News Nation Logo

किसान आंदोलन को लेकर चली हाईलेवल मीटिंग, जेपी नड्डा के आवास से निकले कृषि मंत्री

किसान आंदोलन किसानों के आंदोलन पर राजनीति भी गर्म है. आरोप प्रत्यारोप के बीच केंद्र सरकार ने भी किसानों को बातचीत के लिए बुलाया है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 29 Nov 2020, 03:43:21 PM
farmers

LIVE: प्रदर्शनकारी किसान आगे की रणनीति को लेकर आज करेंगे बैठक (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली की सीमाओं पर हजारों की संख्या में किसान जमे हैं. आगे की रणनीति के लिए आज किसान बैठक करेंगे. शनिवार दिन में उनकी संख्या बढ़ती गई, क्योंकि काफी संख्या में किसान यहां और पहुंच गए. सैकड़ों किसान महानगर के बुराड़ी मैदान में इकट्ठे हुए और नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन किया. हालांकि शनिवार को किसानों का आंदोलन शांतिपूर्ण रहा. लेकिन उधर, किसान आंदोलन किसानों के आंदोलन पर राजनीति भी गर्म है. आरोप प्रत्यारोप के बीच केंद्र सरकार ने भी किसानों को बातचीत के लिए बुलाया है.

किसान आंदोलन को लेकर चली हाईलेवल मीटिंग, जेपी नड्डा के आवास से निकले कृषि मंत्री 

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के आवास पर 2 घंटे चली हाईलेवल मीटिंग. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और गृहमंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे. 

किसान आंदोलन को लेकर जेपी नड्डा के आवास पर चल रही अहम बैठक, कृषि मंत्री भी मौजूद.

किसान यूनियन ने कुछ लोगों द्वार मीडिया से अभद्रता के चलते माफी मांगी है. उन्होंने कहा कि हर बैठक के बाद प्रेस नोट जारी करेंगे.


हम बुरारी नहीं जायेंगे. हमारे 30 किसान संगठन सर्वसम्मति के बाद निर्णय लेते हैं. हमारे नेता आज बाद में इसके बारे में मीडिया को जानकारी देंगे. बलदेव सिंह सिरसा


केजरीवाल बोले- केंद्र सरकार किसानों से तुरंत बिना शर्त बात करें 


किसानों ने दिल्ली की सीमा पर ही डटे रहने का फैसला लिया है. यह फैसला विरोध प्रदर्शन में जुटे विभिन्न किसान संगठनों के प्रतिनिधियों की कोर कमेटी की बैठक में लिया गया है.

'मन की बात' कार्यक्रम में पीएम मोदी ने किसानों का जिक्र किया है. उन्होंने कहा कि नए कृषि कानूनों से किसानों को अधिकार मिले हैं.

हम जो फैसला लेते हैं वो किसानों के हित में होता है. लोगों के बीच गलतफहमी पैदा की जा रही है, हमारी अपील है कि वो गलतफहमी के शिकार न हो- शाहनवाज हुसैन

किसान आंदोलन पर बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि किसानों की चिंता हम करते हैं और करते रहेंगे. किसान हमारे दिल में बसते हैं, किसानों को भड़काने का काम कोई न करें. 


दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर के बाद अब दिल्ली गाजियाबाद बॉर्डर पर कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है.



किसान आंदोलन पर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, 'जिस तरह से किसानों को दिल्ली में आने से रोका गया है ऐसा लगता है कि वे देश के किसान नहीं बल्कि बाहर के किसान है. उनके साथ आतंकवादी जैसा बर्ताव किया गया है. इस तरह का बर्ताव करना देश के किसानों का अपमान करना है.'


सिंघु बॉर्डर(दिल्ली-हरियाणा) पर किसानों के विरोध प्रदर्शन की वजह से यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, यात्रियों को कई किलोमीटर पैदल भी चलना पड़ रहा है. एक यात्री रामू ने बताया कि सारा रास्ता जाम है, 5-6 किलोमीटर पैदल आया हूं. 


नए कृषि कानूनों के खिलाफ टिकरी बॉर्डर पर किसान प्रदर्शनकारियों का विरोध प्रदर्शन अभी भी जारी है. एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि पंजाब से 7 लाख आदमी आए हैं. हम यहीं रहेंगे, सारी सड़कें ब्लॉक कर देंगे. हम 6 महीने का राशन लेकर आए हैं. 

टिकरी बॉर्डर (दिल्ली हरियाणा बॉर्डर) पर किसान 4 दिन से चक्का जाम करके बैठे हुए हैं. बॉर्डर बंद होने की वजह से लोगों को भी काफी परेशानी हो रही है.

पंजाब से सोनीपत पहुंचे किसान आज दोपहर को 12 बजे बैठक कर आगे की रणनीति बनाएंगे.

First Published : 29 Nov 2020, 06:39:52 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.