News Nation Logo
Banner

अमेठी में पुलिस कस्टडी में हुई मौत पर प्रियंका गांधी ने बीजेपी सरकार पर बोला हमला, पुलिस पर उठाए सवाल

उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले में बैंक डकैती के एक मामले में पूछताछ के लिए बुलाए जाने के बाद मंगलवार को पुलिस हिरासत में मारे गए सत्य प्रकाश शुक्ला की हिरासत में हुई मौत को लेकर सियासत शुरू हो गई है.

By : Dalchand Kumar | Updated on: 30 Oct 2019, 12:03:33 PM
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले में बैंक डकैती के एक मामले में पूछताछ के लिए बुलाए जाने के बाद मंगलवार को पुलिस हिरासत में मारे गए सत्य प्रकाश शुक्ला की हिरासत में हुई मौत को लेकर सियासत शुरू हो गई है. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के बाद अब कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने राज्य की योगी सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि यूपी पुलिस अपराधियों पर मेहरबान है, लेकिन हर दिन नागरिकों को परेशान करने में माहिर है और बीजेपी सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है.

यह भी पढ़ेंः पुलिस कस्टडी में लूट के आरोपी की मौत पर अखिलेश यादव ने उठाए सवाल, योगी सरकार को घेरा

प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को योगी सरकार पर हमला बोलते हुए ट्वीट में लिखा, 'यूपी पुलिस अपराधियों पर मेहरबान है लेकिन हरदिन नागरिकों को परेशान करने में माहिर है. प्रतापगढ़ के सत्य प्रकाश शुक्ला का परिवार बता रहा है कि उनको बच्चों के सामने टॉर्चर किया गया. हापुड़ में इस तरह की घटना हुई थी. बीजेपी सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही.'

उधर, इस मामले में अज्ञात पुलिसकर्मियों पर मामला दर्ज किया गया है. 45 वर्षीय व्यापारी की मौत के बाद सुल्तानपुर जिले की शहर कोतवाली में प्राथमिकी दर्ज की गई है. शुक्ला के परिजनों ने आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस की यातनाओं के कारण उनकी मौत हुई. मृतक के परिजनों ने मंगलवार को क्षेत्रीय लोगों के साथ मिलकर आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग करते हुए धरना दिया. 

यह भी पढ़ेंः बाबरी मस्जिद पर आज ही के दिन कोठारी बंधुओं ने फहराया था भगवा झंडा, फायरिंग में गई थी जान

पुलिस ने कहा कि पांच अक्टूबर को एक कैश वैन में यूको बैंक की शाखा में पैसे स्थानांतरित किए जा रहे थे. उस दौरान बैंक कर्मचारियों से हुई 26 लाख रुपये की लूट में शुक्ला उर्फ साजन शुक्ला कथित तौर पर शामिल था. पुलिस ने दावा किया कि उसके पास शुक्ला से पूछताछ करने के लिए पर्याप्त सबूत थे, लेकिन परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया कि शुक्ला से इसी मामले में दो बार पहले भी पूछताछ की गई और कोई सबूत नहीं होने के कारण उसे छोड़ दिया गया था. 

शुक्ला के भाई ओम प्रकाश ने दावा किया कि अमेठी के पीपरपुर पुलिस थाने के पुलिसकर्मी मंगलवार सुबह तीन बजे उनके घर में घुस गए और परिवार को कारण बताए बिना साजन शुक्ला को उनके दो बेटों राहुल और साहिल के साथ जबरन ले गए. ओमप्रकाश ने कहा कि बाद में परिजनों को सूचित किया गया कि उनकी पुलिस हिरासत में मौत हो गई है. शुक्ला के दोनों बेटों ने भी दावा किया कि उनके पिता को लूट में शामिल होने की बात स्वीकार करने के लिए प्रताड़ित किया गया था. अमेठी की पुलिस अधीक्षक ख्याति गर्ग ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि शुक्ला ने कोई जहरीला पदार्थ खा लिया था, जिसके बाद उसकी तबियत खराब हो गई. उन्होंने कहा कि पुलिस ने उन्हें तुरंत नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया और बाद में सुल्तानपुर जिला अस्पताल में रेफर कर दिया गया जहां उसकी मौत हो गई.

यह वीडियो देखेंः 

First Published : 30 Oct 2019, 12:03:15 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.