News Nation Logo

PM मोदी आज रखेंगे जेवर एयरपोर्ट की आधारशिला, एशिया में होगा नंबर-1 

मोदी सरकार ने एयरपोर्ट के पहले चरण को पूरा करने के लिए 2024 का लक्ष्य रखा गया है. पहले चरण का विकास 10,050 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से हो रहा है. योगी सरकार ने एयरपोर्ट के लिए 5,845 हेक्टेयर की जमीन दे रखी है. 

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 25 Nov 2021, 07:28:57 AM
Jewar Airport

PM नरेन्द्र मोदी आज रखेंगे जेवर एयरपोर्ट की आधारशिला (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • 2024 तक पूरा होगा जेवर एयरपोर्ट का पहला चरण
  • योगी सरकार ने एयरपोर्ट के लिए दी 5,845 हेक्टेयर जमीन
  • पहले चरण के विकास पर खर्च हो रहे 10,050 करोड़ रुपये 

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 25 नवंबर यानि आज गौतमबुद्धनगर के जेवर में नोएडा अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट (Noida International Airport) की आधारशिला रखेंगे. यह एयरपोर्ट दुनिया का चौथा सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा. इसी के साथ उत्तर प्रदेश 5 अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट (Airport) वाला पहला राज्य होगा. जेवर (Jewar) में एयरपोर्ट बनने के बाद दिल्ली-एनसीआर में यह दूसरा इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा. माना जा रहा है कि इस एयरपोर्ट के शुरू होने के बाद दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर दबाव काफी कम हो जाएगा.  

2024 तक पूरा होगा पहला चरण 
नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पहले चरण को पूरा करने के लिए 2024 का लक्ष्य रखा गया है. पहले चरण में कमर्शियल फ्लाइट को चालू किया जाएगा. इसका सीधा फायदा बोड़ाकी में बन रहे डेडीकेटेड फ्रेट कॉरीडोर के स्टेशन को भी मिलेगा. इन दोनों बड़े प्रोजेक्ट के पूरा होने के बाद उद्योगों को सीधा लाभ होगा. जेवर एयरपोर्ट के पहले चरण का विकास 10,050 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से हो रहा है. योगी सरकार ने एयरपोर्ट के लिए 5,845 हेक्टेयर की जमीन दे रखी है.  

दुनिया को चौथा और एशिया का होगा सबसे बड़ा एयरपोर्ट 
जेवर में बन रहा एयरपोर्ट दुनिया का चौथा सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा. दुनिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट दुबई में है. इसके बाद दोनों बड़े एयरपोर्ट अमेरिका में है. अब चौथा सबसे बड़ा एयरपोर्ट भारत में तैयार हो रहा है. जेवर एयरपोर्ट एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा. जेवर एयरपोर्ट भारत का ऐसा पहला एयरपोर्ट होगा, जहां एकीकृत मल्टी मॉडल कार्गो केंद्र हो और जहां से सारा ध्यान लॉजिस्टिक सम्बंधी खर्चों और समय में कमी लाने पर हो. इस एयरपोर्ट पर बनने वाले कार्गो टर्मिनल की क्षमता 20 लाख मीट्रिक टन होगी. इसे बढ़ाकर 80 लाख मीट्रिक टन तक किया जाएगा. 

ये होंगी सुविधाएं
जेवर में बन रहा एयरपोर्ट दुनिया से सबसे आधुनिक एयरपोर्ट में से एक होगा. एयरपोर्ट पर ग्राउंड ट्रांस्पोर्टेशन सेंटर विकसित किया जायेगा, जिसमें मल्टी मॉडल ट्रांजिट केंद्र होगा. कनेक्टिविटी के लिए इसे मेट्रो और हाईस्पीड रेलवे स्टेशन से भी जोड़ा जाएगा. टैक्सी, बस सेवा और निजी वाहन पार्किंग सुविधा मौजूद होगी. एयरपोर्ट को आसपास के सभी प्रमुख मार्ग और राजमार्ग, जैसे यमुना एक्सप्रेस-वे, वेस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे, ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे, दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस-वे तथा अन्य भी हवाई अड्डे से जोड़े जाएंगे.

First Published : 25 Nov 2021, 07:28:57 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.