News Nation Logo

PM Modi की अध्यक्षता में नेताजी पर बनी समिति में ममता भी शामिल

इस कमेटी में विपक्ष के कई बड़े नेताओं के साथ फिल्मी और खेल की दुनिया के सितारों को भी जगह मिली है. इस समिति में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भी शामिल किया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 10 Jan 2021, 09:41:43 AM
Netaji Subhash Chandra Bose

नेताजी की 125वीं जय़ंती के कार्यक्रम चलेंगे साल भर तक. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Subhash Chandra Bose) की 125वीं जयंती को शानदार तरीके से मनाने के लिए संस्कृति मंत्रालय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया है. इस कमेटी में विपक्ष के कई बड़े नेताओं के साथ फिल्मी और खेल की दुनिया के सितारों को भी जगह मिली है. इस समिति में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भी शामिल किया गया है. इस समिति में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित 85 सदस्य शामिल हैं. यह उच्चस्तरीय समिति 23 जनवरी 2021 से शुरू होने वाले एक वर्षीय स्मरणोत्सव गतिविधियों पर निर्णय लेगी.

10 केंद्रीय मंत्री और 7 सीएम भी शामिल
केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि उच्च स्तरीय समिति 23 जनवरी 2021 से शुरू होकर एक वर्ष तक चलने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार करेगी. इस समिति में 10 केंद्रीय मंत्री और सात मुख्यमंत्रियों को शामिल किया गया है. केंद्रीय मंत्रियों में अमित शाह, राजनाथ सिंह और निर्मला सीतारमण शामिल हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य भी समिति के सदस्यों में शामिल हैं. चूंकि पश्चिम बंगाल में इस साल के मध्य में विधानसभा चुनाव होने हैं, तो ऐसे में समिति में पश्चिम बंगाल भाजपा के कई नेताओं को भी स्थान दिया गया है. इनमें हाल ही में तृणमूल कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए शुभेन्दु अधिकारी भी शामिल हैं. मुख्यमंत्रियों में नगालैंड के नेफ्यू रियो, ओडिशा के नवीन पटनायक, त्रिपुरा के बिप्लब देब, मणिपुर के बिरेन सिंह, मिजोरम के जोरामथांगा और मेघालय के कोनार्ड संगमा को समिति का सदस्य बनाया गया है.

यह भी पढ़ेंः इंडोनेशिया के लापता विमान का कुछ मलबा मिला, 62 लोग थे सवार

नेताजी के परिजन और आईएनए से जुड़े लोग भी
समिति के सदस्यों में प्रतिष्ठित नागरिक, इतिहासकार, लेखक, विशेषज्ञ, नेताजी सुभाष चंद्र बोस के पारिवारिक सदस्य और साथ ही आजाद हिंद फौज (आईएनए) से जुड़े प्रतिष्ठित गणमान्य शामिल हैं. यह समिति दिल्ली, कोलकाता और नेताजी एवं आजाद हिंद फौज से जुड़े अन्य स्थानों, भारत के साथ-साथ विदेशों में भी संचालित होने वाली स्मरणोत्सव गतिविधियों का मार्गदर्शन करेगी. पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा और मनमोहन सिंह को भी समिति के सदस्यों के तौर पर नामित किया गया है, जिसमें लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, राज्यसभा उपाध्यक्ष हरिवंश और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मनोहर जोशी, शिवराज पाटिल, मीरा कुमार और सुमित्रा महाजन शामिल हैं.

यह भी पढ़ेंः  Balakot Air Strike में IAF ने 300 आतंकी मार गिराए थेः पूर्व राजनयिक पाक

पहले अमित शाह करने वाले थे अध्यक्षता
इसके अलावा पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ और मणिपुर की राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला को भी शामिल किया गया है. बयान में कहा गया कि यह समिति दिल्ली, कोलकाता और नेताजी एवं आजाद हिंद फौज से जुड़े अन्य स्थानों, भारत के साथ-साथ विदेशों में भी संचालित होने वाली स्मरणोत्सव गतिविधियों का मार्गदर्शन करेगी. इससे पहले सरकार ने एक बयान जारी कर कहा था कि अमित शाह इस समिति की अध्यक्षता करेंगे, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी का इस समिति की अध्यक्षता करना दर्शाता है कि सरकार ने नेताजी की जयंती को कितना महत्व दिया है.

First Published : 10 Jan 2021, 09:41:43 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.