News Nation Logo
Banner

चक्रवाती तूफान 'फानी' की तैयारियों की समीक्षा कर रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

'फानी' चेन्नई से 880 किलोमीटर दक्षिणपूर्व में स्थित था और 30 अप्रैल से इसके अत्यधिक गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की आंशका है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 29 Apr 2019, 02:53:30 PM
File Pic

File Pic

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को अधिकारियों को चक्रवाती तूफान 'फानी' के लिए तैयारियों का जायजा लेने के निर्देश दिए हैं जो कि दक्षिणपूर्व बंगाल की खाड़ी में मजबूत स्थिति धारण कर रहा है और मंगलवार से इसके अति गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की आशंका है. गृह मंत्रालय के एक बयान से यह जानकारी मिली.

बयान के अनुसार, सोमवार सुबह, 'फानी' चेन्नई से 880 किलोमीटर दक्षिणपूर्व में स्थित था और 30 अप्रैल से इसके अत्यधिक गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की आंशका है. बयान में कहा गया है कि चक्रवाती तूफान का उत्तरपश्चिम की ओर बढ़ना जारी रहेगा और यह 1 मई से अपना मार्ग बदलकर उत्तरपूर्व की ओर बढ़ेगा.

बयान के अनुसार, "प्रधानमंत्री स्थिति पर करीबी से निगरानी रखे हुए हैं और उन्होंने मंत्रिमंडल सचिवालय को स्थिति का जायजा लेने के लिए राज्य सरकारों, केंद्रीय मंत्रियों और संबंधित एजेंसियों के साथ राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) की बैठक बुलाने के निर्देश दिए हैं और साथ ही उन्होंने किसी भी स्थिति निपटने के लिए तैयारियां दुरुस्त रखने के लिए कहा है."

यह भी पढ़ें - पश्चिम बंगाल के बीरभूम में मतदाताओं-सुरक्षाबलों के बीच झड़प, वोटिंग रोकी गई

प्रधानमंत्री ने ट्वीट करके कहा, "चक्रवाती तूफान फानी की वजह से उत्पन्न स्थिति के संबंध में अधिकारियों से बात की. उन्हें सभी निवारक उपाय करने और सभी संभावित सहायता पहुंचाने के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए. इसके साथ ही उनसे प्रभावित राज्यों की सरकारों के साथ करीबी मिलकर काम करने का आग्रह भी किया. सभी की सुरक्षा और सलामती के लिए प्रार्थना कर रहा हूं."

यह भी पढ़ें - क्रिकेटर मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां फिर पहुंची ससुराल, किया ये शर्मनाक काम

गृह मंत्रालय ने कहा कि वह लगातार संबंधित राज्य सरकारों और केंद्रीय एजेंसियों के संपर्क में है मंत्रालय ने कहा, "राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) और भारतीय तट रक्षक को हाई अलर्ट पर रखा गया है. 25 अप्रैल से ही मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने और जो समुद्र में हैं उन्हें लौटने के लिए नियमित चेतावनी जारी की जा रही है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग सभी संबंधित राज्यों के लिए नवीनतम भविष्यवाणी के साथ प्रति तीन घंटों में बुलेटिन जारी कर रहा है."

First Published : 29 Apr 2019, 02:31:54 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो