News Nation Logo
Banner

चीन (China) के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग (XI Jinping) आज से भारत दौरे पर, महाबलीपुरम में पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के साथ होगी अनौपचारिक बातचीत

PM Narendra Modi-Xi Jinping Informal Summit : पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के साथ अनौपचारिक बातचीत के लिए चीन (China) के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) शुक्रवार यानी आज भारत आ रहे हैं. तमिलनाडु के तटीय शहर महाबलीपुरम में दोनों देशों के शीर्ष नेता 11 और 12 अक्तूबर को दूसरी बार अनौपचारिक शिखर वार्ता करेंगे.

By : Sunil Mishra | Updated on: 11 Oct 2019, 08:26:55 AM
पीएम नरेंद्र मोदी और शी जिनपिंग

पीएम नरेंद्र मोदी और शी जिनपिंग (Photo Credit: File Photo)

नई दिल्‍ली:

पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के साथ अनौपचारिक बातचीत के लिए चीन (China) के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) शुक्रवार यानी आज भारत आ रहे हैं. तमिलनाडु के तटीय शहर महाबलीपुरम में दोनों देशों के शीर्ष नेता 11 और 12 अक्तूबर को दूसरी बार अनौपचारिक शिखर वार्ता करेंगे. इससे पहले चीन के शहर वुहान में दोनों नेता अनौपचारिक शिखर वार्ता में शरीक हुए थे. शुक्रवार को शी जिनपिंग बीजिंग से रवाना होंगे और दोपहर बाद चेन्नई पहुंच सकते हैं. महाबलीपुरम पर्यटन केंद्र में पीएम नरेंद्र मोदी के साथ उनकी शिखर वार्ता शुरू होगी. चीन के उप विदेश मंत्री लुओ झाओहुई (China Deputy Foreign Minister Luo Zhaohui) ने बुधवार को मीडिया को बताया कि दोनों पक्षों के अधिकारियों ने शिखर वार्ता के लिए व्यापक तैयारियां की हैं.

यह भी पढ़ें : आपस में ही लड़-भिड़ रहे हैं कांग्रेस (Congress) नेता, मोदी-शाह (Modi-Shah) को कैसे देंगे मात?

उन्होंने कहा, 'शिखर वार्ता से दोनों पक्षों के बीच सहयोग के आदान-प्रदान में नई प्रगति होगी और इसके सकारात्मक परिणाम निकलेंगे. शिखर वार्ता के ठोस आधार तैयार कर लिए गए हैं और दोनों पक्षों के संयुक्त प्रयासों से राष्ट्रपति शी जिनपिंग की भारत यात्रा पूरी तरह सफल होगी और द्विपक्षीय संबंधों की आगे प्रगति की दिशा तय करेगी.'

उन्होंने यह भी कहा, 'दोनों नेताओं की इस मुलाकात से भारत और चीन पूरी दुनिया को एक बार फिर सुसंगत संदेश भेजेगी तथा अनिश्चितता से भरी दुनिया में स्थिरता एवं सकारात्मक ऊर्जा भरेगी.' उन्‍होंने यह भी कहा कि यह एक अनौपचारिक बातचीत है, इसलिए दोनों नेताओं को बिना किसी तय विषय के विचारों के मुक्त आदान-प्रदान के लिए सहज माहौल मिलेगा. इस मुलाकात में कोई करार होने की भी संभावना नहीं है.

यह भी पढ़ें : क्‍या सोनिया (Sonia Gandhi) और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के बीच शीतयुद्ध (Cold War) में पिस रही हैं प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra)?

मोदी और शी की मुलाकात के दौरान उनके साथ केवल उनके दुभाषिये होंगे. इन बैठकों में दोनों नेता चीन-भारत संबंधों को आगे ले जाने के तरीकों पर चर्चा करेंगे. बैठक में भारत के जम्‍मू-कश्‍मीर में अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को खत्‍म किए जाने के बाद पाकिस्तान द्वारा भारत के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान को बीजिंग के समर्थन को लेकर विपरीत हालात पैदा होने पर भी चर्चा हो सकती है.

यह भी पढ़ें : क्या सोनिया और राहुल गांधी में चल रही है खटपट? हालात तो यही बयां कर रहे 

दूसरी ओर, भारत में चीन के राजदूत स्वन वेइतोंग ने कहा कि बैठक पर भारत में चीन के राजदूत स्वन वेइतोंग ने गुरुवार को प्रेस वार्ता की. उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी-शी जिनपिंग के बीच अनौपचारिक शिखर वार्ता से द्विपक्षीय संबंधों की दिशा में मार्गदर्शक सिद्धांतों समेत कई विषयों पर आम सहमति की उम्मीद है.

First Published : 11 Oct 2019, 08:24:54 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×