News Nation Logo
Banner

आतंक को पनाह देने वाले सोच लें, हम बख्शने वाले नहीं है, पीएम मोदी ने दी पाकिस्तान को चेतावनी

पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम में विपक्ष पर भी जमकर निशाना साधा. पीएम मोदी ने कहा, ऊं गाय का नाम सुनते ही कुछ लोगों के बाल खड़े हो जाते है

By : Aditi Sharma | Updated on: 11 Sep 2019, 03:29:15 PM

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री मोदी ने मथूरा की धरती से पाकिस्तान को साफ-साफ बता दिया की आतंक को पनाह देने वालों को भारत नहीं बख्शेगा. मथुरा में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, आज आतंकवाद एक विचारधारा बन गई है, जो किसी सरहद से नहीं बंधी है. ये एक Global problem है, जिसकी मजबूत जड़ें हमारे पड़ोस में फल-फूल रही हैं. पाकिस्तान का नाम लिए बगैर पीएम मोदी ने कहा, आतंकवादियों को पनाह और प्रशिक्षण देने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए भारत पूर्ण रूप से सक्षम है और हमने ये करके दिखाया भी है.

इसके अलावा पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम में विपक्ष पर भी जमकर निशाना साधा. पीएम मोदी ने कहा, ऊं गाय का नाम सुनते ही कुछ लोगों के बाल खड़े हो जाते है. उन्हें लगता है देश 16वीं-17वीं शताब्दी में पहुंच गया है. ऐसे लोगों ने देश को बर्बाद करने के अलावा कुछ नहीं किया. पीएम मोदी ने कहा, भारत में पशुधन बहुत बड़ी बात है, इसके बिना अर्थव्यवस्था हो या गांव, कुछ नहीं चल सकता.

यह भी पढ़ें: ऊं या गाय सुनते ही कुछ लोगों के बाल खड़े हो जाते हैं, प्रधानमंत्री मोदी ने साधा विरोधियों पर निशाना

पीएम मोदी ने पशुपालन पर कहा, किसानों की आय बढ़ाने में पशुपालन और दूसरे व्यवसायों की भी बहुत बड़ी भूमिका है. पशुपालन हो, मछली पालन हो या मधुमक्खी पालन, इन पर किया गया निवेश ज्यादा कमाई कराता है. इसके लिए बीते 5 वर्षों में कृषि से जुड़े दूसरे विकल्पों पर हम एक नए Approach के साथ आगे बढ़े हैं. 

यह भी पढ़ें: अयोध्या: इस बार दीपावली होगी खास, CM योगी के बगल में नहीं होगा भगवान राम का सिंहासन

पीएम मोदी ने कहा, भारत में पशुधन बहुत बड़ी बात है, इसके बिना अर्थव्यवस्था हो या गांव, कुछ नहीं चल सकता. पशुधन को लेकर सरकार इतनी गंभीर है कि सरकार के 100 दिनों में जो बड़े फैसले लिए गए, उनमें से एक पशुओं के टीकाकरण से जुड़ा है. इस अभियान को विस्तार देते हुए राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम और कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम की शुरुआत की गई है. भारत के डेयरी सेक्टर को विस्तार देने के लिए हमें नई तकनीक की जरुरत है. ये इनोवेशन हमारे ग्रामीण समाज से भी आएं इसीलिए आज स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज की शुरुआत की गई.

First Published : 11 Sep 2019, 02:10:41 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×