News Nation Logo
Banner

हेल्थ वेबिनार में बोले पीएम नरेंद्र मोदी, कोरोना की अग्निपरीक्षा में सफल हुए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में इस साल पेश किए गए हेल्थ बजट की जमकर तारीफ की. उन्होंने कहा कि इस साल के बजट में हेल्थ सेक्टर को जितना बजट आवंटित किया गया है, वह अभूतपूर्व है.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 23 Feb 2021, 10:53:05 AM
हेल्थ वेबिनार में बोले  मोदी, कोरोना की अग्निपरीक्षा में सफल हुए

हेल्थ वेबिनार में बोले मोदी, कोरोना की अग्निपरीक्षा में सफल हुए (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को आयोजित किए जा रहे हेल्थ वेबिनार में अपना संबोधन दे रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में इस साल पेश किए गए हेल्थ बजट की जमकर तारीफ की. उन्होंने कहा कि इस साल के बजट में हेल्थ सेक्टर को जितना बजट आवंटित किया गया है, वह अभूतपूर्व है. पीएम ने कहा कि ये हेल्थ बजट सभी देशवासियों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने की प्रतिबद्धता का प्रतीक है. उन्होंने कहा, ''मेडिकल उपकरण से लेकर दवाइयों तक, वेंटिलेटर से लेकर वैक्सीन तक, वैज्ञानिक अनुसंधा से लेकर निगरानी बुनियादी ढांचे तक, डॉक्टरों से लेकर महामारी तक, हमें सभी पर ध्यान देना है ताकि देश भविष्य में किसी भी स्वास्थ्य आपदा के लिए बेहतर तरीके से तैयार रहे.''

स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में हमें देश के दूर-दराज के क्षेत्र में भी, जहां चाहे सिर्फ एक नागरिक ही हो, वहां हमें तक पहुंचना है, ये हमारा मिजाज होना चाहिए और इस दिशा में हमें पूरी कोशिश करनी है- पीएम मोदी

प्राइवेट सेक्टर, PMJAY में हिस्सेदारी के साथ-साथ सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाओं का नेटवर्क बनाने में PPP मॉडल्स को भी सपोर्ट कर सकता है. नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन, नागरिकों के डिजिटल हेल्थ रिकॉर्ड और दूसरी Cutting Edge Technology को लेकर भी साझेदारी हो सकती है: पीएम मोदी

देश से टीबी को खत्म करने के लिए हमने वर्ष 2025 तक का लक्ष्य रखा है. टीबी भी संक्रमित मरीजों के droplets से ही फैलता है. टीबी की रोकथाम में भी मास्क पहनना, शीघ्र निदान और इलाज, तीनों ही अहम हैं: पीएम मोदी

चौथा मोर्चा है, समस्याओं से पार पाने के लिए मिशन मोड पर काम करना. मिशन इंद्रधनुष का विस्तार देश के आदिवासी और दूर-दराज के इलाकों तक किया गया है: पीएम मोदी

दूसरा मोर्चा, गरीब से गरीब को सस्ता और प्रभावी इलाज देने का है. आयुष्मान भारत योजना और प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र जैसी योजनाएं यही काम कर रही हैं. तीसरा मोर्चा है, हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर और हेल्थ केयर प्रोफेशनल्स की Quantity और Quality में बढ़ोतरी करना: पीएम मोदी

भारत को स्वस्थ रखने के लिए हम 4 मोर्चों पर एक साथ काम कर रहे हैं. पहला मोर्चा है, बीमारियों को रोकने का यानि Prevention of illness और Promotion of Wellness: पीएम मोदी

हमारी सरकार Health Issues को टुकड़ों के बजाय Holistic तरीके से देखती है. इसलिए हमने देश में सिर्फ Treatment ही नहीं Wellness पर फोकस करना शुरु किया. हमने Prevention से लेकर Cure तक एक Integrated अप्रोच अपनाई: पीएम मोदी

कोरोना के दौरान भारत के हेल्थ सेक्टर ने जो मजबूती दिखाई है, अपने जिस अनुभव औऱ अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया है, उसे दुनिया ने बहुत बारीकी से नोट किया है. आज पूरे विश्व में भारत के हेल्थ सेक्टर की प्रतिष्ठा और भारत के हेल्थ सेक्टर पर भरोसा, नए स्तर पर है: पीएम मोदी

उन्होंने कहा, ''मेडिकल उपकरण से लेकर दवाइयों तक, वेंटिलेटर से लेकर वैक्सीन तक, वैज्ञानिक अनुसंधा से लेकर निगरानी बुनियादी ढांचे तक, डॉक्टरों से लेकर महामारी तक, हमें सभी पर ध्यान देना है ताकि देश भविष्य में किसी भी स्वास्थ्य आपदा के लिए बेहतर तरीके से तैयार रहे.''

पीएम ने कहा कि ये हेल्थ बजट सभी देशवासियों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने की प्रतिबद्धता का प्रतीक है.

उन्होंने कहा कि इस साल के बजट में हेल्थ सेक्टर को जितना बजट आवंटित किया गया है, वह अभूतपूर्व है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में इस साल पेश किए गए हेल्थ बजट की जमकर तारीफ की.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को आयोजित किए जा रहे हेल्थ वेबिनार में अपना संबोधन दे रहे हैं.

First Published : 23 Feb 2021, 10:46:51 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.