logo-image
लोकसभा चुनाव

आईआईएम उदयपुर में बतौर प्रोफेसर स्मृति ईरानी ने ली क्लास

आईआईएम उदयपुर में बतौर प्रोफेसर स्मृति ईरानी ने ली क्लास

Updated on: 02 Mar 2023, 05:05 PM

जयपुर:

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने विजिटिंग प्रोफेसर के तौर पर आईआईएम उदयपुर के अनुसंधान और प्रशिक्षण के लिए केंद्रीय शैक्षणिक गतिविधियों में हिस्सा लिया।

एचआर क्षेत्र में आईआईएम उदयपुर में पूर्णकालिक संकाय सदस्य प्रोफेसर कुणाल कुमार द्वारा उन्हें अतिथि संकाय के रूप में आईआईएम उदयपुर में आमंत्रित किया गया था।

ईरानी ने द नेसेसिटी एंड पिटफॉल्स ऑफ रैंकिंग मैनेजमेंट इंस्टीट्यूशंस: द एनआईआरएफ एक्सपीरियंस पर एक रिसर्च को प्रस्तुत किया। रिसर्च में मुख्य लेखक के रूप में स्मृति ईरानी, सह-लेखक के रूप में प्रोफेसर कुणाल कुमार (आईआईएम उदयपुर) और प्रोफेसर सुशांत मिश्रा (आईआईएम बैंगलोर) रहे।

अपने रिसर्च में, वे एक राष्ट्रीय रैंकिंग फ्रेमवर्क के महत्व के बारे में बताते हैं, जो भारत की विशाल विविधता (क्षेत्रीय और भाषाई विविधता) का ख्याल रखता है और सामाजिक-आर्थिक रूप से वंचित लोगों के लिए देखभाल करने के लिए संस्थानों को पुरस्कृत करता है।

1 मार्च को केंद्रीय मंत्री ने एमबीए प्रोग्राम के छात्रों के लिए एचआर वर्ग के लिए जॉब एनालिसिस पर एक सत्र पढ़ाया। उन्होंने आईआईएम उदयपुर के प्रमुख एमबीए प्रोग्राम के कोर कोर्स ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट में तीन बैक-टू-बैक सत्र (प्रत्येक 75 मिनट का) लिया।

स्मृति ईरानी ने केस मेथड के जरिए एमबीए छात्रों की क्लास ली, जिसमें उन्होंने हार्वर्ड बिजनेस स्कूल के केस क्लबमेड पर चर्चा की। उन्होंने क्लास को चार डी- डू, डिस्कस, डिबेट और डेलीबेरेट पर आधारित थी। कक्षा का समापन छात्रों द्वारा मंत्री के जॉब एनालिसिस करने के साथ हुआ।

प्रो कुणाल और प्रो सुरजीत, जिन्होंने सत्रों में भाग लिया, सभी ने प्रोफेसर स्मृति ईरानी की शिक्षण शैली की प्रशंसा की। उनके अनुसार, कक्षाएं व्यावहारिक, प्रेरणादायक और छात्रों द्वारा बहुत अच्छी तरह से प्राप्त की गईं।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.