News Nation Logo

धान खरीद में देरी को लेकर पंजाब, हरियाणा में विरोध प्रदर्शन (लीड-1)

धान खरीद में देरी को लेकर पंजाब, हरियाणा में विरोध प्रदर्शन (लीड-1)

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 02 Oct 2021, 06:40:01 PM
Protet acro

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

चंडीगढ़: पंजाब और हरियाणा में हाल ही में हुई भारी बारिश के कारण केंद्र सरकार द्वारा धान की खरीद 11 अक्टूबर तक टाल दिए जाने के बाद शनिवार को दोनों कृषि प्रधान राज्यों में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया।

संयुक्त किसान मोर्चा ने दोनों राज्यों में विधायकों और सांसदों के आवासों के बाहर विरोध प्रदर्शन करने का आह्वान किया था।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के करनाल स्थित आवास के बाहर किसानों ने टेंट लगा दिया है। वहां अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है।

हरियाणा पुलिस ने कई जगह किसानों पर लाठीचार्ज किया और वाटर कैनन का इस्तेमाल किया।

पंचकूला में भाजपा विधायक ज्ञानचंद गुप्ता के घर के बाहर प्रदर्शन करने जा रहे किसानों पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया।

किसानों के राज्यव्यापी आक्रोश को देखकर खट्टर कृषि मंत्री जेपी दलाल के साथ केंद्रीय मंत्रियों से मिलने और तीन कृषि कानूनों के खिलाफ जारी आंदोलन के बीच गतिरोध को खत्म करने के समाधान की तलाश में नई दिल्ली पहुंचे।

खट्टर ने राष्ट्रीय राजधानी के लिए रवाना होने से पहले कहा, किसानों को धान खरीद में किसी तरह की दिक्कत नहीं होगी।

न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर धान की मूल खरीद की तारीख पंजाब में 1 अक्टूबर थी। हरियाणा में, यह आधिकारिक तौर पर 25 सितंबर को शुरू होने वाला था।

ज्यादातर जगहों पर किसानों ने पुलिस के बैरिकेड तोड़ दिए हैं और विधायकों के आवासों के प्रवेश-निकास द्वार के बाहर धरने पर बैठ गए हैं।

बीकेयू नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने कहा, हमने पहले ही राज्य सरकार को धान खरीद में देरी न करने की चेतावनी दी थी। सरकार को किसानों को और नुकसान से बचने के लिए तुरंत प्रक्रिया शुरू करनी चाहिए। यदि सरकार तुरंत खरीद शुरू करने में विफल रहती है, तो उन्हें बड़े पैमाने पर आंदोलन के लिए तैयार रहना चाहिए।

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि किसानों का आंदोलन दिन-ब-दिन हिंसक होता जा रहा है। उन्होंने शनिवार को एक ट्वीट में कहा, महात्मा गांधी के देश में हिंसक आंदोलन की अनुमति नहीं दी जाएगी। किसानों के नेताओं को आंदोलन के दौरान धैर्य रखना चाहिए।

केंद्र ने शुक्रवार को कहा कि धान खरीद में देरी किसानों और उपभोक्ताओं के समग्र हित में है, साथ ही बेमौसम बारिश के कारण धान के दाने की परिपक्वता में देरी हो रही है।

उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि भारतीय मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार, सितंबर 2021 के दौरान पंजाब और हरियाणा में बारिश सामान्य से क्रमश: 77 और 139 प्रतिशत अधिक हुई।

एक दिन पहले पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी और उनसे धान खरीद को 10 दिनों के लिए स्थगित करने के निर्णय को वापस लेने का अनुरोध किया था।

विरोधस्वरूप शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के अध्यक्ष सुखबीर बादल धान से भरी ट्रॉली के साथ खाद्यान्न की नमी की जांच कराने के लिए यहां भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) के प्रधान कार्यालय पहुंचे।

बादल ने कहा, भारत सरकार द्वारा धान की खरीद को 10 दिनों के लिए स्थगित करने के बाद किसानों की सहायता के लिए आना पंजाब सरकार की जिम्मेदारी है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 02 Oct 2021, 06:40:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.