News Nation Logo

PM मोदी ने दिलाया विश्वास - MSP थी, है और रहेगी, मंडियां भी बनेंगी आधुनिक

धानमंत्री मोदी ने कहा कि एमएसपी खत्म नहीं हुई है. उन्होंने आगे कहा कि, एमएसपी थी, एमएसपी है और एमएसपी रहेगी. 80 करोड़ से अधिक लोगों को सस्ते में राशन मिलता रहेगा. हमारे कृषि मंत्री ने बहुत अच्छे ढंग से चर्चा की है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 08 Feb 2021, 12:28:51 PM
pm modi rs

पीएम नरेंद्र मोदी (Photo Credit: @bjp4india)

highlights

  • MSP थी, MSP है और MSP रहेगीः पीएम मोदी
  • मेरी सरकार गरीबों को समर्पित हैः पीएम मोदी
  • लोगों को सस्ते में राशन मिलता रहेगाः पीएम मोदी

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को राज्यसभा में कहा कि किसान आंदोलन की बहुत चर्चा है. ज्यादा से ज्यादा बातें आंदोलन के संबंध में बताईं गईं, लेकिन किस बात पर आंदोलन है, उस पर सब मौन हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एमएसपी खत्म नहीं होने वाली है और मंडिया पहले से कहीं ज्यादा आधुनिक बनेंगी. प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव की चर्चा का जवाब देते हुए कहा, मैं सदन को विश्वास दिलाता हूं कि मंडिया और आधुनिक होंगी. एमएसपी थी, है और रहेगी. 80 करोड़ से अधिक लोगों को सस्ते में राशन मिलता रहेगा. हमारे कृषि मंत्री ने बहुत अच्छे ढंग से चर्चा की है.

प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष को संबोधित करते हुए कहा कि मेहरबानी कर देश में भ्रम न फैलाएं. हमें तय करना होगा कि हम समस्या का हिस्सा बनना चाहते हैं कि समाधान का हिस्सा बनने चाहते हैं. समस्या का हिस्सा बनने पर राजनीति तो चल जाएगी, लेकिन समाधान का माध्यम बनते हैं तो राष्ट्रनीति को चार चांद लग जाता है. हम नीतियों को भी बदलेंगे और परिणाम भी प्राप्त कर सकेंगे.

https://www.newsnationtv.com/

देखें न्यूज नेशन लाइव टीवी 

किसानों की आय बढ़ाने के दूसरे विकल्प पर भी कामः पीएम मोदी
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि किसानों की आय बढ़ाने के दूसरे विकल्पों पर भी काम करना होगा. किसान के परिवार के लोगों की तकलीफों को दूर करने के लिए काम करना होगा. हम अगर अपने ही राजनीतिक समीकरणों में फंसे रहेंगे तो किसानों को अंधकार की तरफ धकेल देंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 2014 में जब वो सदन में पहली बार आए थे तो पहले भाषण में कहा था - मेरी सरकार गरीबों को समर्पित है. हमने तब से दिशा नहीं बदली है. देश के आगे बढ़ने के लिए गरीबी से मुक्त होना ही होगा. प्रयासों को जोड़ते ही जाना है. गरीब के मन में आत्मविश्वास भर गया तो गरीब किसी की मदद का मोहताज नहीं रहेगा.

पीएम ने पढ़ी मैथिलीशरण गुप्त की कविता
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव की चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि, जब मैं अवसरों की चर्चा कर रहा हूं, तब मैथिलीशरण गुप्त की कविता याद आती है, जिसमें उन्होंने कहा है-अवसर तेरे लिए खड़ा है, फिर भी तू चुपचाप पड़ा है, तेरा कर्म क्षेत्र बड़ा है, पल-पल है अनमोल, अरे भारत उठ, आंखें खोल... ये मैथिलीशरण गुप्त ने कहा था. लेकिन मैं सोच रहा था कि इस कालखंड में, 21वीं सदी के आरंभ में अगर उन्हें लिखना होता तो क्या लिखते?

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 08 Feb 2021, 12:28:51 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो