News Nation Logo

जन औषधि दिवस : प्रधानमंत्री की अपील, 'मोदी की दुकान' से खरीदें सस्ती दवा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने  शिलांग स्थित नॉर्थ ईस्टर्न इंदिरा गांधी रिजनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ एंड मेडिकल साइंस में बने 7500वें 'जनऔषधि केंद्र' को राष्ट्र को समर्पित किया.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 07 Mar 2021, 11:20:34 AM
Narendra Modi

पीएम मोदी ने 7500वें जनऔषधि केंद्र को राष्ट्र को समर्पित किया (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

जन औषधि दिवस समारोह (Janaushadhi Diwas celebrations ) : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने  शिलांग स्थित नॉर्थ ईस्टर्न इंदिरा गांधी रिजनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ एंड मेडिकल साइंस में बने 7500वें 'जनऔषधि केंद्र' को राष्ट्र को समर्पित किया. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पीएम मोदी (PM Modi) 'जनऔषधि दिवस' (Janaushadhi Kendra) समारोह शामिल हुए हैं. इस पहल का उद्देश्य किफायती दरों पर गुणवत्तापूर्ण दवाइयां उपलब्ध कराना है. इस परियोजना के तहत ऐसे केंद्रों की संख्या 7499 पहुंच गई है. यह केंद्र देश के सभी जिलों में हैं. पीएम नरेंद्र मोदी कार्यक्रम को संबोधित भी किया.

LIVE TV NN

NS

NS

जन औषधि दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन

इलाज सस्ता हो, सुलभ हो, सर्वजन के लिए हो, इसी सोच के साथ आज नीतियां और कार्यक्रम बनाए जा रहे हैं - मोदी

पूरे देश की जनता मेरा परिवार है. आपकी बीमारी मेरे परिवार की बीमारी है. मैं चाहता हूं कि आप यानी मेरा परिवार स्वस्थ रहे - मोदी

2014 से पहले जहां देश में लगभग 55 हजार MBBS सीटें थीं, वहीं 6 साल के दौरान इसमें 30 हज़ार से ज्यादा की वृद्धि की जा चुकी है- मोदी

हमारी सरकार ने यहां भी देश के गरीबों का, मध्यम वर्ग का विशेष ध्यान रखा है - मोदी

देश को आज अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है कि हमारे पास मेड इन इंडिया वैक्सीन अपने लिए भी है और दुनिया की मदद करने के लिए भी है- मोदी

आज सरकार की कोशिश है कि मेडिकल साइंस के इलाज से कोई पीड़ित न रहे- मोदी

हमने गांव के अस्पताल से लेकर एम्स जैसे संस्थानों तक काम किया है - मोदी

दुनिया में कोरोना का सबसे सस्ता टीका भारत में लगाया जा रहा है- मोदी

भारत के पास अनेक बीमारियों की दवा बनाने की क्षमता. आज भारत में बने टीके बच्चों को बचाने के काम आ रहे हैं. आज हमारे पास मेड इन इंडिया वैक्सीन है, जो दुनिया के अन्य देशों को भेजी जा रही है- मोदी

भारत दुनिया की फार्मेसी है. ये सिद्ध हो चुका है. दुनिया हमारी जैनरिक दवाई लेती है. हालांकि हमारे यहां इन दवाओं को प्रोत्साहित नहीं किया गया- मोदी

इलाज को हर गरीब तक पहुंचाया गया है. दवाओं की कीमतों को कम किया गया है- मोदी

स्वास्थ्य का विषय सिर्फ बीमारी और इलाज तक सीमित नहीं है, बल्कि ये देश के पूरे आर्थिक और सामाजिक ताने-बाने को प्रभावित करता है - मोदी

लंबे समय तक देश की सरकारी सोच में स्वास्थ्य को सिर्फ बीमारी और इलाज का ही विषय माना गया- मोदी

आज हमारे यहां के मसाले, दवा और औषधियों की बात होती है. पूरी दुनिया आज भारत का लोहा मान रही है- मोदी

हमने योग को दुनिया में नई पहचान दिलाने का प्रयास किया. आज पूरी दुनिया अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मना रही है- मोदी

1,000 से ज्यादा जन औषधि केंद्र तो ऐसे हैं, जिन्हें महिलाएं ही चला रही हैं, यानी ये योजना बेटियों की आत्मनिर्भरता को भी बल दे रही है - मोदी

आज जब 7500वे केंद्र का लोकार्पण किया गया है तो वो शिलॉन्ग में हुआ है. इससे स्पष्ट है कि नॉर्थ ईस्ट में जनऔषधि केंद्रों का कितना विस्तार हो रहा है - मोदी

प्रधानमंत्री ने की 'मोदी की दुकान' से सस्ती कीमत पर दवाइयां खरीदने की अपील की है.

जनऔषधि योजना को देश के कोने-कोने में चलाने वाले और इसके कुछ लाभार्थियों से मेरी जो चर्चा हुई है, उससे स्पष्ट है कि ये योजना गरीब और मध्यम वर्गीय परिवारों की बहुत बड़ा साथी बन रही है- मोदी

जनऔषधि केंद्रों में सस्ती दवाई के साथ साथ आय के साधन भी मिल रहे हैं- मोदी

जनऔषधि में दवाई कम पैसे में मिल जाती है और दवाई भी अच्छी होती है. जनऔषधि केंद्र को चलाने वाले लोग सेवार्थ काम करते हैं- मोदी

प्रधानमंत्री मोदी फिलहाल भारतीय जनऔषधि परियोजना के लाभार्थियों से बातचीत कर रहे हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जन औषधि दिवस समारोह में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शिलांग में बने 7500वें जनऔषधि केंद्र को राष्ट्र को समर्पित किया है.


First Published : 07 Mar 2021, 10:29:37 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.