News Nation Logo
Breaking

कोरोना टेस्टिंग को लेकर प्रियंका गांधी ने CM योगी आदित्यनाथ को लिखा पत्र

पत्र में प्रियंका गांधी ने लिखा कि पूरे देश समेत उत्तर प्रदेश में भी कोरोना वायरस का कहर अपने पैर पसार रहा है. हमारी स्वास्थ्य व्यवस्था के सामने ये बड़ी चुनौती है कि हम किस तरह से वायरस से संक्रमित व्यक्तियों की पहचान कर उपचार कर सकें

Ravikant | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 10 Apr 2020, 12:31:24 PM
Priyanka gandhi

प्रियंका गांधी (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली/लखनऊ:  

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी में कोरोना टेस्टिंग और ट्रीटमेंट की सुविधा बढ़ाने को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है. पत्र में प्रियंका गांधी ने लिखा कि पूरे देश समेत उत्तर प्रदेश में भी कोरोना वायरस का कहर अपने पैर पसार रहा है. हमारी स्वास्थ्य व्यवस्था के सामने ये बड़ी चुनौती है कि हम किस तरह से वायरस से संक्रमित व्यक्तियों की पहचान कर उपचार कर सकें व संक्रमण का आगे बढ़ना रोक सकें.  

यह भी पढ़ेंः पीएम नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस को लेकर मित्र देशों को दिया आश्वासन, कही यह बात

उन्होंने लिखा कि संक्रमण को रोकने के लिए स्क्रीनिंग और टेस्टिंग की संख्या को बढ़ाना एक बहुत ही कारगर उपाय है. छह करोड़ की आबादी वाले देश दक्षिण कोरिया ने हर 1000 लोगों पर करीब 6 लोगों की टेस्टिंग की और वायरस के संक्रमण को रोकने में सफलता हासिल की है. राजस्थान के भीलवाड़ा में युद्ध स्तर पर काम हुआ और 9 दिनों के भीतर 24 लाख लोगों की स्क्रीनिंग करके ज्यादा से ज्यादा जांचें की गईं और संक्रमित लोगों की पहचान की गई. उत्तर प्रदेश की जनसंख्या लगभग 23 करोड़ के आस-पास है जबकि टेस्टिंग के लिए गए सैम्पलों की संख्या केवल 7000 के आस-पास है. जनसंख्या के हिसाब से प्रदेश में हो रही जांचों की संख्या अभी बहुत कम है. टेस्टिंग को तेज गति से बढ़ाना आवश्यक है. उत्तर प्रदेश जैसे विशाल जनसंख्या वाले राज्य के लिए टेस्टिंग की संख्या बढ़ाना एक रामबाण साबित हो सकता है.

यह भी पढ़ेंः कोरोना संक्रमित मौलवी के खिलाफ दर्ज केस, लॉकडाउन के दौरान तबलीगी जमात के साथ जगह-जगह घूमने का आरोप

पत्र में उन्होंने मुख्यमंत्री को सुझाव देते हुए लिखा है कि हमें ज्यादा से ज्यादा लोगों की जांच कर ‘mild to moderate high risk cases’ को युद्धस्तरीय तत्परता के साथ इलाज करना पड़ेगा, जिससे हमारे आईसीयू पर कम से कम दबाव पड़े. साथ ही अपने ‘आइसोलेशन वार्ड और क्वारेंटाइन सेंटर्स’ को मानवीय गरिमा के अनुरूप बनाना पड़ेगा. उन्होंने ने चिंता जाहिर करते हुए लिखा है कि प्रदेश के कई सारे क्वारेंटाइन केंद्रों से बदहाली की खबर आ रही है. कई जगहों पर खाने, रुकने व साफ सफाई का इंतजाम ठीक नहीं है. कृपया इसको संज्ञान में लेकर व्यवस्थित करवाने की पूरी कोशिश करें. इन केंद्रों में जो गरीब लोग हैं उनके परिवार को गारंटी के साथ भोजन, राशन व भत्ता दिया जाय ताकि इन व्यक्तियों को अपने परिवार के सदस्यों के प्रति चिंता को कम किया जा सके.

यह भी पढ़ेंः Corona Epidemic से अप्रैल अंत तक राहत की उम्मीद, संक्रमण से निपटने तीन फेज योजना

उन्होंने पत्र में मुख्यमंत्री को लिखा है कि आपने स्वयं कल से मास्क पहनना अनिवार्य घोषित किया है. कृपया युद्धस्तर मास्क व सैनिटाईजर का वितरण सुनिश्चित करें व लोगों को स्पष्ट रूप से बताया जाय कि उन्हें मास्क व सैनिटाइजर कहाँ से और कैसे मिलेंगे. कांग्रेस महासचिव ने पत्र में लिखा है कि यह जरूरी है कि सामाजिक स्तर पर आम लोगों में भरोसा और विश्वास जागने के लिए सरकार ऐसे कदम उठाए जिससे कि लोग स्वयं सामने आएँ. ऐसा करने का एक तरीका यह हो सकता है कि इन क्षेत्रों में काम कर रहे एनजीओ, सामाजिक संगठनों, अन्य राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं की मदद ली जाए, उनसे विचार-विमर्श करके इस लड़ाई में शामिल किया जाय.

यह भी पढ़ेंः अमेरिका और ब्रिटेन के बाद अब इजरायल ने भी PM मोदी का जताया आभार

उन्होंने पत्र में कहा है कि कांग्रेस इस संकट में सदैव मदद के लिए तैयार है. इस महामारी पर विजय लोगों का भरोसा जीतकर ही हासिल की जा सकती है. डर फैला करके
उन्होंने लिखा है कि इस महामारी से लड़ने में हम साथ हैं. कोरोना वायरस की कोई जाति और धर्म नहीं है. इसका असर सब पर एक सा है. इस युद्ध में हमें अपनी राजनीतिक सोच को परे रखकर पूरी जनता को एक साथ लाने वाले, भयमुक्त वातावरण बनाने वाले कदम उठाने की बहुत आवश्यकता है. कांग्रेस पार्टी का हर नेता और हर कार्यकर्ता जनता का साथ देने के लिए तैयार है.

First Published : 10 Apr 2020, 12:31:24 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.