News Nation Logo

पीएम नरेंद्र मोदी 16 जनवरी से कोरोना टीकाकरण अभियान की करेंगे शुरुआत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश में कोरोना टीकाकरण अभियान की शुरुआत करेंगे. इस बीच देश के अलग-अलग हिस्सों में वैक्सीन की खेप पहुंचना जारी है. यह दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण कार्यक्रम होगा जो पूरे देश को कवर करेगा.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 15 Jan 2021, 08:59:57 PM
Prime Minister Narendra Modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Photo Credit: न्यूज नेशन )

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश में कोरोना टीकाकरण अभियान की शुरुआत करेंगे. इस बीच देश के अलग-अलग हिस्सों में वैक्सीन की खेप पहुंचना जारी है. यह दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण कार्यक्रम होगा जो पूरे देश को कवर करेगा. लॉन्च के दौरान सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के कुल 3006 वैक्सिनेशन केंद्र जुड़ेंगे. उद्घाटन के दिन प्रत्येक सेंटर पर 100 लाभार्थियों को टीका लगाया जाएगा.

16 जनवरी टीकाकरण 

1. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश में कोरोना टीकाकरण अभियान की शुरुआत करेंगे

2. सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के कुल 3006 वैक्सिनेशन केंद्र जुड़ेंगे

3. उद्घाटन के दिन प्रत्येक सेंटर पर 100 लाभार्थियों को टीका लगाया जाएगा

4. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह 10.30 बजे टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे

5. ये कार्यक्रम सरकारी और निजी दोनों क्षेत्रों के फ़्रंट लाइन वर्कर्स को टीका लगाने के लिए ख़ास तौर पर चलाया जा रहा है.

6. पहले दिन करीब तीन लाख स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगाई जाएगी

7.   2,934 केंद्रों पर टीके लगाए जाएंगे. हर सेंटर पर 100 हेल्थ वर्कर को टीका लगेगा

8.  केंद्र सरकार ने 1.65 करोड़ डोज राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को भेजा है

9. राज्य, केन्द्र शासित प्रदेशों की सरकारों द्वारा जिलों में वितरित किया गया है

10. देश के अलग-अलग हिस्सों में वैक्सीन की खेप पहुंचना जारी है

11.  यह दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण कार्यक्रम होगा

12. चौबीस घंटे की हेल्पलाइन जारी की गयी है जिसका नंबर है 1075

13.   1075 पर डायल कर वैक्सीनेशन से जुड़े सवालों के जवाब जान सकते हैं

14.  कोरोना के टीकाकरण की वजह से 17 जनवरी को पोलिया का टीका नहीं मिलेगा.

एक सेंटर पर एक ही तरह की वैक्सीन लगेगी

1.  भारत में कोविशील्ड और कोवैक्सीन को मंज़ूरी मिली है

2.  DCGI ने दोनों वैक्सीन को भारत में इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी है.

3. एक सेंटर पर एक ही तरह की वैक्सीन लगेगी

4.  जिन सेंटर पर कोविशील्ड वैक्सीन होगी वहाँ कोवैक्सीन नहीं होगा

5.  जहां कोवैक्सीन होगा उस सेंटर पर कोविशील्ड वैक्सीन नहीं होगा

6.  वैक्सीन को बदला नहीं जाएगा. यानी दोनों डोज़ एक ही कंपनी की होगी.

7. दूसरी खुराक भी उसी वैक्सीन की लेनी होगी, जो पहली वैक्सीन की ली गई है

पहला टीका लगने के 42 दिन बाद दिखेगा असर

1.   वैक्सीन का पहला इंजेक्शन एक तरफ के बाज़ू में लगाया जाएगा

2. वैक्सीन का दूसरा इंजेक्शन दूसरी तरफ के बाज़ू में लगाया जाएगा

3. एक टीका लगने के बाद दूसरे टीका के बिच 28 दिनों का गैप होगा

4. 28 वे दिन टीका लगने के 14 दिनों के बाद वैक्सीन असर शुरू होगा.

5. कोविशील्ड वैक्सीन की एक शीशी में 10 डोज़ होगा

6. वैक्सीन का एक डोज़ 0.5 एमएल का है

7. कोवैक्सीन वैक्सीन की एक शीशी में 20 डोज़ होगा

8. वैक्सीन का एक डोज़ 0.5 एमएल का है

किसे नहीं लगेगी वैक्सीन

1.  18 वर्ष से कम उम्र के लोगों को वैक्सीन नहीं लगेगी .

2.  गर्भवती महिलाओं को ये वैक्सीन नहीं लगाई जाएगी

3.  स्तनपान कराने वाली माताओं को यह वैक्सीन नहीं लगाई जाएगी

कोविशील्ड के सामान्य साइड इफेक्ट्स

1.  साइड इफेक्ट को लेकर सीरम इंस्टिट्यूट ने कोविशील्ड के लिए फैक्ट शीट पेश किया है

2.  वैक्सीनेशन के बाद कुछ हल्के लक्षण देखने को मिल सकते हैं

3.  इंजेक्शन लगने वाली जगह पर दर्द और सूजन हो सकता है

4.  सिर दर्द, थकान, मांसपेशियों में दर्द, बेचैनी हो सकती है

5. पायरेक्सिया, बुखार, जोड़ों में दर्द और मितली महसूस हो सकता है

6.  वैक्सीनेशन के बाद ऐसे लक्षण दिखने पर पैरासिटामोल जैसी आम पेनकिलर दी जा सकती है

7.  डिमाइलेटिंग डिसऑर्डर के भी कुछ मामले देखे गए हैं

8.  डिमाइलेटिंग डिसऑर्डर नर्वस सिस्टम से जुडी बीमारी है

9.   डिमाइलेटिंग डिसऑर्डर की संख्या बहुत कम देखि गयी है

10. डिमाइलेटिंग डिसऑर्डर का वैक्सीन के साथ कोई संबंध नहीं है.

11. थ्रोम्बोसाइटोपेनिया की समस्या वाले लोगों को कोविशिल्ड बहुत सावधानी से दी जानी चाहिए.

12.  थ्रोम्बोसाइटोपेनिया में ब्लड प्लेटलेट्स असामान्य रूप से कम हो जाते हैं.

कोवैक्सीन के सामान्य साइड इफेक्ट्स

1. कोवैक्सीन बनाने वाली भारत बायोटेक ने भी फैक्ट शीट जारी किया है

2. कोवैक्सीन देने पर इंजेक्शन लगाने वाली जगह पर दर्द-सूजन हो सकता है

3.  सिर दर्द, थकान, बुखार, शरीर दर्द, पेट दर्द, मितली और उल्टी हो सकता है

4. चक्कर आना, कंपकंपी और सर्दी- खांसी जैसे लक्षण दिखाई दे सकते हैं.

5. कोवैक्सीन के कोई असामान्य साइड इफेक्ट्स नहीं बताए गए हैं.

Co-Win ऐप

1.  पीएम मोदी की वैक्सीनेशन ड्राइव के साथ Co-Win ऐप भी शुरू करेंगे

2. कोविन ऐप के जरिए वैक्सीनेशन वाले लोगों का डेटा रखा जा सकता है

3.  हेल्थ वर्करों के लिए इस ऐप में शुरुआत में कुछ काम करना होगा

4.  इस ऐप में उन्हें केवल लोगों से जुड़े डेटा और उनकी रजामंदी ही फीड करना होगा

5.  कोविन ऐप से वैक्सीन का रीयल टाइम अपडेट मिलेगा

6.  स्टोरेज टेम्प्रेचर और लोगों को लग रहे टीका की जानकारी मिलेगी

7.  शुरुआत में केंद्र सरकार Co-Win ऐप पर कुछ प्रतिबंध रखेगी

8. शुरुआत में इसका इस्तेमाल केवल केंद्र और राज्य सरकारें करेंगी

9.  जिला और ब्लाक लेवल के अधिकारी भी इस्तेमाल कर पाएंगे

10. Co-Win ऐप से मिलते जुलते नाम वाले कई फेक ऐप भी बने हैं

11. फेक ऐप की वजह से Co-Win ऐप फिलहाल आम लोग इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे

12.  कोविन ऐप लान्च के एक महीने बाद आम लोगों के लिए उपलब्ध होगा।

देशभर में कोरोना वैक्सीन

दिल्ली

1.   कुल 274000 वैक्सीन डोज़

2.  1.27 हेल्थवर्कर्स को टीका

3.  81 सेंटर बनाए गए है

बिहार

1.  कुल 5 लाख 69 हजार डोज

2.  कुल 300 वैक्सीनेशन सेंटर

3.   4,62,275 हेल्थवर्कर्स को टीका

4.  पहला डोज इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस के सफाई कर्मचारी रामबाबू को दिया जाएगा

उत्तर प्रदेश

1. कुल 11 लाख कोविशील्ड वैक्सीन

2. कुल 852 वैक्सीनेशन सेंटर

3.  9 लाख हेल्थ वर्कर्स  को टीका

राजस्थान

1.  कुल  5,43,500 वैक्सीन 

2.  कुल 161 वैक्सीनेशन सेंटर

गुजरात

1. कुल 2.76 लाख वैक्सीन

2. कुल 287  वैक्सीन सेंटर

3. 4.30 लाख हेल्थवर्कर को टीका

महाराष्ट्र

1. कुल  9 लाख 63 हज़ार वैक्सीन

2. कुल 350 वैक्सीन सेंटर

3. 8  लाख हेल्थवर्कर को टीका

First Published : 15 Jan 2021, 08:31:16 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.