोनिया गांधी ने सवाल उठाए कि रविवार से अमित शाह कहां थे, वे क्‍या कर रहे थे? और दंगों को रोकने के लिए उन्‍होंने क्‍या किया? साथ ही उन्‍होंने अमित शाह के इस्‍तीफे की मांग भी कर दी. ऐसे में यह जानना लाजिमी हो जाता है कि दिल्‍ली हिंसा को रोकने के लिए गृह मंत्री ने क्‍या किया?

यह भी पढ़ें : मोदी सरकार और दिल्‍ली पुलिस की खिंचाई करने वाले दिल्‍ली हाई कोर्ट के जज का तबादला

24 फरवरी 2020, समय : 7 बजे शाम
रविवार शाम करीब 4 बजे के बाद दिल्ली में हिंसक घटनाएं शुरू हुईं. देर शाम गृह मंत्री अमित शाह ने अपने आवास पर उच्‍चाधिकारियों की बैठक बुलाई, जिसमें गृह सचिव, निदेशक इंटेलीजेंस ब्यूरो, दिल्ली पुलिस कमिश्नर और अन्य वरिष्ठ अफसर शरीक हुए. बैठक तीन घंटे तक चली, जिसमें अमित शाह ने दिल्ली पुलिस को सख्त फैसले लेने का निर्देश दिया. उस रात एक बजे तक अमित शाह ने हालात की समीक्षा की.

25 फरवरी 2020, समय : 9 बजे सुबह
गृह मंत्री अमित शाह ने अपने मंत्रालय के उच्‍चाधिकारियों के साथ हालात की समीक्षा को लेकर बैठक की.

यह भी पढ़ें : अमेरिका ने दिल्‍ली में रह रहे अपने नागरिकों को चेताया, हिंसाग्रस्‍त इलाकों में जाने से बचें

12 बजे दोपहर, बैठक नंबर 1
नॉर्थ ब्लॉक में दिल्‍ली के मुख्य राजनीतिक पार्टियों के नेताओं और दिल्ली के अधिकारियों के साथ बैठक की. बैठक में दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी और दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा आदि शामिल हुए. बैठक में अमित शाह बोले- “ऐसी स्थिति से दलीय राजनीति से ऊपर उठकर ही सामना किया जा सकता है.” उन्‍होंने सभी पार्टियों से प्रभावित इलाकों में अपने सांसद, विधायक, पार्षद, कार्यकर्ताओं को दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ भेजने की अपील की, जिससे आम लोगों के बीच भय के माहौल को दूर किया जा सके. अमित शाह ने दिल्ली पुलिस को स्थानीय शांति कमेटियों से मिलकर लोगों से बातचीत शुरू करने को भी कहा.

1.30 बजे दोपहर, बैठक नंबर 2
गृह मंत्री अमित शाह ने नॉर्थ ब्लॉक में गृह सचिव और इंटेलीजेंस ब्यूरो के निदेशक के साथ बैठक की. बैठक में दिल्ली के हालात की समीक्षा की गई.

यह भी पढ़ें : दिल्ली हिंसा के बहाने स्वरा भास्कर ने की 'गंदी बात'

6:00 बजे शाम
एसएन श्रीवास्तव को दिल्ली का स्पेशल पुलिस कमिश्नर नियुक्त किया गया.

6.30 बजे, बैठक नंबर 3
अमित शाह ने गृह सचिव, निदेशक इंटेलीजेंस ब्यूरो, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डिप्टी NSA, दिल्ली पुलिस कमिश्नर, एसएन श्रीवास्तव और अन्य अफसरों संग अपने आवास पर बैठक की. बैठक में शांति, कानून और व्यवस्था की बहाली के लिए अहम फैसले लिए गए. देर रात अजीत डोवाल नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में डीसीपी ऑफिस पहुंचे और फिर प्रभावित इलाकों का दौरा किया. रात दो बजे तक गृह मंत्री शाह ने दिल्ली के हालात की समीक्षा की.

यह भी पढ़ें : आज ही के दिन अभिनंदन वर्तमान ने दिखाई थी जाबांजी, पाकिस्‍तान के F-16 को किया था तबाह

26 फरवरी 2020, समय : शाम 6 बजे
NSA अजित डोभाल दिन में प्रभावित इलाकों में लोगों से बात करने के बाद शाम 6 बजे नॉर्थ ब्लॉक पहुंच कर अमित शाह को हालातकी जानकारी दी. बैठक में निदेशक आईबी, दिल्ली पुलिस कमिश्नर समेत कई वरिष्ठ अफसर भी उपस्‍थित रहे.

First Published : 27 Feb 2020, 09:30:02 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×