News Nation Logo
Banner

इकबाल मिर्ची मामला: मीडिया से बचकर भागते दिखाई दिए प्रफुल्ल पटेल, देखें वीडियो

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी नेता (NCP Leader) और पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रफुल्ल पटेल (Former Union Minister) को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने समन भेज चुका है.

By : Ravindra Singh | Updated on: 14 Oct 2019, 07:01:53 PM
प्रफुल्ल पटेल

प्रफुल्ल पटेल (Photo Credit: फाइल)

highlights

  • पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रफुल्ल पटेल को ईडी का समन
  • दाऊद के सहयोगी के साथ संपत्तियों की खरीद
  • 11 जगहों पर ईडी ने की थी छापेमारी

नई दिल्ली:

सोमवार को गैंग्सटर इकबाल मिर्ची (Gangster Iqbal Mirchi) से संबंधों के सवाल पर पूर्व केंद्रीय मंत्री और एनसीपी नेता प्रफुल पटेल (Former Union Minister and NCP Leader Praful Patel)  मीडिया के सवालों (Question from Media) से बचकर भागते हुए दिखाई दिए. न्यूज एजेंसी एएनआई ने जब उनसे गैंगस्टर और अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहीम (Underworld Don Dawood Ibrahim) के सहयोगी इकबाल मिर्ची से संबंधित एक भूमि सौदे में प्रफुल पटेल का नाम सामने आने की खबरों पर सवाल किया तो वो जवाब देने से कतराते हुए माइक छोड़कर जाने लगे उन्होंने सिर्फ इतना ही कहा कि जब समय आएगा, तब मेरे पास जो कुछ भी है मैं उसका जवाब दे दूंगा. यह कहकर वो आगे चले गए.

इसके पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी नेता (NCP Leader) और पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रफुल्ल पटेल (Former Union Minister) को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने समन भेज चुका है. प्रवर्तन निदेशालय प्रफुल्ल पटेल से सीजे हाऊस की परिसंपत्तियों को लेकर पूछताछ करेगा. प्रवर्तन निदेशालय ने इस बात का दावा किया है कि यह संपत्ति दाऊद इब्राहिम के करीबी सहयोगी इकबाल मिर्ची की है. सीजे हाउस में प्रफुल्ल पटेल के 2 फ्लैट हैं और ये संपत्तियां प्रफुल्ल पटेल ने साल 2007 में तब अपने नाम की थी जब वो केंद्रीय उड्डयन मंत्री थे.

यह भी पढ़ें-बल्लभगढ़ में गरजे पीएम मोदी कहा- दम है तो विपक्ष कहे कि 370 वापस लाएंगे

आपको बता दें कि साल 2013 में इकबाल मिर्ची की मौत हो चुकी है, वो मुंबई बम कांड के आरोपी और अंडर वर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का सहयोगी था. ईडी के सूत्रों के मुताबिक जांच एजेंसी के पास कुछ ऐसी पुख्ता जानकारी है जिसमें साल 2007 में इकबाल मिर्ची और प्रफुल्ल पटेल के बीच एक सीजे हाउस प्रॉपर्टी के संबंध में कान्ट्रैक्ट की बात सामने आई है. हालांकि प्रफुल्ल पटेल ने इन आरोपों से इनकार किया है.

यह भी पढ़ें-सोनिया गांधी पर असंसदीय टिप्पणी के लिए माफी मांगे सीएम खट्टर: कांग्रेस

11 जगहों पर छापेमारी से मिले थे अहम दस्तावेज
बीते दो सप्ताह में मुंबई से लेकर बेंगलुरु तक में 11 स्थानों पर छापेमारी के दौरान बरामद किए गए दस्तावेजों के आधार पर प्रवर्तन निदेशालय जांच में जुटा है. डिजिटल सबूत, ईमेल और डॉक्युमेंट्स को सीज किए जाने के बाद एजेंसी ने अब 18 लोगों के बयान दर्ज कर लिए हैं. इनमें से एक दस्तावेज वह भी है, जिसके मुताबिक पटेल फैमिली की कंपनी को ट्रांसफर हुआ प्लॉट पहले इकबाल मेमन की पत्नी हजरा मेमन के नाम पर था.

यह भी पढ़ें-कश्मीर में गुटबाजी के लिए आतंकी कर रहे टेलीफोन का इस्तेमाल: सत्यपाल मलिक

First Published : 14 Oct 2019, 06:38:26 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×