News Nation Logo
Banner

राष्ट्रपति चुनाव: द्रौपदी मुर्मू के समर्थन में ममता बनर्जी, भाजपा ने ली चुटकी 

महाराष्ट्र में सियासी संकट के बीच बड़े उलटफेर ने राष्ट्रपति चुनाव को एकतरफा बना दिया है. भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की ओर से द्रौपदी मुर्मू के चुने जाने की संभावनाएं तेज हो चुकी हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Saxena | Updated on: 02 Jul 2022, 12:12:58 PM
Mamata Banerjee

mamata banerjee (Photo Credit: ani)

नई दिल्ली:  

महाराष्ट्र में सियासी संकट के बीच बड़े उलटफेर ने राष्ट्रपति चुनाव को एकतरफा बना दिया है. भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की ओर से द्रौपदी मुर्मू के चुने जाने की संभावनाएं तेज हो चुकी हैं. बदले समीकरणों के बीच अब विपक्षी खेमा भी इसे स्वीकार करता नजर आ रहा है. राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के खिलाफ विपक्ष का उम्मीदवार उतारने वालीं पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने भी अब ये स्वीकार कर लिया है. 

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने भी अब ये स्वीकार कर लिया है कि एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू की जीत की संभावनाएं अधिक हैं. पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि द्रौपदी मुर्मू की जीत के अधिक चांस हैं. ममता बनर्जी ने अपने बयान भाजपा ने चुटकी ली है. ममता बनर्जी ने कहा कि विपक्षी दल भी राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू की उम्मीदवारी को लेकर समर्थन कर सकते थे, अगर भाजपा ने उन्हें मैदान में उतारने से पहले चर्चा की होती. उन्होंने कहा कि 18 जुलाई को राष्ट्रपति चुनाव में द्रौपदी मुर्मू की जीत ज्यादा संभावनाएं बनी हुई हैं. महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तन के बाद से एनडीए के संख्याबल में इजाफा हुआ है.

ममता बनर्जी ने कहा कि आम सहमति वाला उम्मीदवार देश के लिए हर तरह से बेहतर होता है.अगर भाजपा ने उनके नाम के ऐलान से पहले ही हमसे बात की होती तो हम निश्चित रूप से व्यापक हितों का ध्यान रखते हुए इस पर विचार करते. उन्होंने ये भी साफ किया कि टीएमसी विपक्षी दलों के फैसले के अनुसार ही चलने वाली है. ममता ने कहा कि हमारे मन में सभी धर्म, जाति और पंथ के लिए सम्मान है. हम चाहते हैं कि राष्ट्रपति चुनाव शांतिपूर्ण तरह से संपन्न हो. हमें महिला उम्मीदवार को उतारने की कोशिश करनी चाहिए थी. मगर मैं इस पर अकेले फैसला नहीं कर सकती थी. 

दूसरी तरफ कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने ममता बनर्जी के बयान को लेकर अपत्ति जताई है. उन्होंने आरोप लगाया कि ममता ने ये बयान पीएम मोदी के इशारे पर दिया है. अधीर रंजन का कहना है कि ममता का पीएम मोदी के साथ गुप्त समझौता है. 

अधीर रंजन ने ममता को बताया सनकी 

अधीर रंजन चौधरी ने ममता बनर्जी को सनकी बताते हुए कहा कि  अब वो भाजपा के एजेंडे पर काम कर रही है. उन्होंने कहा कि भाजपा ने जब संख्या को सुनिश्चित कर लिया, तब द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार बनाया. द्रौपदी मुर्मू अगर जीतती हैं तो कोई बड़ी बात नहीं होगी. 

 

First Published : 02 Jul 2022, 12:12:58 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.